अयोध्या:पति की मौत के सदमे में पत्नी ने भी फंदे से झूल मौत को लगाया गले,बच्चे हो गए अनाथ

अयोध्या ! डेढ़ माह पहले सूरत में हुई रेल दुर्घटना में पति की मौत के सदमे को लेकर अवसाद ग्रस्त महिला ने अपने घर में कमरे के अंदर गले में साड़ी का फंदा डाल कर अपनी जीवन ली समाप्त कर ली।जिसके कारण तीन अबोध बच्चों के सर से माता पिता का साया समाप्त हो गया।
खण्डासा थाना क्षेत्र के कोटिया पूरे सुगंध निवासी शिवशंकर शुक्ल 28 वर्ष की 22 मई को सूरत शहर में रेल से कट कर मौत हो गई थी वह गर्मी की छुट्टी पर घर आ रहा था और मृत्यु के थोड़ी देर पहले फोन पर परिवार से बात भी की थी लेकिन घर पहुंचने के पहले ही पैर फिसल जाने के कारण रेल के नीचे आने से उसकी मौत हो गई जिसके कारण उसकी पत्नी किरन 25 वर्ष अवसाद में रहने लगी पति के मौत के बाद गुमसुम रहने वाली किरन ने रविवार 7जुलाई को दिन में तीन बजे के लगभग अपने कमरे में कुंडा डालकर साड़ी से गले में फंदा डाल कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली मृतिका के तीन छोटे छोटे बच्चे हैं जिसमें सबसे छोटा बच्चा अमन अभी चार माह का ही है नैंसी 6 और प्रतिज्ञा 4वर्षकी है इन बच्चों को नहीं पता कि उसके सर से मां बाप का सहारा उठ चुका है।मृतिका के पिता शिव भषण मिश्रा निवासी करना जगदीशपुर अमेठी बच्चों को साथ ले जाने की बात करते हुए फुट फुटकर रोने लगते हैं तो वही मृतिका के ससुर राजेश शुक्ल भी बच्चों की देखभाल की बात पर सिसकियां भरते हुए ईश्वर पर सब छोडने की बात करते हैं। घटना के बाद पूरे गाँव में मातमी सन्नाटा पसरा है और लोग सदमे में है मृतिका के मायके के लोग भी पहुँच चुके हैं और वे भी अवसाद से मौत की बात कर रहे हैं मृतिका के पति तीन भाई थे और सब मेहनत मजदूरी से परिवार चलाते हैं।थानाध्यक्ष खण्डासा आर के राणा ने बताया कि शव का पंचनामा कराया जा रहा है। किसी भी पक्ष से कोई तहरीर अब तक नहीं मिली है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News