BJP नेता हत्याकांड: बीजेपी कार्यकर्ताओं ने SSP लखनऊ को कहा ‘कुत्ता’


बीते दिन राजधानी बीजेनी नेता प्रत्युषमणि त्रिपाठी की चाकू गोदकर हत्या कर दी गई। इसके बाद भाजपाईयों में जमकर आक्रोश है। बताया जा रहा है कि भाजपा के कार्यकर्ताओं ने डीएम कौशल राज का घेराव कर नारेबाजी करते हुए एसएसपी कलानिधि नैथानी को हटाए जाने की मांग की व ट्रामा सेंटर पर जमकर हंगामा काटा। साथ ही लोगों ने एसएसपी को कुत्ता कहकर भी नारे लगाएं।
बीते दिन बीजेपी नेता प्रत्यूष त्रिपाठी की हत्या के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया है। कहा जा रहा है कि प्रत्युषमनी के ऊपर जानलेवा हमले की एफआईआर दर्ज होने पर भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की थी। मामले की जानकारी मिलते ही इंस्पेक्टर कैसरबाग धीरेंद्र कुमार कुशवाह को निलंबित कर दिया गया है। इस बात की पुष्टि आईजी सुजीत पांडे ने की है। जानकारी के मुताबिक पांच टीमें आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही हैं।

इन दिनों राजधानी में अपराध लगातार बढ़ता जा रहा है। जिसके बाद कहा जा रहा है कि एसएसपी कलानिधि नैथानी से राजधानी की कमान संभल नहीं रही है। इसीलिए अब आईजी सुजीत पांडे ने कमान संभालनी शुरू कर दी है।

क्या है मामला
अमीनाबाद के गगनी तालाब के रहने वाले भायुमो के प्रदेश उपाधायक्ष प्रत्युषमणि त्रिपाठी सोमवार देर शाम बाइक से बादशाहनगर गये थे जहां से घर लौटते समय हमलावरों ने चाकू से हमला कर उन्हे लहूलुहान कर दिया और फरार हो गये। मौके पर पहुंची पुलिस ने उन्हे ट्रामा सेंटर पहुंचाया जहां इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गयी। जिसके बाद गुस्साए भाजपाईयों ने जमकर हंगामा किया और डीएम एसएसपी का घेराव भी किया।

विजिटिंग कार्ड से हुई नेता की पहचान

प्रत्युष की जेब से मिले विजिटिंग कार्ड से पुलिस ने पहचान कर उनके घर सूचना दी। भाजपा नेता की हत्या की खबर फैलते बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता ट्रामा सेंटर पहुंच गये और हंगामा शुरू कर दिया। वहां कई थानों की पुलिस के साथ ही पीएसी को तैनात किया गया। डीएम कौशल राज का ट्रामा सेंटर से लेकर उनके आवास तक घेराव किरा गया। भाजपा कार्यकर्ताओं ने हमलावरों की तत्काल गिरफ्तारी व एसएसपी को हटाए जाने की मांग की।

सामने आई कुछ ऐसी भी बातें

सीओ कैसरबाग अमित राय के अनुसार 25 नवबंर को पड़ोस की युवती से कथित छेड़छाड़ को लेकर प्रत्युष की युवती के भाइयों से कहासुनी हुई थी और युवती ने उनके खिलाफ छेड़खानी की रिपोर्ट दर्ज करायी थी।जबकि कहा जा रहा है कि युवती ने फेसबुक पर प्रत्युष को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी थी, जिसे स्वीकार न किए जाने पर युवती ने छेड़छाड़ की कहानी गढ़ प्रत्युष पर भाइयों से हमला कराया।

भाजपा कार्यकर्ताओं में इस बात को लेकर गुस्सा था कि अगर पुलिस ने उसी समय पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कर कार्यवाई की होती तो भाजपा नेता की हत्या न होती। प्रत्युष की मौत से पत्नी सीमा व बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल है। भाजपा कार्यकर्ताओं में भारी रोष व क्षेत्र में तनाव को देखते हुए गगनी तालाब में पुलिस व पीएसी को तैनात किया गया है। हमलावरों की तलाश में पुलिस की कई टीमे लगाई गयीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News