बर्तन आटोमोबाइल व ज्वैलरी बाजार में छाई रौनक,दिनभर हुई खरीददारी,कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी से प्रारंभ इस पंचोत्सव पर्व का शुक्ल पक्ष के द्वितीया तिथि पर होगा समापन।

मवई ! सनातन धर्म मे वैसे तो समय समय पर पर्व व त्योहार मनाये जाते है।लेकिन कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी से प्रारंभ होकर शुक्ल पक्ष के द्वितीया तक चलने वाले पंचोत्सव पर्व का अपना अलग ही महत्व है।इसकी शुरुआत आज शुक्रवार के दिन आयुर्वेद के आदि आचार्य भगवान धन्वंतरि की जयंती के साथ ही आरम्भ हो गया है।त्योहार को लेकर चहुंओर चहल पहल तेज हो गई है।बाजार पूरी तरह दीपावली के उत्सव में रंग गया है।दीपावली से दो दिन पहले आज धनतेरस के दिन मवई क्षेत्र के लोग पूरे दिन खरीदारी में जुटे रहे।बर्तन बाजार से लेकर ऑटोमोबाइल, ज्वैलरी, गारमेंट और गिफ्ट गैलरियों में रौनक के साथ ही भारी भीड़ जमी रही।दीपोत्सव पर्व को लेकर पटरंगा मंडी रानीमऊ मवई चौराहा नेवरा उमापुर बाबाबाजार सैदपुर मियां पुरवा जखौली आदि बाजार सज गए हैं।शुक्रवार को धनतेरस के दिन लोगों ने शगुन के तौर पर बर्तनों से लेकर अन्य जरूरत के सामान खरीद रहे थे।

बाजार में छाई रही रौनक:

धनतेरस को लेकर एक ओर जहां व्यापारी और छोटे छोटे दुकानदार ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए सामान सजाए हुए थे।वहीं लोग भी पूरे दिन खरीदारी करने में जुटे रही।इस कारण बाजार में पूरी तरह रौनक छाई हुई है।पटरंगा मंडी स्थित अनुराग ऑटो सेल्स पर बाइक खरीदने वालों की भीड़ लगी रही।वही अमरनाथ व विश्वनाथ मिष्ठान भंडार लोग मिठाई चूरा आदि खरीदने वालों की भीड़ जमा रही।मवई चौराहा स्थित आशीष मोबाइल शॉप पर युवा तरह तरह की आकर्षक मोबाइल खरीदने में लगे रहे।गणेश लक्ष्मी हनुमान आदि की मूर्तियों की दुकानें भी जगह जगह बाजारों में लगी रही।घरों को जगमग करने के लिए पप्पू इलेक्ट्रानिक की दुकान पर टंगे चाइनीज झालर भी लोगों को बरबस अपनी ओर आकर्षित कर रहे थे।बाजार में तांबे व पीतल के बर्तनों की खरीद के साथ ही आज के दिन इंडक्शन बर्तनों की भी मांग बढ़ी हुई थी।

आकर्षित कर रहे झालर:

बाजार में जगह-जगह झालर भी लोगों को आकर्षित कर रहे हैं। बिजली और रंग बिरंगे कागजों और धागों के बने तोरण बिक रहे हैं। गिफ्ट गैलरियों में आकर्षक फैंसी लाइट, क्रॉकरी, टेडी बियर, कैंडल, विभिन्न वैरायटियों के झालर आदि सजाए गए हैं।

बढ़ाई सुरक्षा:

अयोध्या फैसले व पंचोत्सव त्योहार के मद्देनजर पुलिस प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है।पटरंगा थानाध्यक्ष संतोष कुमार सिंह ने बताया सभी बीट आरक्षियों व हल्का दरोगाओं को अपने अपने क्षेत्र में तैनात किया गया।इसके अलावा वे स्वयं पूरे क्षेत्र में भ्रमण करने के साथ ही उनके मुखविर व पुलिस मित्र चौकीदार गांव गांव में निगरानी बनाए हुए है।बाजार में भी सुरक्षा व्यवस्था को लेकर चौकसी बरती जा रही है।जाम की स्थिति से निपटने के लिए भी व्यापक प्रबंध किए गए हैं।

धन्वंतरि का महात्म्य

धन्वंतरि जयंती को लेकर आचार्य अर्जुन तिवारी ने बताया कि पौराणिक ग्रंथों में यह वर्णन मिलता है की धनवंतरी जी का प्राकट्य हाथ में कलश लेकर के हुआ है।इसीलिए बर्तन खरीदने की परंपरा बनी।प्राय: लोग आज के दिन चांदी खरीदते हैं।चांदी खरीदने के पीछे रहस्य यह है की चांदी चंद्रमा का प्रतीक है इसे घर लाने से घर में सुख एवं शांति सौम्यता एवं शीतलता विद्यमान रहती है।लोग इस दिन ही दीपावली की रात लक्ष्मी गणेश की पूजा हेतु मूर्ति भी खरीदते हैं।इस दिन प्रत्येक मनुष्य को अपना शरीर निरोगी रखने की कामना से भगवान धन्वंतरि का पूजन एवं अकालमृत्यु से बचने के लिए यमराज के लिए दीपदान अवश्य करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News