यूपी : हवालात में बंद युवक को छुड़ाने के लिए महिलाओं ने हमला बोल पुलिस की फाड़ी वर्दी,पुलिस ने भांजी लाठी

0

बागपत ! दोघट थाने में घुसकर पुलिस पर हमला करने का मामला सामने आया है। पुलिस चोरी के मामले में एक युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही थी। जहां युवक के परिजनों समेत अनेक ग्रामीणों ने एकत्र होकर थाने पर धावा बोल दिया तथा पुलिस के साथ मारपीट कर हिरासत में लिए युवक को छुड़ाने का प्रयास किया। इस दौरान करीब दो घंटों तक थाने में हंगामे की स्थिति बनी रही। महिलाओं ने पुलिस की वर्दी तक नोच डाली। लेकिन बाद में पुलिस ने बल प्रयोग कर भीड़ को थाने से खदेड़ा तथा महिला समेत दो के खिलाफ शांतिभंग की कार्रवाई की है।
जानकारी के अनुसार, दोघट थाने क्षेत्र से तीन-चार दिन पूर्व बाइक चोरी हुई थी। इस मुकदमें में विवेचना के दौरान अमित पुत्र तेजू निवासी दोघट का नाम प्रकाश में आया था। सोमवार की सुबह दोघट थाने के एसएसआई सुशील कुमार, एसआई आनंदप्रकाश, रामबीर सिंह और चार महिला व पुरूष कांस्टेबल ने युवक को बाइक चोरी के मामले में उठाने उसके घर पर पहुंचे और युवक को कस्टडी में ले लिया तथा थाने के लिए चलने लगी। इसी दौरान घर की महिलाओं ने शोर शराबा करते हुए पुलिस के साथ गाली-गलौज कर दी। इतना ही नहीं, पुलिस के साथ हाथपाई भी की गई। पुलिस किसी तरह से महिलाओं से पीछा छुड़ाकर युवक को लेकर दोघट थाना पहुंची और उसे हवालात में बंद कर दिया। इसके थोड़ी ही देर बाद युवक के घर-पड़ोस की अनेक महिलाएं और ग्रामीण भी दोघट थाने पहुंच गए तथा पुलिस पर हमला कर दिया तथा हवालात का गेट तोड़कर युवक को छुड़ाने का प्रयास किया। इस दौरान महिलाओं और पुलिस के बीच हाथापाई भी हुई। महिलाओं ने पुलिस वर्दी तक नोंच डाली तथा गालियां देते हुए पुलिस पर हावी हो गई। हमले के दौरान महिला कांस्टेबल हेमलता व योगेश भी चोटिल हुई। इस दौरान थाने में करीब दो घंटों तक हंगामा होता रहा। पुलिस ने महिलाओं को काफी समझाने का भी प्रयास किया, लेकिन वह युवक को साथ ले जाने की जिद पर अडिंग रही। बाद में दोघट पुलिस ने बल प्रयोग किया तथा लाठियां भांजकर हंगामा कर रही महिलाओं व अन्य ग्रामीणों को थाने से बाहर खदेड़ा। इस मामले में पुलिस ने युवक की भाभी प्रीति समेत दो का शांतिभंग में चालान किया है।

कई बार जंग के अखाड़े बन चुके थाने कोतवाली

बागपत। पुलिस पर हमला करने के मामले में बागपत में आम हो चुके है। इससे पूर्व भी कई बार पुलिसकर्मियों पर जानलेवा हमला किया जा चुका है। पिछले साल भी निवाड़ा गांव के ग्रामीणों ने देह व्यापार का आरोप लगाकर थाने में महिला की हत्या का प्रयास किया था। जहां पुलिस ने उनका विरोध किया तो भीड़ ने पुलिस के साथ मारपीट भी की तथा कंट्रोल रूम का दरवाजा तोड़ने का प्रयास किया। इस हमले में बागपत कोतवाली पुलिस भीड़ के सामने बोनी नजर आई थी। हमले में बागपत पुलिस ने 50 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की थी। लेकिन आज तक इस मामले में किसी की गिरफ्तार नहीं हो सकी है। उधर, पुलिस स्वयं अपने स्तर से ढिलाई बरतकर आरोपियों को हाईकोर्ट से बचने का रास्ता बताते हुए उन्हे गिरफ्तारी पर स्टे लगवाने के लिए भरपूर समय परोसती है।

सोशल मीडिया पर वायरल हुई वीडियो।

बागपत। थाने में महिलाओं व पुलिस के बीच हुई हाथापाई का वीडियो सोमवार की शाम होते होते सोशल मीडिया पर जंगल की आग की तरह फैल गई। वीडियो में महिलाओं व पुलिस के बीच होता संघर्ष साफ जाहिर कर रहा है कि दोघट पुलिस भीड़ को काबू करने में असमर्थ है। इस वीडियो के वायरल होने से जहां पुलिस का मनोबल टूटता नजर आ रहा है, वहीं, क्षेत्र में भी खाकी के संबंध में तरह-तरह की चर्चाएं की जा रही है।

भीड़ बेकाबू हुई, तो भांजी लाठियां।

थाने में महिलाएं बेकाबू होती जा रही थी। उन्होंने पुलिस कर्मियों से हाथापाई करते हुए आरोपी को हवालात से छुड़़ाने का प्रयास किया। महिलाओं द्वारा हवालात पर हमला बोलने पर पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा। पुलिस ने लाठी भांजते हुए महिलाओं व अन्य लोगों को थाने से बाहर खदेड़ा था। जबकि पुलिस का मकसद सिर्फ हिरासत में लिए युवक से पूछताछ करना था। इस मामले में हिरासत में लिए युवक की भाभी समेत दो का शांतिभंग में चालान किया गया है।

रमेश सिंह सिद्धू, एसओ दोघट थाना, बागपत।

बाइक चोरी के मामले में युवक पर शक जाहिर किया गया था, लेकिन उसके उठाकर थाने लाने पर घर की महिलाएं आक्रोशित हो गई। उन्होंने थाने में हंगामा किया था, जबकि हाथापाई की बात निराधार है। महिला समेत दो का शांतिभंग में चालान किया गया है।

अनिल कुमार सिंह- अपर पुलिस अधीक्षक, बागपत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Content is protected !! © KKC News