जब वोटर ने सावित्री बाई फुले से पूछा- अपनी सीट पर किसी ग़रीब दलित को देंगी मौक़ा? सुने पूरा ऑडियो

उत्तर प्रदेश के बहराइच लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी की सांसद सावित्री बाई फुले ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. इस्तीफ़ा देने के बाद उन्होंने बीजेपी पर दलित उत्पीड़न जैसे कई गंभीर आरोप लगाये हैं. इसी बीच सोशल मीडिया पर सावित्री बाई और उन्हीं के एक वोटर का ऑडियो वायरल हो रहा है. ऑडियो में वोटर के सवालों पर सांसद की बोलती बंद होती सुनाई दे रही है, लोग इस ऑडियो को जमकर फॉरवर्ड कर रहे हैं.

जानें क्या है इस ऑडियो में

ऑडियो में एक शख्स सांसद सावित्री बाई फुले को कॉल करता है. शख्स अपना नाम सर्वेश पांडेय और खुद को उनका वोटर बताता है. वोटर बातचीत के दौरान उनसे पूछता है कि आप किसी एक जाति की सांसद हैं या जनता की? जवाब में सांसद दलित सम्मान से जोड़कर पूछती हैं कि आपको दलितों का सम्मान करना है या नहीं करना है? और सवाल से कट लेती हैं.

आगे वोटर सांसद से पूछता है कि क्या आप अभी भी दलित शोषित हैं? सवाल के जवाब में सांसद विक्टिम कार्ड खेलते हुए कहती हैं कि तुम लोग हमें हरिजन कहते हो. वोटर सांसद से पूछता कि अगर आप दलितों का हित चाहती हो तो क्या आप अपनी आरक्षित सीट से किसी गरीब दलित को चुनाव लड़ाओगी…वोटर के सवाल पर सांसद की बोलती बंद हो जाती है और खुद को दलित बताकर विक्टिम कार्ड खेलते हुए फोन कट कर देती हैं.

बता दें, सावित्री बाई फुले ब्राह्मणों के खिलाफ दिए गए बयानों से अक्सर चर्चा में रहती हैं. हाल ही में उन्होंने राम मंदिर निर्माण का सिर्फ यह कहकर विरोध किया था कि इससे 3 प्रतिशत ब्राह्मणों को फायदा पहुंचेगा. उन्होंने मंदिरों को देश के तीन प्रतिशत ब्राह्मणों के कमाई का धंधा करार दिया था. सावित्री बाई फुले भगवान राम को भी मनुवादी करार दे चुकी हैं. भगवान पर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा था कि राम मनुवादी और शक्तिहीन थे. अगर शक्तिहीन न होते तो अब तक मंदिर बन गया होता. हनुमान दलित थे, इसीलिए उन्हें इंसान से बंदर बना दिया गया और मुंह पर कालिख पोती गई व पूंछ लगा दी गई थी

नोट:KKC न्यूज़ ऑडियो की पुष्टि नही करता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News