UP सरकार ने की कुंभ की ग्लोबल ब्रांडिंग, 71 देश के राजनायिक पहुंचे प्रयागराज

प्रयागराज : उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने कुंभ मेला की ग्लोबल ब्रांडिंग शुरू कर दी है। आज विशेष विमान से 71 देशों के राजनायिक प्रयागराज पहुंचे हैं। विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह नई दिल्ली से इन सभी को लेकर प्रयागराज पहुंचे है। 71 देशों के राजनायिक यहां पर गंगा नदी में पूजन के बाद कुंभ की तैयारियों को देखेंगे। एक महीने बाद 15 जनवरी से प्रयागराज में कुंभ मेला शुरू होगा।

प्रयागराज में आज 71 देशों के राजनयिक पहुंचे। बमरौली एयरपोर्ट पर प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य मंत्री तथा प्रवक्ता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने इनका स्वागत किया। प्रयागराज में इस मौके पर जिला तथा पुलिस प्रशासन के शीर्ष अधिकारी भी मौजूद थे। आज के तय कार्यक्रम के अनुसार यह सभी राजनायिक यहां संगम में गंगा पूजन के साथ कुंभ की तैयारियों से अवगत होंगे। इन सभी को कस्तूरबा जलयान से संगम से अरैल घाट का भी दर्शन कराया जाएगा

केंद्र सरकार की ऐसी योजना है कि राजनयिक प्रयागराज से जब सुखद और यादगार अनुभव लेकर लौटेंगे तो अपने-अपने देशों के लोगों को भी कुंभ में आने के लिए अडवाइजरी जारी करेंगे। विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह इन्हें साथ लेकर प्रयागराज पहुंचे है। आज यहां पर संगम में गंगा पूजन के साथ इन राजनयिकों को कुंभ की तैयारियों से रूबरू कराया जाएगा। इस दौरान इन्हें कस्तूरबा जलयान से संगम से अरैल घाट ले जाया जाएगा। यहां अरैल में सभी राष्ट्रों के ध्वज का ध्वजारोहण होगा। इस दौरान अतिथियों के लिए कुम्भ से जुड़ी प्रदर्शनी भी दिखाई जाएगी। प्रयागराज में करीब 6 घंटे बिताने के बाद ये राजनयिक दोपहर तीन बजे के करीब दिल्ली लौट जाएंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल कुंभ मेला के विकास कार्यों का प्रयागराज में लोकार्पण करेंगे। पीएम मोदी कुंभ को लेकर कराए जा रहे 3500 करोड़ के विकास कार्यों का लोकार्पण कुंभ मेला क्षेत्र से करेंगे। इसके साथ ही पीएम नरेंद्र मोदी झूंसी के अंदावा में एक जनसभा को भी सम्बोधित करेंगे।
कुंभ की आभा देखने 71 देशों के राजनयिक प्रयागराज पहुंचे। इसमें पड़ोसी देश पाकिस्तान और चीन के राजनयिक नहीं हैं। इसके पहले विदेश मंत्रालय के अफसरों की टीम कल शाम यहां पहुंच गई थी। इसके बाद रिहर्सल संग तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया।

राजनयिक विशेष वायुयान से आज बमरौली एयरपोर्ट पहुंचे। वहां से सभी को संगम लाया गया। पूजन-दर्शन के साथ ही फोटो सेशन हो गया। यहां कुंभ की गौरवगाथा समेटे प्रदर्शनी का अवलोकन कर वह अक्षयवट के साथ हनुमान मंदिर गए। इसके बाद क्रूज से अरैल पहुंचेंगे, जहां वह अपने-अपने देशों के झंडे फहराएंगे।
डेलीगेट्स में लगभग सभी पड़ोसी देश प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। इसमें अफगानिस्तान के मौलाना खैरुल्लाह आजाद, बांग्लादेश के सैय्यद मौज्जम अली, भूटान के मेजर जनरल वेत्सप नामग्याल, नेपाल के भरत कुमार रेग्मी, श्रीलंका के आस्टिन फर्नांडो शामिल हैं। अमेरिका के राजदूत केनेथ आइ जस्टर भी आ रहे हैं। कड़े सुरक्षा इंतजाम के बीच में राजनयिकों को कुंभ मेला क्षेत्र में लाया गया।इस दौरान सुरक्षा के तगड़े इंतजाम थे। रास्तों पर जगह-जगह बैरिकेडिंग करके वाहनों को रोका गया था। रास्तों के किनारे खड़े स्कूली बच्चों ने तिरंगा लहराया और स्वागत पट्टियों के माध्यम से राजनयिकों का भव्य तरीके से स्वागत किया। इस दौरान मार्ग रोकने की वजह से जाम लग गया। राजनयिकों के जाने के बाद वाहनों को जाने दिया गया। इस दौरान स्कूल जाने वाले बच्चों को भी दिक्कत हुई।



इन देशों के राजनयिक

अंगोला, अर्जेंटीना, आस्ट्रिया, अजरबैजान, बोलिविया, बुर्किना फासो, बुरुंडी, कनाडा, कंबोडिया, कोस्टारिका, क्रोएशिया, क्यूबा, जिबौती, डोमिनीसन रिपब्लिक, ईजिप्ट, ईआइ सल्वाडोर, ईक्यैट्यूरियल जीनिया, ईरीट्रिया, ईथोपिया, गेबान, गैंबिया, जार्जिया, ग्रीक, ज्यूनिया, कोरिया, किर्गिस्तान, इंडोनेशिया, इराक, लिसोथो, लीबिया, लीथ्यूनिया, लग्जमबर्ग, मेडागस्कर, मालावी, मलेशिया, माली, माल्टा, मारीशस, मैक्सिको, मोरक्को, न्यूजीलैंड, नाइजीरिया, नार्वे, पेलेस्टाइन, पैराग्वे, पोलैंड, पुर्तगाल, सेनेगल, सर्बिया, स्लोवेक रिपब्लिक, साउथ अफ्रीका, सूडान, सोमालिया, सूरीनाम, तंजानिया, त्रिनिदाद, ट्यूनिसिया, यूक्रेन, वेनेजुएला, उज्बेकिस्तान, वियतनाम, जांबिया, जिंबांबवे। भारत के राजनयिक इसके अतिरिक्त हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News