सड़क पर तड़प रहे दो प्रवासी श्रमिक को कांस्टेबल ने पहुचाया अस्पताल,कोरोना संक्रमित समझकर लोग छूने से डर रहे थे

मवई(अयोध्या)! मवई थाना क्षेत्र के नेशनल हाइवे 27 के मवई चौराहे पर प्रवासी श्रमिक दुर्घटना के शिकार हो गए उन्हें कोई छूने की जहमत नही उठा रहा था जिस पर एक सिपाही ने मानवता दिखाते हुए घायलों को अस्पताल पहुचाया और उनकी जान बचाई।जिसकी खूब सराहना हो रही है।जानकारी के मुताबिक ग्राम सिरसिया जनपद सिद्धार्थ नगर निवासी राम दीन सोनी व अब्दुल्ला बाइक पर सवार होकर मुंबई से सिद्धार्थ नगर जा रहे थे कि अज्ञात वाहन की टक्कर से दोनो मवई चौराहे के निकट दोनो श्रमिक दुर्घटना ग्रस्त हो गए और घायलावस्था में सड़क पर कड़ी धूप में तड़प रहे थे।सड़क दुर्घटना के बाद आस पास के ग्रामीण एकत्र तो हो गए लेकिन मुंबई का प्रवासी श्रमिक होने के कारण घायलों को छूने की किसी की हिम्मत नही हुई।तभी पीआरवी 924 के साथ पास से गुजरे मवई थाना में तैनात सिपाही अनुज कुमार ने दोनो घायलों को तड़पता देखकर उन्हें अकेले उठाकर पीआरवी में लाद कर सीएचसी मवई पहुचाया।इस पर अनुज कुमार के मानवता को देखकर लोगो अवाक रह गए।और उसके कार्य की सराहना हो रही है।प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि जिस घायल को लोग कोरोना संक्रमित समझकर छूना नही चाहते थे उसे सिपाही ने खुद उठाकर अस्पताल पहुचाया और अस्पताल पहुचकर दोनो घायलों का इलाज कराया और खुद को सेनिटाइज किया।कांस्टेबल अनुज ने बताया कि हम पुलिसकर्मियों का कर्तव्य है कि घायल व असहाय की मदद करे।यदि मैं घायलों को न उठाता तो शायद उनकी तड़पकर मौत हो जाती।चिकित्सा अधीक्षक सीएचसी मवई डॉ रविकांत वर्मा ने बताया कि उपचार और जांच के बाद दोनों घायलों को गंभीर हालत में जिला अस्पताल रेफर किया गया था।वही घायलों को लाने वाले सिपाही को सेनिटाइज किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News