साकेत महाविद्यालय छात्रसंघ चुनाव : गहमागहमी के बीच अध्यक्ष पद के दो प्रत्याशियों के नाम वापस

अयोध्या ! साकेत महाविद्यालय में चल रहे छात्रसंघ चुनाव के बीच शुक्रवार को नामांकन वापसी की तिथि पर अध्यक्ष पद के दो प्रत्याशियों ने अपना नामांकन वापस ले लिया। इस प्रकार अब अध्यक्ष पद पर चार प्रत्याशी ही मैदान में रह गए हैं।इसके अतिरिक्त उपाध्यक्ष , महामंत्री व उपमंत्री पद पर किसी दूसरे प्रत्याशी ने अपना नाम वापस नहीं लिया। इसके चलते नामांकन करने वाले सभी प्रत्याशी चुनाव मैदान में फिलहाल बने हुए हैं।उधर अध्यक्ष पद पर चुनाव लड़ रहे बहुजन छात्र सभा के प्रत्याशी सूर्यभान के नामांकन पर सपा छात्रसभा के प्रत्याशी आभाष कृष्ण ने आपत्ति की थी। शिकायत निवारण प्रकोष्ठ के समक्ष की गई आपत्ति में सूर्यभान के हाईस्कूल के अंकपत्र पर फोटो नहीं होने की शिकायत की गई थी। प्रकोष्ठ के अध्यक्ष डॉ. बीडी द्विवेदी ने बताया कि यूपी बोर्ड की वेबसाइट से अंकपत्र का मिलान कराया गया जो कि पूर्णतया सही पाया गया। उन्होंने कहा कि फोटो होने और नहीं होने अथवा गलत फोटो लग जाने का मसला यूपी बोर्ड का है। इसीलिए आपत्ति को खारिज करते हुए आपत्तियों का निस्तारण कर आपत्तिकर्ता को लिखित सूचना भी दे दी गई जिससे यदि वह आवश्यक समझे तो अपनी आपत्ति को सक्षम अधिकारी तक ले जा सकें।इससे पहले उभय पक्षों के बीच तनाव की स्थिति बनी रही और लोग एक-दूसरे पक्ष पर आरोप-प्रत्यारोप मढ़ते रहे। फिलहाल कोई अप्रिय स्थिति नहीं पैदा हुई। मुख्य चुनाव अधिकारी डॉ. एसपी सिंह सहित सहायक चुनाव अधिकारियों ने पुलिस की मदद से सभी को तितर-बितर कर दिया। इसी तरह से विद्यार्थी परिषद समर्थित उपाध्यक्ष पद के प्रत्याशी विशाल कुमार वैश्य के खिलाफ दूसरे प्रत्याशी रत्नेश कुमार मिश्र ने यह शिकायत दर्ज कराई कि वह झुनझुनवाला महाविद्यालय में बीकॉम के छात्र हैं और फिर भी उन्होंने महज चुनाव लड़ने के लिए साकेत कालेज में बीए में प्रवेश लिया है। शिकायत निवारण प्रकोष्ठ के अध्यक्ष डॉ. द्विवेदी ने बताया कि इस बारे में झुनझुनवाला महाविद्यालय के प्राचार्य से लिखित सूचना प्राप्त हुई कि उन्होंने डिग्री पूरी नहीं की और न ही बीकॉम तृतीय वर्ष में प्रवेश ही लिया है।डॉ. द्विवेदी ने बताया कि एक डिग्री को छोड़कर दूसरी डिग्री के लिए कहीं भी प्रवेश लिया जा सकता है। ऐसे में वैश्य का नामांकन भी वैध मानते हुए आपत्ति को खारिज कर दिया गया। उधर मुख्य चुनाव अधिकारी डॉ. सिंह ने बताया कि नाम वापसी एवं आपत्ति निस्तारण की तिथि पर निर्धारित समय में अध्यक्ष पद के दो प्रत्याशियों अखिलेश यादव एवं विकास तिवारी ने अपना-अपना नामांकन वापस ले लिया है। उन्होंने बताया कि इसी तरह अध्यक्ष पद पर शेष चार प्रत्याशी ही मैदान में रह गए हैं। इसके अलावा अन्य पदों पर पूर्ववत प्रत्याशी चुनाव मैदान में है। उन्होंने बताया कि प्रत्याशियों की अंतिम सूची का प्रकाशन कर दिया गया है।

अगस्त के बाद चुनाव का नहीं औचित्य: डॉ. तिवारी

अयोध्या। साकेत महाविद्यालय के गणित विभागाध्यक्ष डॉ. शिव कुमार तिवारी ने दिसम्बर माह में हो रहे छात्रसंघ चुनाव पर अपना विरोध दर्ज कराया है।उनका कहना है कि लिंगदोह समिति की रिपोर्ट के अनुसार ही चुनाव कराया जाना शिक्षक, विद्यार्थी एवं संस्था के हित में होगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिवेश में छात्रसंघ चुनाव से ज्यादा आवश्यक महाविद्यालय परिसर में अध्ययन-अध्यापन है।

नाम वापसी व आपत्ति निस्तारण के बाद अब ये हैं प्रत्याशी

अध्यक्ष पद-आभाष कृष्ण, आशीष मौर्य, राजाबाबू पाण्डेय व सूर्यभान

उपाध्यक्ष पद-अजीत वर्मा, अंजली सिंह, दीपक तिवारी, मीनाक्षी उपाध्याय,रत्नेश कुमार मिश्र, रीतू गुप्ता, विशाल कुमार वैश्य, शालिनी उपाध्याय, शिवमचन्द्र पाण्डेय व शोभित सिंह

महामंत्री पद : अभिषेक यादव, अनुराग कुमार, अंकुर सिंह, कुल वल्लभ सिंह, शशांक पाण्डेय व शेष नारायण

उपमंत्री पद : चंद्रिका चौहान, चेतना सिंह, प्रदुम कुमार सिंह, राजहंस मिश्र, विनीत कुमार कनौजिया, विनोद कुमार वर्मा, विपिन गुप्त व विवेक कुमार मिश्र।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News