डाका डालने से पहले ही धरे गए दस बदमाश,डकैती की वारदात से पहले आईजी टीम ने दबोचे आरोपित

0

पुरवा कस्बा के एक भट्ठा मालिक के घर डालने आए थे डाका,घेराबंदी कर पुलिस ने सुपारी किलर समेत दस को पकड़ा

उन्नाव ! पुरवा कस्बा स्थित एक भट्ठा मालिक के घर नौकर की मुखबिरी पर रायबरेली से आए सुपारी किलर समेत दस आरोपितों को शुक्लागंज व आईजी क्राइम ब्रांच की टीम ने शनिवार रात प्रखर महाराज स्कूल मार्ग पर तिराहा गंगा बैराज रोड पर घेराबंदी कर पकड़ा है। हालांकि सूत्रों की मानें तो एक बार फिर आरोपितों की धरपकड़ में खेल है।वर्कशॉप लूटकांड व सोना चोरी का खुलासा न कर सकी खाकी अब डकैती जैसी घटनाओं पर पहले से ही संजीदा नजर आने लगी है। पुलिस लाइन सभागार में एसपी हरीश कुमार के मुताबिक पकड़े गए आरोपित पुरवा कोतवाली में डकैती डालने आए थे। उन्होंने बताया कि आरोपित वारदात को अंजाम देने से पहले अपने सभी मोबाइल गमछे में लपेट कर रख देते थे और किसी दूसरे का एक मोबाइल घटना के समय प्रयोग करते थे। गमछे में रखे मोबाइल फोन पर किसी साथी से बराबर मिस्ड कॉल करवाते थे, जिससे पकडे़ जाने पर लोकेशन दूसरी जगह मिले।बताया कि दो आरोपित कल्लू व मोहम्मद शानू शातिर अपराधी हैं। वारदात के समय कल्लू ही गोली चलाता था। पकड़े गए आरोपितों ने नवाबगंज में सर्राफ कारोबारी सतीश सोनी पर लूट के इरादे से गोली चलाने की बात कबूल की। वारदात के समय कल्लू के साथी सलाउद्दीन का पैर फ्रैक्चर हो गया था। रायबरेली में इलाज कराने के बाद वह कोर्ट में हाजिर हो गया था। रायबरेली थाना बछरावां के रिन्कू की 40 हजार की सुपारी लेकर हत्या की बात भी स्वीकार की है। सभी आरोपित रायबरेली, बाराबंकी, लखनऊ और कानपुर और उन्नाव में लूट की वारदातों को अंजाम देते थे।

धरपकड़ में चल रहा वसूली का खेल

गठित टीम ने शहर सीमा से जुड़े एक थाने को काफी मुफीद स्थल बना रखा है। उसकी भी एक वजह है। दो दर्जन आरोपितों को पकड़ो और एक दर्जन एसओ के सुपुर्द कर खुलासा करवा दो। अन्य पकड़े गए आरोपितों से साठगांठ कर वसूली का खेल जारी है। पकड़े गए आरोपितों को जिले के अन्य थाना एसओ के सुपुर्द नहीं किया जाता। क्योंकि वहां लेनदेन व पकड़ो और छोड़ो का खेल जो नहीं चलने वाला है।

नंबर दस का अजब संयोग

दस आरोपित और दस सामान की बरामदगी करने वाली टीम में दस ही पुलिस कर्मी शामिल रहे। रायबरेली के थाना हरचंद्रपुर के दर्जिनपुरवा गांव निवासी कल्लू दर्जी उर्फ शहीद और पूरे गनेशी का पुरवा शमशेरगंज निवासी ओम प्रकाश उर्फ बाबा, थाना बछरावां के कमली का तालाब निवासी मोनू उर्फ अतीक, रसूलपुर गांव निवासी दीपक लोहार, अघोरा गांव निवासी अनूप सिंह, महाराजगंज रोड पटेल नगर निवासी शानू उर्फ मोहम्मद इरशाद तथा महाराजगंज रोड पानी की टंकी के सामने रहने वाला मो. सोनू उर्फ शानू उर्फ टीबीसीडी और कोतवाली के तिलियाकोट गांव निवासी मोहम्मद सलमान उर्फ शोनू, थाना मिल एरिया के प्रगति पुरम कॉलोनी निवासी प्रमोद गोस्वामी उर्फ सोनू व मलिकामऊ कॉलोनी निवासी महेश गुप्त को पकड़ा गया है। सुपारी किलर कल्लू पर 15 और शानू उर्फ मोहम्मद इरशाद पर पांच केस पहले से दर्ज हैं।आरोपितों के पास से माल की बरामदगी भी दस के अंक में हुई है, जिसमें 5 अदद तमंचा 315 बोर, एक अदद तमंचा बारह बोर व पांच कारतूस, एक पिस्टल 32 बोर व तीन कारतूस, दो अदद खोखा कारतूस 315 बोर, दो कार और दो बिना नंबर की बाइक और तीन बाइकें बरामद हुई हैं।आरोपितों को पकड़ने वाली टीम में एसओ गंगाघाट हर प्रसाद अहिरवार, दरोगा रवीन्द्र सिंह भदौरिया, कांस्टेबल अनिल कुमार और सुनील कुमार और आईजी क्राइम टीम में इंस्पेक्टर सुधीर त्यागी, दरोगा एनुद्दीन, कांस्टेबल में रोहित, मोहम्मद समीम, आनंद मणि सिंह ओर राम निवास मौजूद रहे। आईजी रेंज से 25 हजार और एसपी की ओर से 10 हजार इनाम देने की घोषणा की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Content is protected !! © KKC News