अयोध्या : मण्डलीय विकास कार्यो की समीक्षा बैठक में मंडलायुक्त ने विभागवार अधिकारियों के कसे पेंच

अमरजीत सिंह-ब्यूरो रिपोर्ट

अयोध्या ! मण्डलायुक्त एमपी अग्रवाल ने कलेक्ट्रेट सभागार में मण्डलीय विकास कार्यो की समीक्षा बैठक में विकास के प्रमुख 71 बिन्दुओं/कार्यक्रमों मुख्यमंत्री के प्राथमिकता के 18 कार्यक्रमों, नगरीय विकास के कार्यक्रमों आदि से सम्बन्धित बिन्दुओं की समीक्षा की गयी। मण्डलायुक्त ने मुख्यमंत्री के प्राथमिकता के कार्यक्रमों तथा उनकी घोषणाओं की।समीक्षा बैठक में कहा कि 50 लाख से ज्यादा के निर्माण कार्यो की समीक्षा अलग से की जायेगी। मण्डलायुक्त ने अस्पतालों में दवाईयों की मानक के अनुसार उपलब्धता एवं उसकी जिला अस्पताल स्तर, सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र स्तर एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र स्तर सूची के अनुसार उपलब्धता अंकित करने के निर्देश दिये।डाक्टरों की उपस्थिति सुनिश्चित करने हेतु एवं पूर्ण रूप से निर्मित सामुदायिक/स्वास्थ्य केन्द्रों को संचालित करने का निर्देश दिया गया। जिलाधिकारी अम्बेडकरनगर श्री राकेश कुमार मिश्रा ने विशेष रूप से बसखारी मे निर्मित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का प्रारम्भ करने का मामला उठाया। अपर निदेशक स्वास्थ 13 दिसम्बर को वहां का निरीक्षण करते हुए।एक सप्ताह के अन्दर उसको चालू करने हेतु कार्यवाही करने का कहा। इसी प्रकार पशु चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को भी मवेशियों के उपचार उनके दवाओं की उपलब्धता तथा उनके भी सुरक्षात्मक उपाय करने हेतु निर्देश दिया गया। मण्डलायुक्त मे नराजगी जाहिर की और अधिकारियों को मण्डलीय बैठको में पूरी तैयारियों के साथ आने का भी निर्देश दिया ।बैठक में आने पर अपने सहायकों को लेकर आते हैं तथा उन पर निर्भर रहतें हैं। तथा विभागवार आवश्यकता के अनुसार अलग-अलग समीक्षा की जायेगी। मण्डलायुक्त ने यह भी कहा कि नवजात बच्चें होने के बाद तत्काल चिकित्सकों एवं आशा कार्यकत्रियों द्वारा भ्रमण किया जाये और आवश्यक सुविधाएं/टीकाकरण की कार्यवाही किया जाये। मण्डलायुक्त ने इन्द्र धनुष योजना को शत प्रतिशत पूरा करने के निर्देश दिए। स्वास्थ्य विभाग की एम्बुलेन्स सेवा 102/108 के रिस्पोडिंग टाइम को राज्य औसत के अनुपात में लगभग 10 मिनट तक लाने का निर्देश दिया। वर्तमान में 10 से 15 प्रतिशत औसत जो ज्यादा हैं। साथ ही साथ चिकित्सा विभाग के उपलब्ध बजट 168 करोड़ बताया गया जिस पर मण्डलायुक्त ने जिला स्तर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र स्तर एवं ग्राम स्तर पर मानक के अनुसार कार्ययोजना बनाकर व्यय करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी अयोध्या श्री अनुज कुमार झा ने कुमारगंज में स्थित 100 बेड के अस्पताल को पूर्ण रूप से संचालित करने का बिन्दु उठाया जिस पर मण्डलायुक्त ने अपर निदेशक को जल्द से जल्द कार्यवाही करने हेतु एवं शासन से आवश्यक पत्राकार कराने हेतु निर्देश दिया।राष्ट्रीय स्वच्छता मिशन के कार्यो में तेजी लाने तथा 14वें वित्त आयोग एवं राज्य वित्त आयोग से प्राप्त निधि को पीएमएफ खाते के माध्यम से ट्रान्सफर करने एवं देनदारियों को शीघ्रता से भुगतान करने हेतु कार्यवाही करने को कहा। छात्रवृत्ति वितरण के कार्यो में समय से पात्र छात्रों के नामों का/फिडिंग आवेदनों को भेजने तथा समय से उनके खातों में पैसा स्थातान्रण करने हेतु निर्देश दिया गया। इसी प्रकार सामूहिक विवाह योजना में मण्डल के 3200 लक्ष्य के विपरित 2800 पात्र व्यक्तियों का शादी कराया जा चुका है।