जुर्म:जिम ट्रेनर से इश्क़, पति की दी सुपारी… हरियाणा में बेरहम पत्नी की खौफनाक करतूत

0

पानीपत: हरियाणा के पानीपत जिले की परमहंस कुटिया कॉलोनी में दिसम्बर 2021 में हुई विनोद बराड़ा की हत्या की वारदात को पुलिस ने सुलझा लिया है। मृतक विनोद बराड़ा की पत्नी निधी ने प्रेम प्रंसग के चलते अपने प्रेमी के साथ मिलकर साजिश रच पंजाब के भटिंडा निवासी युवक से विनोद का पहले एक्सीडेंट करवाया। एक्सीडेंट में विनोद बराड़ा की मौत नहीं हुई तो उक्त युवक से ढ़ाई महिने बाद पिस्तौल से गोली मरवाकर विनोद की हत्या करवाई थी। पुलिस ने मृतक विनोद की पत्नी आरोपी निधी और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो दोनों आरोपियों ने हत्या करवाने की उक्त वारदात को अंजाम देने बारे स्वीकारा।

निधी से काफी बातचित होनी पाई गई। पुलिस टीम ने 7 जून को आरोपी सुमित उर्फ बंटू निवासी गोहाना को सेक्टर 11/12 की मार्केट से गिरफ्तार कर पूछताछ की तो आरोपी देव सुनार से विनोद का पहले एक्सिडेंट और बाद में गोली मरवाकर हत्या करवाने की वारदात को अंजाम देने बारे स्वीकारा।

जिम में युवक से हुई दोस्ती

गहनता से पूछताछ करने के लिए पुलिस ने 7 जून को आरोपी समित उर्फ बंटू को माननीय न्यायालय में पेश किया जहा से उसे 7 दिन के पुलिस रिमांड पर हासिल किया। रिमांड के दौरान पूछताछ में आरोपी सुमित उर्फ बंटू ने पुलिस को बताया वह वर्ष 2021 में पानीपत में एक जिम में ट्रेनिंग देता था। विनोद की पत्नी निधी भी वहा जिम करने के लिए आती थी। इसी दौरान दोनों की दोस्ती हो गई। दोनों आपस में काफी बातचित करते थे। विनोद को उन दोनों के बारे में पता चला गया तो उसकी उसके साथ एक दो बार कहासुनी भी हुई। विनोद घर पर अपनी पत्नी निधी के साथ भी झगड़ा करने लगा। बाद में उसने और निधी ने विनोद की एक्सीडेंट में हत्या करवाने की साजिश रची।


गोली मारकर की थी हत्या

पुलिस अधीक्षक अजीत सिंह शेखावत ने बताया पूछताछ में आरोपी सुमित उर्फ बंटू ने बताया वह जानकार ट्रक ड्राइवर देव सुनार उर्फ दीपक निवासी भटिंडा से मिला और उसको 10 लाख रूपये कैश और केस का सारा खर्च देने का प्रलोभन देकर वारदात को अंजाम देने के लिए तैयार किया। उसने देव सुनार को पंजाब नंबर की एक लोडिंग पिकअप गाड़ी दिलवाई। देव सुनार ने 5 अक्तूबर 2021 को विनोद को जान से मारने की नियत से उक्त गाड़ी से सीधी टक्कर मारकर विनोद का एक्सीडेंट कर दिया। एक्सीडेंट मे विनोद की मौत नही हुई तो बाद में दोनों ने पिस्तौल से विनोद को मरवाने का प्लान बनाया। देव सुनार की जेल से जमानत करवाई और उसको दौबारा से तैयार कर अवैध हथियार उपलब्ध करवा माफी मांगने के बहाने विनोद बराड़ा के घर भेजा। इसके बाद 15 दिसम्बर 2021 को देव सुनार ने घर मे घुसकर पिस्तौल से विनोद बराड़ा की गोली मारकर हत्या कर दी।


हत्या करने वाले के परिवार को दे रहे थे खर्चा

आरोपी सुमित उर्फ बंटू जेल में बंद देव सुनार के केस और घर पर परिवार का पूरा खर्च खुद दे रहा था। प्लान के अनुसार निधी मार्च 2024 में अदालत मे अपनी गवाही से मुकर गई। पुलिस अधीक्षक अजीत सिंह शेखावत ने बताया कि पुलिस ने आरोपी निधी को शुक्रवार को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो उसने सुमित उर्फ बंटू के साथ मिलकर उक्त वारदात को अंजाम देने बारे स्वीकारा। रिमांड अवधी पूरी होने पर पुलिस ने शनिवार को दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया जहा से उन्हें न्यायिक हिरासत जेल भेजा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News