फिर नहर बहता दिखा नवविवाहिता का अर्धनग्न शव,पटरंगा थाना क्षेत्र में बहती रही ये लाश और पुलिस को भनक तक नही

0

नहर में दिन भर फंसी लाश के मामले में पहले भी संवेदनहीनता बरत चुकी है यहां की पुलिस।

मवई(फैजाबाद) ! एक बार फिर नहर में बहता हुआ दिखा एक अर्धनग्न विवाहिता का शव।और इस बार भी यहां की पुलिस को भनक नही लग सकी। पटरंगा थाना की पुलिस कितना संजीदा रहती है अपने कर्तव्यों के प्रति।ये घटना उसकी बानगी मात्र है।
बताते चले नहर में आ रही इंसानो की लाशों को लेकर पटरंगा पुलिस अक्सर बला समझकर इसे टाल देती है।अभी हाल ही में इसी थाना क्षेत्र लालपुर गांव के समीप एक 45 वर्षीय अज्ञात मनुष्य की लाश नहर में झुके बबूल के पेड़ की डाल में फंसी हुई थी।ये लाश दिन भर फंसी रही।पर यहां की बला को टालने के लिये दिन भर अनजान बनी रही।और देर शाम वहां एक पुलिसकर्मी के पहुंचने से पहले ही उस लाश को एक अज्ञात युवक द्वारा बांस के लग्गे से आगे की ओर ढकेल दिया गया।और आज शुक्रवार की दोपहर बार एक बार पुनः एक अज्ञात नवविवाहिता की अर्धनग्न लाश शारदा सहायक नहर में बहती हुई ग्रामीणों द्वारा देखी गई।ये लाश थाना क्षेत्र के पालपुर खेदीपुर नंदूपुरवा गंजकरी मखदूमपुर पूरे पहेलवान आदि गांवों के किनारे से होते हुए नहर के पानी में बह रही थी।पर यहां की पुलिस इस घटना से अनिभिज्ञ रही।जबकि नहर में बहती हुई लाश की फोटो शोशल मीडिया पर देखते ही मवई पुलिस सक्रिय हो गई।और दुल्लापुर गांव के समीप पुलिस ने नहर में छानबीन भी की।

विवाहिता के शव के दस मिनट बाद एक साथ नहर में बहते दिखे डेढ़ दर्जन गोवंश शव।

पटरंगा थाना अन्तर्गत शारदा सहायक नहर में एक महिला के बहते शव के बाद करीब डेढ़ दर्जन गोवंश पशुओं के भी शव एक साथ बहते दिखे।ग्रामीण बताते है कि इन गोवंश के शवों को देख ऐसा प्रतीत होता है कि जैसे सारे मरे गोवंश पशुओं को किसी तस्कर ने एक साथ नहर फेंक देता है।दरअसल पटरंगा थाना क्षेत्र में नहर के किनारे स्थित एक गांव गोवध के मामले में पूरे जिले में चर्चित है।जहां कई गोवंश के बड़े तस्कर इन बेजान पशुओं की तस्करी भी करते है।जिससे यहां की पुलिस भी अनजान नही है।जिसको लेकर ग्रामीण आशंका व्यक्त कर रहे है।

शवों को ठिकाने लगाने में मुफीद साबित हो रही शारदा सहायक नहर।

आये दिन शारदा सहायक नहर में बह रही लाशों को लेकर पुलिस द्वारा बरती जा रही संवेदनहीनता से हत्यारों के हौसलें बुलंद है।यही कारण है हत्यारों के लिये शव को ठिकाने लगाने के लिये शारदा सहायक नहर मुफीद साबित हो रहा है।क्योंकि नहर में आ रही लाश को पुलिस अपने गले की फांस लेता है।इसीलिये इसे बला समझकर ऐसा घटना से अनजान ही बने रहते है।इस काम मे पटरंगा पुलिस माहिर हो चुकी है।इस बाबत मवई थानाध्यक्ष का कहना है कि नहर में लाश आने की जो भी सूचना आती है उसे निकलवाकर उसकी पहचान कराने का पूरा प्रयास किया जाता है।इसलिये नरौली ठोकर के समीप दिन में एक बार हल्के का सिपाही जरूर जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Content is protected !! © KKC News