अयोध्या : कोरोना से दुनिया मे तबाही,मुश्किल दौर में मदद को आगे आया समाजसेवी विनोद सिंह का परिवार

पीएम कोष में एक करोड़ देने के बाद सीएम राहत कोष में भी दिया पचास लाख।

फोटो-समाजसेवी के साथ युवा टीम की पुरानी फोटो

अयोध्या ! कोरोना वायरस एक ऐसी महामारी आई है जिसने हिन्दुस्तान सहित पूरी दुनिया मे तबाही मचा रखी।भारत के नागरिकों को इस महामारी से बचाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहले एक दिन के लिए जनता कर्फ्यू लगाया।फिर काल रूपी इस महामारी खिलाफ मानो जंग ही छेड़ दिया।पीएम ने पूरे देश मे 21 दिन का लॉक डाउन घोषित करते हुए लोगों को अपने अपने घरों में रहने व डिस्टेंस बनाने की अपील की।इस दरमियान जहां देश आर्थिक शंकट से गुजरने लगा वही देश के गरीब भुखमरी के कगार पर पहुंचने लगे।हालांकि कोरोना सहित आर्थिक तंगी व मुखमरी से निपटने के लिए देश के प्रधानमंत्री व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने जनता हित के लिए अपना खजाना खोल दिया।और रातों रात गरीबों के लिए कई योजनाएं तैयार कर उनके बचाव व राहत कार्य में जुट गए।इस दौरान देश प्रदेश के कई बड़े नेता अभिनेता उद्योगपति भी मैदान में उतरकर जनता व अपनी सरकार की मदद के लिए बढ़चढ़कर हिस्सा लिया।इस हिस्सेदारी में हमेसा समाज के लिए समर्पित रहने वाला अयोध्या जिले के मिल्कीपुर तहसील अन्तर्गत जमुनियामऊ गांव के निवासी उद्योगपति घराना भी सामने आया।इस घर से सर्व प्रथम समाजसेवी विनोद कुमार सिंह की अनुज वधू श्वेता सिंह जो बर्तमान में अयोध्या जिले की जिला पंचायत अध्यक्ष है।इन्होंने सर्व प्रथम एक लाख फिर 50 लाख रुपए का चेक अपने निधि डीएम को सौंपा।इसके बाद समाजसेवी विनोद सिंह के छोटे भाई विमल सिंह राजू भी गरीब असहाय लोगों की मदद में जुट गए।इस उद्योगपति घराने के लाल विनय सिंह टुनटुन जो जमुनिया गांव के प्रधान भी है।इन्होंने अपने गांव को इस महामारी से बचाने के लिए सबसे पहले सैनिट्राइज कराया।फिर ब्लीचिंग का छिड़काव कराने के साथ हर जरूरत मंद की मदद में बढ़चढ़कर हिस्सा लेने लगे।देश व प्रदेश में दिनोदिन महामारी बढ़ता देख इस घराने के बड़े बेटे अनिल सिंह व छोटे बेटे समाजसेवी विनोद सिंह ने भी सरकार व अपने क्षेत्र के गरीब व असहाय लोगों की मदद करने का निर्णय लिया।सिंह ब्रदर्स ने अभी दो दिन पूर्व प्रधानमंत्री राहत कोष में एक करोड़ रुपये का योगदान दिया तत्पश्चात मुख्यमंत्री राहत कोष कोविड-19 में भी पचास लाख रुपये आरटीजीएस के माध्यम से भेज दिया।बताते चले कि इस उद्योगपति घराने में जन्मे समाजसेवी विनोद सिंह रुदौली क्षेत्र के सामाजिक कार्यो के लिए जाने जाते है।और इस कोरोना महामारी को लेकर वे जनसहयोग हेतु गुरुवार से रुदौली क्षेत्र में जरूरतमंदो में खाद्यान्न वितरण का कार्य शुरू करा चुके है।समाजसेवी विनोद सिंह ने kkc परिवार से बात करते हुए कहा कि मेरा परिवार गांव समाज व देश के लिए सपर्पित है।जितना हो सकेगा इस शंकट की घड़ी में पूरा परिवार देश व प्रदेश के साथ है।

फोटो-समाजसेवी विनोद सिंह

जीव जंतु के साथ आमजन को मिलेगा भोजन

समाजसेवी विनोद सिंह कहते है सरकार सभी की चिंता कर रही है।लेकिन हमसे जितना हो सकेगा हम करेंगे रुदौली क्षेत्र में जीव जंतु से लेकर आमजन तक कोई भूखा न सोए इसके लिए हमने योजनाबद्ध तरीके से अपनी पूरी टीम को जिम्मेदारी सौंपी है।एक टीम जो रुदौली क्षेत्र के हर गरीब असहाय की दहलीज पर खाद्यान्न पहुंचाएगा।तो दूसरी टीम जीव जंतुओं जैसे बंदर घुमन्तू गोवंश आदि के लिए भोजन पानी की व्यवस्था करेगा।

अपनी दिवंगत मां के साथ पूजन करते समाजसेवी

एप्को कंपनी के अधिकारियों ने भी पीएम कोष में दिया 40 लाख

अयोध्या : बताते चले कि समाजसेवी विनोद सिंह जिले में सामाजिक कार्यो के लिए जाने जाते है।जो देश की चर्चित कम्पनी एपको इंफ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड में जेएमडी के पद पर तैनात है।जबकि इनके बड़े भाई अनिल सिंह इस कंपनी के एमडी है।जिनके आवाहन पर कंपनी के बड़े अधिकारियों ने अपनी एक माह की सैलरी सरकार को भेजने की सोंची।सभी अधिकारियों ने मिलकर 40 लाख रुपये का संकलन कर पीएम रात कोष में भेज दिया।समाजसेवी विनोद ने अभी दो वर्ष पूर्व रूदौली क्षेत्र के दर्जनों डेंगू और चिकनगुनिया के मरीजो का लखनऊ के सहारा जैसे हॉस्पिटल में निशुल्क इलाज करवाया था।


हर नवरात्र में कामाख्या धाम में आयोजित होने वाले भंडारे की फोटो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News