यूपी : पूर्व विधायक प्रत्याशी की हत्या, उग्र भीड़ ने हाईवे जाम कर बसों को किया आग के हवाले

मृतक बृजेश कुमार उर्फ विरजन सिंह की फाइल फोटो

मवई(अयोध्या) : उत्तर प्रदेश के अयोध्या जिले में मवई थाना क्षेत्र के बघेडी गांव निवासी युवक बृजेश उर्फ विरजन सिंह की हत्या के बाद जमकर बवाल हुआ। आक्रोशित समर्थकों ने हंगामा कर हुए राष्ट्रीय राजमार्ग जाम कर बसों को आग के हवाले कर दिया। लोगो का आरोप है कि पुलिस ने परिजनों को बिना दिखाए शव सीधे पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया।
बता दें कि विरजन सिंह लोक जनशक्ति पार्टी से विधानसभा चुनाव लड़े थे और वर्तमान समय मे वह दो जिला पंचायत सदस्य के प्रतिनिधि है। बवाल के चलते लगभग दो घंटे तक हाइवे जाम रहा। भारी पुलिस बल के साथ पहुचे एसडीएम व सीओ की मौजूदगी में पुलिस ने उग्र भीड़ पर लाठी चार्ज कर मौके से खदेड़ा और फायर बिग्रेड मौके पर आग को काबू करने में जुटी।सूत्रों का कहना है कि अगर समय पर पुलिस प्रशासन हरकत में आता तो इतनी बड़ी घटना टल सकती थी।

जानकारी के मुताबिक मवई थाना क्षेत्र के ग्राम बगेड़ी गांव निवासी बृजेश सिंह उर्फ़ विरजन सिंह (30)पुत्र सर्वेश सिंह बुधवार को तालगांव जाने की बात कहकर घर से बाइक से निकले थे।देर शाम 8 बजे उन्होंने अपनी मां और भाई राजू सिंह से फोन पर बात भी की थी।गुरुवार की सुबह खून से लथपथ उनका शव तालगांव के निकट सड़क किनारे बाग से बरामद हुआ।मौत की सूचना मिलते ही घर में कोहराम मच गया।शव की दशा देखकर यह अनुमान लगाया जा रहा है कि हत्यारों ने सबसे पहले बृजेश सिंह को गोली मारी है।उसके बाद यूकेलिप्टस के डंडे से सिर पर ताबड़तोड़ प्रहार कर उसे मौत के घाट उतार दिया।

चार लोगों के विरुद्ध दर्ज हुआ मुकदमा।

मवई थाना क्षेत्र के बघेडी गांव निवासी बृजेश कुमार उर्फ बिरजन सिंह के हत्या के मामले में पुलिस ने चार लोगों के विरुद्ध हत्या का मामला दर्ज किया है।सीओ धर्मेन्द्र सिंह ने बताया कि मृतक बिरजन के भाई राजू सिंह पुत्र सर्वेश सिंह की तहरीर में आरोपी वासुदेव उमेश द्वारिका शिव प्रसाद के विरुद्ध धारा 302,307 का मुकदमा दर्ज किया गया है।इन्होंने बताया आरोपियों की तलाश की जा रही है।

एसएसपी डीएम ने घटनास्थल का किया निरीक्षण

बिरजन सिंह की हत्या के बाद राजमार्ग पर उपद्रव की सूचना मिलने के बाद एसएसपी जोगेंद्र सिंह व डीएम डा0 अनुझ झा तत्काल मवई पहुंचे।और यातायात को बहाल कराते हुए तत्काल मृतक के गांव पहुंचे।यहां से एसएसपी ने सीओ व एसडीएम के साथ घटना स्थल का निरीक्षण किया।एसएसपी जोगेंद्र सिंह ने बताया मृतक बिरजन हिस्ट्रीशीटर अपराधी था।जिसके विरुद्ध जनपद व गैरजनपद के विभिन्न थानों में 13 मुकदमे दर्ज है।जिसमे से पांच मुकदमा मवई थाने दो रुदौली दो खंडासा एक पटरंगा में भी दर्ज है।शेष चार मुकदमे गैरजनपद में दर्ज है।इस दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष अवधेश पांडेय,अयोध्या महापौर ऋषिकेश उपाध्याय,कृष्ण कुमार उर्फ खुन्नू पांडेय भी उपद्रव स्थल पर पहुंचे।

भारी पुलिस बल के साथ गांव पहुंचा शव को देखने उमड़ पड़े लोग

पोस्मार्टम के बाद प्रशासन ने कड़ी सुरक्षा के साथ मृतक बिरजन सिंह के शव को लेकर उनके गांव बघेडी पहुंचा।जहाँ बिरजन को अंतिम बार देखने वालों का तांता लग गया।शव पहुंचते ही परिजनों नात रिस्तेदारों व समर्थक सब दौड़ पड़े।लोगों का रो रोकर बुरा हाल था।चारों ओर लोगों के करुण क्रंदन से पूरा वातावरण शोक में डूब गया।इस घटना पर रुदौली विधायक रामचंद्र यादव ने गहरा दुख व्यक्त किया।वही घटना की सूचना मिलते ही समाजसेवी विनोद सिंह मृतक के घर व घटनास्थल पर पहुंचकर घटना की पूरी जानकारी ली।तत्पश्चात घटना पर दुख प्रकट करते हुए मृतक के परिजनों को ढांढस बंधाया।वही घटना की सूचना पर समाजसेवी राजन पांडेय भी गांव पहुंच मृतक के परिजनों को ढांढस बंधाया।रुदौली के ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि सर्वजीत सिंह व मवई ब्लॉक प्रमुख राजीव तिवारी ने भी घटना पर दुख प्रकट किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News