Covid-19 की वैक्सीन बना रहा IIT Kanpur, जून में शुरू होगा परीक्षण

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए दुनिया भर के वैज्ञानिक वैक्सीन तैयार में दिन रात एक कर रहे हैं। इस कड़ी में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT Kanpur) कानपुर भी शामिल हो गया है। आईआईटी कानपुर के विशेषज्ञ 2 महीने से 2 प्रकार के टीके विकसित करने पर शोध कर रहे हैं। इन वैक्सीन की जून में जीवों पर परीक्षण (एनिमल टेस्टिंग) भी शुरू हो जाएगी।

कहा जा रहा है कि अगर सब कुछ ठीक रहा तो अगले चार महीने में इंसानों पर भी इसका परीक्षम किया जाएगा। संस्थान के बायोलॉजिकल साइंस एंड बायोइंजीनियरिंग विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर देब्येंदु कुमार दास और डॉक्टर सर्वानन मथेस्वरन रिसर्च में लगे हुए हैं। कोविड-19 की वैक्सीन इजात में करने में दिन रात एक किया जा रहा है।

इनोवेशन एंड इन्क्यूबेशन सेल के इंचार्ज प्रो. अमिताभ बंद्योपाध्याय ने बताया कि दो तरह के टीके विकसित करने पर काम हो रहा है। एक कोरोना वायरस के खिलाफ शरीर में एंटीबॉडी बनाएगा, जिससे संक्रमण की आशंका समाप्त होगी। वहीं, दूसरे टीके के बारे में अब तक देश में किसी ने नहीं सोचा है। यह वायरस के स्ट्रेन बदलने के दौरान भी कारगर रहेगा। दूसरे संस्थानों से एनिमल टेस्टिंग को लेकर बातचीत भी चल रही है।

आइआइटी निदेशक प्रो. अभय करंदीकर का कहना है कि आइआइटी कानपुर के विशेषज्ञ वैक्सीन पर काम कर रहे हैं। अभी यह रिसर्च स्टेज में है। जल्द ही बाकी की प्रक्रिया पूरी होगी। विशेषज्ञ पहली वैक्सीन में अन्य वायरस के माध्यम से शरीर में एंटीबॉडी विकसित करेंगे। उनका दावा है कि यह शरीर को किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंचाएगा। दूसरी वैक्सीन स्ट्रेन बदलने पर भी प्रभावशाली रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News