आवारा कुत्तों के झुंड ने पतंग उड़ा रहे बच्चे को नोच-नोचकर खा डाला

0

पंजाब में आवारा कुत्तों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा। आज हलके के गांव धूड़कोट रणसींह में एक 7 वर्षीय मासूम बच्चे को आवारा कुत्तों ने नोच-नोचकर खा लिया। जिस कारण हलके में शोक की लहर दौड़ गई।

मौके से प्राप्त की जानकारी के अनुसार सरपंच नरेन्द्र सिंह संधू धूड़कोट ने बताया कि 7 वर्षीय मासूम हरमन सिंह पुत्र ड्राइवर सोनी सिंह निवासी गांव धूड़कोट रणसींह जो कि दूसरी क्लास में पढ़ता था, लेकिन आज स्कूल में छुट्टी होने के कारण वह अपने घर के नजदीक खेतों में पतंग उड़ा रहा था कि अचानक आवारा कुत्तों के झुंड ने इस खेल रहे नन्हें बच्चे पर हमला कर दिया। उक्त आवारा कुत्ते इस बच्चे को घसीटकर खेतों में ले गए, एक महिला ने खेतों में आवारा कुत्तों के झुंड द्वारा बच्चे को घसीटते हुए देखा, तो उसने शोर मचाया और लोगों ने जब पास जाकर देखा, तो कुत्तों के मुंह में बच्चे हरमन सिंह का कोमल शरीर था। जब तक लोग उसको छुड़वाते तब तक आवारा कुत्तों द्वारा उसको नोच-नोचकर मौत के घाट उतारा जा चुका था।

इस घटना का पता लगते ही सरपंच नरेन्द्र सिंह संधू, कामरेड महेन्द्र सिंह धूड़कोट, कबड्डी खिलाड़ी मनमोहन सिंह, पूर्व पंच हरभजन सिंह सोनी, शमशेर सिंह शेरा, गुरमेल सिंह, किसान नेता अमरजीत सिंह सैदोके, अध्यक्ष सुखमंदर सिंह धूड़कोट मौकेपर पहुंच गए तथा इस घटना पर दुख प्रकट करते जहां परिवार से हमदर्दी प्रकट की, वहीं गरीब परिवार के लिए मुआवजे की भी मांग की। उक्त नेताओं ने सरकार से मांग की कि कीमती जानें खत्म करने वाले इन आवारा कुत्तों का पुख्ता प्रबंध किया जाए।

गांव माछीके में भी हलके कुत्तों का आतंक जारी

इसी तरह गांव माछीके में भी पिछले एक महीने से हलके कुत्तों का आतंक जारी है, जो कि अनेकों ही विद्याॢथयों तथा लोगों को अपना निशाना बना चुके हैं। एक कुत्ते को तो गांववासियों ने गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया था, लेकिन उसके बाद भी 3-4 कुत्ते लोगों के लिए सिरदर्दी बन चुके हैं। संबंधित विभाग तथा प्रशासनिक अधिकारी यह सब कुछ देखते हुए भी आंखें मूंदी बैठे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Content is protected !! © KKC News