अयोध्या : बिरजन सिंह हत्याकांड : कड़ियों को जोड़ हत्या की वजह तलाशने में जुटी पुलिस की स्पेशल टीमें

मवई(अयोध्या) ! हिस्ट्रीशीटर बिरजन सिंह की हत्या की वजह तलाशने के लिए पुलिस की आधा दर्जन स्पेशल टीमें लगाई गई हैं। वहीं ग्रामीणों व अन्य सूत्रधार के जरिए पुलिस अपनी जांच को आगे की दिशा देने में जुटी है।एसएसपी जोगेंद्र सिंह स्वयं भी नजर रखे हुए हैं।
मवई क्षेत्र के बिरजन की हत्या मामले में पुलिस को जानकारी हुई है कि जिन चार आरोपियों को नामजद किया गया है। उसमें दो आरोपी जो कि मृतक के गांव बघेड़ी के ही निवासी हैं, से डेढ़ माह पहले तालगांव में झड़प हुई थी। तब एक-दूसरे को देख लेने की धमकी दी गई थी। पुलिस के सूत्रों के मुताबिक बिरजन सिंह का तालगांव के एक परिवार के यहां अक्सर आना-जाना लगा रहता था। इसके पीछे चर्चा यह भी है कि प्रकरण आशनाई का भी हो सकता है। पुलिस इस बिन्दु पर भी जांच कर रही है कि अपने चार-छह साथियों के साथ हमेशा चार पहिया वाहन से घर से निकलने वाला बिरजन सिंह के बुधवार को घर से अकेले और बाइक से निकलने के पीछे वजह क्या है। एक तथ्य यह सामने आया है कि कुछ दिन पहले बिरजन और उन आरोपियों में विवाद यहां तक पहुंच गया था कि बिरजन ने अपनी कार से नीचे खींचकर उतार दिया था। उधर तालगांव के जिस परिवार में बिरजन सिंह का अक्सर आना-जाना लगा रहता था। इससे भी बिरजन के खिलाफ लोगों में नाराजगी व्याप्त थी। एकाद बार इसे लेकर भी कहासुनी हुई, पर मामला शांत हो गया था। पुलिस को जानकारी यह भी मिली है कि पैसे के लेनदेन का भी मामला क्षेत्र के कुछ लोगों से बिरजन का चल रहा था। ऐसे तमाम बिंदुओं को ध्यान में रखकर पुलिस की स्पेशल टीमें लरी पर लरी भिड़ाने में जुटी हैं। सीओ धर्मेंद्र कुमार यादव ने बताया कि कई टीमें लगी हैं। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए संभावित ठिकानों पर दबिश दी जा रही है।

पुलिस के अलावा परिवहन विभाग भी दर्ज कराएगा केस

मवई। बिरजन की हत्या के बाद कुछ छिटपुट नेताओं ने इसे उग्र रूप देने का नाकाम प्रयास किया। मवई चौराहे पर नेशनल हाईवे जाम करने के साथ ही रोडवेज बसों में आगजनी करने के मामले में कड़ा रूख अख्तियार करने की तैयारी की है। इसके लिए एसएसपी जोगेंद्र कुमार ने मातहत पुलिस अफसरों को निर्देश दिए हैं। हाईवे जाम करने व बसों को आग हवाले करने के मामले में पुलिस खुद केस दर्ज कराएगी ही। साथ ही परिवहन विभाग भी मुकदमा दर्ज कराएगा। एआरएम ने इसके संकेत दे दिए हैं। इसके पीछे कारण यह भी है कि रोडवेज बसों से यात्रा कर रही महिला यात्रियों के साथ मारपीट व छेड़छाड़ करने का आरोप है। उधर उपद्रव की इस घटना में शामिल लोगों की पहचान के लिए भी पुलिस की टीमों को एलर्ट कर दिया गया है। टीम वीडियो क्लिप का सहारा ले रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News