अयोध्या ! लंपी वायरस को लेकर अयोध्या जिले का पशुपालन विभाग भी हुआ चौकन्ना

सीबीओ ने ग्रामीण क्षेत्र के सभी चिकित्सकों को अलर्ट रहने का दिया निर्देश

मवई क्षेत्र में पशुचिकित्सकों की टीम गांव गांव भ्रमण कर पशुपालकों को कर रहे जागरूक

मवई(अयोध्या) ! उत्तर प्रदेश के कई जनपदों में स्किन डिजीज लंपी वायरस के अचानक दस्तक देने के अयोध्या जिले का पशुपालन विभाग भी चौकन्ना हो गया है।जिले के मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डा0 देवेंद्र गुप्ता ने बताया ये बीमारी पशुओं को अपनी चपेट में लेता है।लम्पी वायरस एक मवेशी से दूसरे में बहुत तेजी से फैलता है।हालांकि अभी तक अयोध्या जिले में इस वायरस की आमद नहीं हुई है।फिर भी हमने शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्र के सभी पशु चिकित्सा अधिकारियों को अलर्ट किया हैं।ताकि वक्त पड़ने पर वायरस को फैलने रोका जा सके।
सीवीओ डा0 देवेंद्र गुप्त ने बताया कि लंपी वायरस से निपटने को लेकर इन्होंने विभागीय मातहतों को क्षेत्र में नजर बनाए रखने को कहा है।किसी भी पशु में संक्रमण की आशंका पर संबंधित पशु को क्वारंटीन कर जांचकर बीमारी का पता लगाने के निर्देश दिए हैं।साथ ही संक्रमित पशु मिलने की दशा में आस पास के सभी मवेशियों का टीकाकरण करने के लिए तैयार रहने को कहा है।

ये है लक्षण

मवई के पशु चिकित्सा अधिकारी डा0 नीरज गुप्ता ने लंपी वायरस को लेकर जानकारी देते हुए बताया कि इस संक्रामक बीमारी की चपेट में आने के बाद पशु को तेज बुखार आएगा और कम भूख लगेगा।पशु के चेहरे, गर्दन, सहित पूरे शरीर में गोल उभरी हुई गांठें पैरों में सूजन, लंगड़ापन आदि लक्षण दिखाई देंगे।इन्होंने कहा कि यदि ऐसे लक्षण किसी पशु में दिखाई दे।तो इसकी सूचना तत्काल दे।

गांव गांव किया जा रहा जागरूक

मवई क्षेत्र में चिकित्सकों की टीम गांव गांव भ्रमण कर पशुपालकों को एक पत्रक के माध्यम से इस संक्रामक रोग के बारे में जागरूक कर रहे है।साथ ही पालतू मवेशियों के निरीक्षण कर रहे है।मवई पशु चिकित्सा अधिकारी डा0 नीरज गुप्त के मुताविक मवई क्षेत्र में अभी तक एक भी केश नही मिला है।

बीमारी से निपटने की ये है तैयारी

सीबीओ डा0 देवेंद्र गुप्त ने लंपी वायरस से निपटने की तैयारी पर बताया कि सभी तहसील स्तर पर कंट्रोल रूम का गठन किया गया है।सदर अस्पताल पर मॉनिटरिंग सेल द्वारा प्रतिदिन रिपोर्ट ली जा रही है।शासन से एक लाख वैक्सीन की डिमांड की गई है।जो शीघ्र ही आ जायेगी।जिले के पशुपालकों को चिंता करने की जरूरत नहीं है।क्योंकि अभी तक जिले में ऐसा कोई केस नहीं आया है।हमारी पूरी टीम इस बीमारी से निपटने के लिए सक्रिय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News