मेरठ: अपराधी पकड़ने गयी को पुलिस बंधक बनाकर पीटा, अपराधी इमरान के बचाव में परिजनों ने की जमकर पत्थरबाजी

मेरठ : पुलिस को डकैती की घटना में वांछित अपराधी को पकड़ना महंगा पड़ गया. अपराधी को पकड़ने गयी पुलिस पर अपराधी के परिजनों ने हमला बोल दिया. किसी तरह जान बचाकर पुलिस वांछित को पकड़ लायी. वहीं आधा घंटे बाद दरोगा जीप लेकर पहुंचे तो भीड़ ने उनको बंधक बना लिया. इस दौरान दारोगा से मारपीट की गयी और अपराधी के बचाव में जमकर पत्थरबाजी हुई. बाद में सीओ फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली
दरअसल लिसाड़ीगेट के फतेहउल्लापुर में डेढ़ माह पहले बदमाशों ने सपा नेता आदिल सिद्दीकी की बहन के घर डकैती डाली थी. भीड़ ने तीन बदमाशों को घर में बंधक बना लिया था. पुलिस ने तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया था. वहीं तीन आरोपी फरार थे. बुधवार शाम लिसाड़ीगेट पुलिस दो बाइकों से समर गार्डन 10 फुटा रोड पर पहुंची. पुलिसकर्मी सादे कपड़ों में थे. पुलिस ने डकैती में वांछित इमरान कालिया उर्फ टैक्टर पुत्र महरबान को घर से उठाया तो उसके परिजनों ने हंगामा कर दिया. महिलाओं ने छत पर चढ़कर शोर मचा दिया. इस बीच पुलिसकर्मी एक बाइक पर इमरान को लेकर निकल गए

इसके बाद पुलिसकर्मियों ने घटना की जानकारी दरोगा मुकेश कुमार को दी. दरोगा जीप लेकर मौके पर पहुंचे और सिपाहियों से कहा कि बुलेट लेकर चलो. इस बीच भीड़ ने पुलिस को बंधक बनाकर मारपीट कर दी. छत पर चढ़कर महिलाओं ने पत्थर बरसा दिए. एक दरोगा से मारपीट की गई. इमरान की मां शकीला ने कहा कि पुलिस ने घर में तोड़फोड़ कर घर में रखे दो लाख रुपये लूट लिए. महिला का आरोप है कि पुलिस इमरान को मुठभेड़ में घायल दिखाना चाहती थी. बाद में पुलिस ने सख्ती कर खदेड़ दिया

इमरान के भाई फरमान पर दर्ज हैं चार दर्जन से ज्यादा मुकदमे

वहीँ इस पूरे मामले पर सीओ कोतवाली दिनेश शुक्ला का कहना है कि बदमाश इमरान का भाई फरमान पर भी चार दर्जन से ज्यादा मुकदमे मेरठ जनपद के विभिन्न थानों में दर्ज हैं. लिसाड़ी गेट क्षेत्र में 11 माह पूर्व पड़ी डकैती में भी पुलिस को फरमान की तलाश थी. पूर्व में हुई मुठभेड़ में फरमान को गिरफ्तार किया गया था, जो कि जेल में है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News