अमेठी क्षेत्र में लक्ष्य से ज्यादा कार्य हुआ है, इस लक्ष्य को भी शामिल करने एवं अन्य पात्र आवेदकों को इस योजना का लाभ लेने हेतु निर्देश दिया गया। ग्रामसभाओं में पूरे मण्डल में 4596 ग्राम सभाएं/पंचायत हैं।, इसके आन्तरिक गलियों को पक्कीकरण कर संतृप्त करने हेतु निर्देश दिया गया। बैठक में सुल्तानपुर के प्रतिनिधि समुचित जवाब नहीं दे पाये जिस पर मण्डलायुक्त ने पूरी तैयारियों के साथ आने को कहा, वैकल्पिक मार्ग प्रकाश व्यवस्था एवं नगरीय क्षेत्रो के साफ-सफाई तथा ग्रामीण पेयजल योजनाओं को शीघ्र से शीघ्र पूरा करने हेतु निर्देश दिया गया जिसमें मण्डल में 48 परियोजनाओं के विपरित लगभग 22 परियोजनाओं को इस माह के अन्त तक प्रत्येक दशा में चालू करने हेतु जल निगम को निर्देश दिया गया। खाद्य सुरक्षा में राशन कार्ड के साथ आधार की फिडिंग की कार्यवाही करने तथा धान क्रय केन्द्रों की भी समीक्षा की, इसमें अभी 33.36 प्रतिशत लक्ष्य के सापेक्ष धान क्रय किया गया। इसमें किसानो को बिचैलियों से मुक्त पूर्ण सुविधा देते हुए उनके धान क्रय कर में और उनका भुगतान करने की कार्यवाही करने को कहा गया तथा जो सरकारी/प्राइवेट सेक्टर की कुछ एजेन्सियां क्रय कर रही है उनकी संख्या 32 है इसका भी विवरण प्रस्तुत करने को मण्डलायुक्त ने निर्देश दिया। गढ्ढा मुक्त कार्यो की समीक्षा करते हुए सम्बन्धित कार्यो को करने, सड़क निर्माण के कार्यो में तेंजी लाने एवं सेतु निर्माण के कार्यो को भी गुणवत्ता के साथ पूरा करने हेतु निर्देश दिया गया। मण्डलायुक्त ने यह भी कहा कि मौके पर भ्रमण कर इसकी रिर्पोट भी प्रस्तुत करें।बेसिक शिक्षा विभाग की कार्यो की समीक्षा में मण्डलायुक्त ने जनपदो में छात्रो के पंजीयन के अनुपात में स्वेटर आदि की वितरण की समय से कार्यवाही करने को कहा। मण्डलायुक्त ने समय-समय पर जिलाधिकारियों एवं मुख्य विकास अधिकारियों से भी मुख्यमंत्री जी के प्राथमिकता के कार्यक्रमों की समीक्षा करने और पराली जलाने की घटनाओं के प्राथमिकी दर्ज करने की कार्यवाही को समीक्षा करने को कहा। जिससे कि शासन का शत प्रतिशत निर्देशों का पालन हो सके।मण्डलायुक्त का कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने स्वागत किया तथा विकास कार्यो का संक्षिप्त रूपरेखा प्रस्तुत किया, उनके साथ जिलाधिकारी बाराबंकी डा0 आदर्श सिंह, जिलाधिकारी अम्बेडकरनगर श्री राकेश कुमार मिश्र, जिलाधिकारी अमेठी आदि उपस्थित रहे। इस बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अयोध्या श्री अभिषेक आनन्द, मुख्य विकास अधिकारी बाराबंकी, मुख्य विकास अधिकारी अमेठी, मुख्य विकास अधिकारी सुल्तानुपर, मुख्य विकास अधिकारी अम्बेडकरनगर सहित मण्डलीय संयुक्त विकास आयुक्त श्री आरएन सिंह सहित सिंचाई लोक निर्माण विभाग आरईएस, विद्युत, चिकित्सा आदि विभागों के लगभग 60 से ज्यादा विभागों के प्रतिनिधि/सहायक आदि उपस्थित थे। अन्त में मण्डलायुक्त ने सभी को अपनी-अपनी विभाग की योजनाओं का मौके पर निरीक्षण करने एवं मा0 मुख्यमंत्री जी के प्राथमिकता के कार्यक्रमों को समय से पूरा करने एवं आईजीआरएस पोर्टल की शिकायतों को भी समय से निस्तारण करने का निर्देश दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News