राजस्थान: महिला को एनआरसी का सर्वेयर समझ पीटा, कुरान की आयत सुनकर छोड़ा

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के बारे में देशभर में अफवाह फैली है कि इससे मुसलमानों के कागज देखें जाएंगें औऱ न दिखा पाने पर उन्हें देश से निकाल दिया जाएगा. अफवाहों के इस गर्म माहौल के बीच राजस्थान (Rajasthan) के कोटा (Kota) से एक बेहद हैरान देने वाली अफवाह का मामला सामने आ रहा है. जिसे सुनकर आप दंग रह जाएंगे.

दरअसल, यहां राष्ट्रीय आर्थिक सांख्यिकी गणना के काम के लिए गई एक युवती के साथ अभद्रता और दुर्व्यवहार का मामला सामने आया है. पीड़िता का आरोप है कि सर्वे के दौरान लोगों ने उसका मोबाइल फोन छीन लिया. साथ ही मोबाइल ऐप में जो सर्वे से संबंधित डेटा फीड था, उसे भी डिलीट कर दिया और उससे कुरान की आयतें भी पढ़वाईं गईं. घटना की सूचना मिलने पर पुलिस वहां पहुंची और एक शख्स को शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार किया. महिला की रिपोर्ट पर पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है.

मुस्लिम बाहुल्य इलाके में कर रही थी सर्वे

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मामला 22 जनवरी, 2020 का है. नसरीन बानो (Nasreen Bano) बुधवार को बोरखेड़ा थाना इलाके की एक मुस्लिम बाहुल्य कॉलोनी में सर्वे करने पहुंची थीं. नसरीन ने यहां कुछ परिवारों से आर्थिक गणना के लिए जानकारी प्राप्त की. जब वहां से निकल रही थी तो उन्हें कुछ महिलाओं और पुरुषों ने घेर लिया. साथ ही सीएए और एनआरसी को लेकर गलतफहमी की वजह से लोगों ने जानकारी देने से मना कर दिया और दी गई जानकारी को डिलीट करने के लिए कहा. फिर देखते ही देखते पूरी कॉलोनी के लोग इकट्‌ठा हो गए. इसी बीच, कुछ लोगों ने नजरीन से जबरन उनका मोबाइल छीना और उसमें से सर्वे का एप डिलीट कर दिय. तथा ऐप को भी अनइनस्टॉल कर दिया गया.

पढ़वाईं कुरान की आयतें

नसरीन बानो का आरोप है कि लोगों ने उसे घेर लिया था और उसके बताने पर कि वह भी मुस्लिम समुदाय से है, लोगों ने उसकी बात को नहीं माना तथा उससे कुरान की आयतें पढ़वाई गईं. नसरीन बानो ने बताया कि मैं आर्थिक गणना के लिए वहां गई थी, उन्होने पहले मुझे डेटा दे दिए थे लेकिन मैं थोड़ा आगे गई तो उन्होंने मुझे बुलाया और 4-5 परिवारों ने इकट्ठा होकर मेरा हाथ पकड़कर मेरा मोबाइल छीन लिया. मोबाइल का डाटा डिलीट कर दिया और कहा कि हमें कोई सर्वे नहीं करवाना. मेरे साथ बहुत बदतमीजी की, मैं बहुत घबरा गई थी. मैंने कहा कि मैं आपके ही समाज की हूं तो उन्होंने सबूत देने को कहा और मेरे से आयत पढ़ने को कहा. मेरे से आई कार्ड दिखाने को कहा और आई कार्ड दिखाने के बाद भी वो नहीं माने.

एक शख्स गिरफ्तार

मामले की सूचना पर बोरखेड़ा थाने की पुलिस मौके पर पहुंच गई. तब तक कॉलोनी के लोगों ने सर्वेयर को घेर रखा था. पुलिस ने बीच-बचाव कर सर्वेयर को वहां से पुलिस सुरक्षा में निकाला. पुलिस ने सदाहक अंसारी नामक शख्‍स को शांतिभंग करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया. इसके बाद सर्वेयर की ओर से घटनाक्रम की रिपोर्ट कोटा के बोरखेड़ा थाने में दर्ज कराई गई. सीआई महेश सिंह ने कहा, ‘उसने बताया कि मैं राष्ट्रीय गणना का सर्वे करने गई थी तो कुछ परिवारों ने उसका मोबाइल छीन लिया और बदतमीजी की. साथ ही सर्वे के ऐप को अनइनस्टॉल करने की शिकायत भी दी, जिसके बाद हम वहां पहुंचे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News