आजमगढ़:प्यार में धोखा, गम में महिला कान्स्टेबल ने दी थी जान

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ की फूलपुर कोतवाली में तैनात महिला सिपाही पूजा सिंह आत्महत्या मामले में बड़ा खुलासा सामने आ रहा है. जानकारी के मुताबिक महिला सिपाही को लव सेक्स और धोखे में फंस गई थी जिसके चलते वह गर्भवती हो गई और इसके बाद उसके कथित प्रेमी ने अपनाने से इंकार कर दिया. इन सबके बाद उसने अपना जीवन समाप्त कर लिया. चंदौली जिले की रहने वाली पूजा 2018 बैच की महिला आरक्षी थीं और फूलपुर में किराए के मकान में रहती थीं.

चैट हिस्ट्री से हुआ खुलासा

फूलपुर कस्बा में स्थित स्टेट बैंक के पास किराए के मकान में रहती थी. पूजा का शव उसके आवास में 7 फरवरी को फंदे से लटका पाया गया था. उस समय पूजा का मोबाइल स्विच ऑफ होने के कारण पुलिस कोई सुराग नहीं जुटा पाई थी. विवेचना के दौरान जब मोबाइल की सीडीआर और चैट हिस्ट्री खंगाली गई, तो पुलिस के होश उड़ गए. इसके बाद पुलिस ने जब प्रेमी की कुंडली खंगाली तो सारे राज से पर्दा उठ गया.

झूठ बोलकर प्रेमजाल में फंसाया, शारीरिक संबंध बनाए

एएसपी ग्रामीण नागेंद्र सिंह के मुताबिक आरक्षी का प्रेमी अविनाश कुमार वाराणसी के लंका का रहने वाला था. चार साल पहले 2016 में जब पूजा वाराणसी में पढ़ती थी, तब वह एक निजी बैंक के मैनेजर का वाहन चलाता था. उसी दौरान उसने खुद को बैंक प्रबंधक बताते हुए पूजा को प्रेमजाल में फंसा लिया और शादी का झांसा देकर उसके साथ शारीरिक संबंध बना डाले. इसी बीच 2018 में पूजा यूपी पुलिस में भर्ती हो गई. इसके बाद भी दोनों का संबंध बरकरार रहा. प्रशिक्षण पूरा करने के बाद पूजा की तैनाती फूलपुर कोतवाली में हो गई. उसे कोतवाली में आवास भी मिला, लेकिन प्रेमी से मिलने के लिए उसने थाने के बाहर रहना मुनासिब समझा.

गर्भवती होने पर अपनाने से इंकार

अविनाश अक्सर उसके कमरे पर कई दिनों तक रहता था. इस दौरान कथित तौर पर दोनों ने शादी भी कर ली. खुद को अविनाश की पत्नी मान बैठी पूजा ने उसे लोन लेकर एक कार दिलाई और फिर पांच लाख रुपए भी दिए. हाल ही में पूजा गर्भवती हो गई और जब इस बात की जानकारी अविनाश को हुई, तो वह उससे दूरी बनाने लगा. पूजा ने दबाव बनाया तो उसने परिवार के सामने उसे स्वीकार करने से मना कर दिया. मजबूर होकर पूजा ने लोकलाज के भय से गर्भ में पल रहे बच्चे के साथ खुद को भी मिटाने का फैसला कर लिया.

बीती 7 फरवरी को भी उसने अविनाश से बात की और इसके बाद मोबाइल बंद कर मौत को गले लगा लिया. इसी के साथ इस प्रेम कहानी का अंत हो गया. पुलिस ने आरोपी पर शिकंजा कसने के लिए भ्रूण का डीएनए टेस्ट कराया और फिर आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. हालांकि अब पुलिस आरोपी का भी डीएनए कराएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News