बेसहारा परिवार के खेवनहार बने समाजसेवी,प्रकाश पर्व की पूर्व संध्या पर सड़क दुर्घटना में असमय काल के गाल में समा गए थे पाटनदीन।

0

मुखिया के मृत्यु के बाद वेसहारा हो गया था ये गरीब परिवार,मवई थाना क्षेत्र के बघेडी गांव का मामला।

मवई(अयोध्या)।सड़क दुर्घटना में गरीब परिवार के मुखिया की असमय मृत्यु के बाद चार बच्चों के सिर से जब पिता का साया उठ गया।तो वेसहारा हुए परिवार के लिये समाजसेवी विनोद सिंह सहारा बनते हुए डूबते परिवार के खेवनहार बन गए।और परिवार को संभालने का जिम्मा खुद ले लिया है।

बता दे कि प्रकाश पर्व दीपावली के एक दिन पूर्व मवई थाना क्षेत्र के बघेढ़ी गांव में सड़क दुर्घटना में दो युवाओ की मौत हो गई थी।इस दर्दनाक हादसे से खुशी के पर्व दीपावली पर भी पूरे गांव में मातम छाया था।घटना की जानकारी जैसे ही समाजसेवी विनोद सिंह को हुई तो उन्होंने अपने टीम के सदस्य सन्दीप यादव धर्मेंद्र सिंह मिंटू जगप्रसाद आदि के साथ तत्काल बघेडी गांव पहुच कर दोनों परिवारों की आर्थिक मदद करते हुए हर सम्भव मदद का आश्वासन दिया था।मृतक पाटनदीन घर पहुचने पर विधवा पत्नी और चार छोटे छोटे बच्चों को देखने व परिवार की माली हालत को देखते ही उन्हें दुख हुआ।गांव वालों ने बताया कि मृतक पाटनदीन मेहनत मजदूरी करके किसी तरह परिवार चलाता था वह परिवार का एक मात्र कमाऊ सदस्य था एक विस्वा खेती भी नही है जिससे अब परिवार का गुजर बसर हो सके।ये जानकारी होने पर समाजसेवी ने उक्त बेवा रामकली को अपने खर्च से 1500 रुपये प्रतिमाह पेंशन देने के साथ साथ चार बच्चों की पढ़ाई का पूरा जिम्मा अपने ऊपर ले लिया।साथ ही अपने सहयोगियों को अविलंब खाता खुलवाने में मदद करने का निर्देश दिया और मंगलवार को समाजसेवी टीम में पूर्व जिला पंचायत सदस्य जग प्रसाद यादव,नान्ह महाराज,धर्मेन्द्र सिंह मिंटू ,सीताराम यादव व महेश रावत को गांव भेजकर 20 हजार रुपये की एनएससी गांव के निराश्रित महिला को सौपा।गांव के संदीप यादव ने बताया कि वादा के मुताबिक समाजसेवी ने मंगलवार को पीड़ित परिवार के बच्चों के भरण पोषण हेतु 20 हजार रुपए की धनराशि विवाह के लिए पोस्ट आफिस मीरममऊ में फिक्स किया है जो बच्चियों की शादी के समय अतिरिक्त धन के साथ वापस मिलेगा।समाजसेवी विनोद सिंह ने बताया कि गरीबो मजबूरों और बेसहारा की हरसंभव मदद का प्रयास हमेशा किया जाता है।उन्होंने कहा कि बेसहारा का मददगार हर उस इंसान को बनाना चाहिए जिसमें तनिक भी इंसानियत नाम की कोई चीज है।उन्होंने कहा मेरे शरीर मे जब तक सांस रहेगी तब तक लोगो की मदद करता रहूंगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Content is protected !! © KKC News