गोवा बीजेपी दफ्तर पहुंचा पर्रिकर का पार्थिव शरीर, अंतिम दर्शन को उमड़ी भीड़

पणजी: गोवा के मुख्यमंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता मनोहर पर्रिकर का रविवार को निधन हो गया। 63 वर्षीय पर्रिकर लंबे समय से आग्नाश्य कैंसर से गंभीर तौर पर पीड़ित थे। मनोहर पर्रिकर निधन से पूरे देश में शोक की लहर है। सरकार ने सोमवार को राष्ट्रीय शोक घोषित किया है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर पर्रिकर को श्रद्धांजलि देते हुए लिखा कि गोवा और देश के लिए उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। सोमवार को सुबह 11 बजे उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए केंद्रीय कैबिनेट की बैठक बुलाई गई है।

कैंसर से पीड़ित होने के बावजूद वह बीते कई महीनों से मुख्यमंत्री के तौर पर अपनी जिम्मेदारियां निभा रहे थे।नाक में ड्रिप लगाए उनकी कई तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर वायरल हुई थीं।

गोवा में बीजेपी और राजनीति के एक मजबूत स्तंभ रहे मनोहर पर्रिकर आईआईटी से पढ़े थे। देश के पढ़े-लिखे और सादगी से जीवन जीने वाले नेता के तौर पर उनकी खास पहचान थी।

बता दें कि पर्रिकर के फरवरी 2018 में अग्नाशय कैंसर से पीड़ित थे। मनोहर पर्रिकर की पहचान एक ईमानदार और सादगी भरा जीवन जीने वाले नेताओं में होती रही है।

आईआईटी बॉम्बे से ग्रेजुएट पर्रिकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सक्रिय प्रचारक हैं। वह 4 बार से गोवा के मुख्यमंत्री हैं। देश के रक्षा मंत्री भी रहे। लम्बे समय से कैंसर से पीड़ित पर्रिकर ने विश्व कैंसर दिवस पर कहा था कि मानव मस्तिक किसी भी बीमारी पर जीत पा सकता है।

शाम 5 बजे किया जाएगा मनोहर पर्रिकर का अंतिम संस्कार

मनोहर पर्रिकर का पार्थिव शरीर सोमवार सुबह 9:30 से 10:30 बजे तक पणजी में भाजपा हेडक्वार्टर पर रखा जाएगा। 10:30 बजे उनका पार्थिव शरीर कला अकादमी ले जाया जाएगा। सुबह 11 से शाम 4 बजे तक आम जनता मनोहर पर्रिकर को श्रद्धांजलि दे सकेगी। शाम 5 बजे मनोहर पर्रिकर का अंतिम संस्कार किया जाएगा।

भाजपा के सभी आधिकारिक कार्यक्रम रद्द

पूर्व रक्षा मंत्री और गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद आज सोमवार को CEC सहित भाजपा के सभी आधिकारिक कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं। पर्रिकर के निधन से सामान्य रूप से राष्ट्र और विशेष रूप से गोवा ने अपने चहेते पुत्र को खो दिया। उनके शोक संतप्त परिवार के सदस्यों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना। उनकी आत्मा को शांति मिले।

मनोहर पर्रिकर की अंतिम यात्रा में शामिल होंगे गृह मंत्री

राजनाथ सिंह ने कहा- मेरे प्रिय मित्र और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन से गहरा दुख हुआ है। वह अपनी ईमानदारी, निष्ठा और सरलता के लिए जाने जाते थे। उन्होंने बड़ी लगन के साथ देश और गोवा राज्य की सेवा की। उनके शोक संतप्त परिवार के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना।

नेताओं ने व्यक्त की शोक संवेदना

सुषमा स्वराज ने शोक व्यक्त करते हुए कहा, ‘मनोहर पर्रिकर जी के देहांत का समाचार सुनकर बहुत दुख हुआ। हालांकि वो बहुत समय से बीमार थे तो भी मन इसके लिए तैयार नहीं था कि वह हमें इतनी जल्दी छोड़ जाएंगे। मेरे लिए तो वो भाई की तरह थे इसलिए उनका निधन मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है।’

ममता बनर्जी ने कहा कि गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर जी के निधन से दुखी हूं। उन्होंने धैर्यपूर्वक अपनी बीमारी से संघर्ष किया। उनके परिवार और उनके प्रशंसकों के प्रति संवेदना।

बीजेपी के गोवा दफ्तर में बड़ी संख्या में आम जनता मनोहर पर्रिकर के अंतिम दर्शन करने पहुंची है। बता दें कि बीजेपी दफ्तर में कुछ देर पार्थिव शरीर रखने के बाद कला अकादमी लाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News