अलवर लिंचिंग: ‘गाय चोरी’ के आरोप में मारे गए उमर का बेटा निकला गोतस्कर, गिरफ्तार

गोतस्करी और मॉब लिंचिंग को लेकर पिछले दिनों राजस्थान खूब सुर्खियों में रहा, फिर चाहे बात पहलू खान की हो या रकबर खान की हो जो गोतस्करी में मॉब लिंचिंग का शिकार हो गए सभी की मौत पर जमकर राजनीति हुई. कहा गया कि बीजेपी के राज में अल्पसंख्यक सुरक्षित नहीं रहे. लेकिन राजस्थान पुलिस का कहना है कि ये बात सच है कि राजस्थान के अलवर और भरतपुर में गौवंश की तस्करी निर्बाध तरीके से जारी है.

राजस्थान के अलवर और भरतपुर इलाके में गोवंश की तस्करी बदस्तूर जारी है. इस संबंध में अलवर जिले की खेरली पुलिस को अहम कामयाबी मिली जब उसने ऑयल टैंकर के जरिए तस्करी करने वाले 6 लोगों गिरफ्तार किया. दरअसल तस्करों की गिरफ्तारी में जिस शख्स का नाम सामने आया है वो हैरान करने वाला है. गोवंश की तस्करी मामले में राजस्थान पुलिस ने मकसूद नाम के शख्स को गिरफ्तार किया है. बता दें कि मकसूद का पिता उमर गोवंश तस्करी के शक में साल 2017 में मॉब लिंचिंग का शिकार हो गया था.

इनके पास से 315 बोर का कट्टा, 9 जिंदा कारतूस, टैंकरनुमा 407 मिनी ट्रक, स्विफ्ट डिजायर कार, अंग्रेजी शराब के 40 पव्वे, 50 लीटर देशी शराब, लाल मिर्च और रस्सा सहित अनेक चीजें भी बरामद की गई हैं. आरोपियों पर हरियाणा सहित कैथवाड़ा, पहाड़ी, गोपालगढ़, नौगांवा, रामगढ़, सीकरी आदि थाना क्षेत्रों में गोतस्करी, लूट व पुलिस पर हमला करने के मामले दर्ज हैं.

जब मंगलवार को पुलिस को इस गैंग की सूचना मिली तो दबिश दी और 6 बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने बताया कि इस गैंग में घाटमिका गांव निवासी मकसूद भी शामिल है, जो मॉब लिंचिंग के आरोप में मारे गए उमर खान का बेटा है. यह गैंग खेड़ली थाना क्षेत्र में पहले 3 तीन बार गोतस्करी के दौरान पुलिस पर फायरिंग कर चुका है, जिसमें पुलिस एक दर्जन से अधिक गाय बरमाद कर चुकी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News