अमेठी-सेना जवान के पिता की हत्या मे शामिल आखिरी आरोपी को भी संग्रामपुर पुलिस ने किया गिरफ्तार

अमेठी ! जिले के संग्रामपुर थाने का चर्चित हत्याकांड में शामिल अंतिम आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।प्रभारी निरीक्षक राजीव सिंह ने कहा कि क्षेत्र में गुंडई करने वाले को सीधे जेल भेजा जाएगा।बता दे कि इस समय पुलिस अधीक्षक डा0 ख्याति गर्ग द्वारा अपराध एवं वांछित अपराधियों के धर पकड़ हेतु अभियान चलाए जा रहे है।जिसके क्रम में आज दिनांक 23 जुलाई को संग्रामपुर थाना क्षेत्र के चर्चित सेना जवान पिता हत्याकांड मे शामिल आखिरी आरोपी को भी पुलिस ने पकडने मे सफलता हासिल कर ली है।पुलिस अधीक्षक के मुताबिक प्रभारी निरीक्षक राजीव सिंह मय हमराह द्वारा मु0अ0सं0 298/2020 धारा 147 ,452 ,427,302,504,34 भादवि व 07 सीएलए एक्ट में वांछित अभियुक्त सत्यम शुक्ला पुत्र वागीश शुक्ला नि0 ग्राम शुकुलपुर मजरे ठेंगहा थाना संग्रामपुर जनपद अमेठी को समय करीब 11.10 बजे दिन में गिरफ्तार किया गया।आरोप है कि 21 जुलाई की शाम करीब 7:00 बजे अभियुक्तो द्वारा एकराय होकर वादी सत्य प्रकाश मिश्र पुत्र राजेन्द्र प्रसाद मिश्र निवासी शुकुलपुर ठेगहा थाना संग्रामपुर के घर मे घुसकर गाली गलौज देते हुये वादी के पिता राजेन्द्र प्रसाद मिश्र को लाठी डण्डो व लोहे की रॉड से मारकर हत्या कर दी गई थी।मामले की सूचना मिलते ही एसओ ने तत्काल आरोपियों के विरुद्ध मु0अ0सं0 298/2020 धारा 147/452/427/302/504/34 भादवि व 07 सीएसए एक्ट के तहत मुकदमा पंजीकृत कर हत्या में शामिल आरोपियों की तलाश में जुट गई।और एक एक कार सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।हत्या में शामिल अंतिम आरोपी को भी पुलिस ने गुरुवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम मे

, प्र0नि0 राजीव सिंह थाना संग्रामपुर जनपद अमेठी , का0 पुनीत खोखर थाना संग्रामपुर जनपद अमेठी , का0 अरुण प्रकाश पाण्डेय थाना संग्रामपुर जनपद अमेठी शामिल थे।

गिरफ्तार अभियुक्त सत्यम ने कहा आखिरकार मेरी जिंदगी बर्बाद ही कर दी

संग्रामपुर थाने का चर्चित हत्याकांड में गिरफ्तार अंतिम अभियुक्त सत्यम शुक्ल ने कहा कि आज जातिवाद इतना हावी हो गया कि लोग सही गलत भी नही देख रहे है।मेरी यहां हुई घटना में पड़ोसी की मौत हो गई।और लोगों ने इस मामले को शोशल मीडिया पर खूब तूल दिया।जबकि पड़ोसी द्वारा सबसे पहले मुझे मारा पीटा गया।जिसमें मेरा हाथ भी टूट गया।उसके बाद वे भागकर सीढ़ी से अपने घर के छत पर चढ़ रहे थे।जिससे फिसलकर गिरे और मौत हो गई।आरोपी सिसकते हुए कहा कि मैं प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा हूँ अब इस आरोप के बाद मेरी जिंदगी तबाह हो गई।ये कहते हुए वो फफककर रो पड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News