अयोध्या : तो क्या पकड़िया गांव के प्रधान खुद अपने गांव के विद्यालय में होंगे क्वारंटीन

स्वास्थ्य विभाग की ओर से बनाई गई सूची में प्रधान का नाम शामिल,बनारस के लंगर में शामिल होकर लौटे है ग्राम प्रधान सहित दो दर्जन लोग।

मवई(अयोध्या) ! जिलाधिकारी अनुझ झां के आदेश पर जिले के सभी ग्राम पंचायतों में अस्थाई क्वारन्टीन सेंटर तैयार किए जा रहे है।जहां बाहर से आए विदेशी व परदेशियों को रखा जा रहा है।इनके खानपान की व्यवस्था से लेकर सोने और चिकित्सा सुविधाओं तक के लिए कर्मचारी नियुक्त किए गए है।ऐसे में मवई थाना क्षेत्र के पकड़िया गांव ग्राम प्रधान के सामने भी संकट खड़ा हो गया है।सीएचसी अधीक्षक पीके गुप्ता ने बताया एएनएम द्वारा भेजी गई सूची में ग्राम प्रधान का भी नाम है।जिसकी पुष्टि एएनएम फरीदा खातून ने भी किया है।वो इसलिए चूंकि वे खुद हफ्तेभर वाराणसी के एक लंगर कार्यक्रम में शामिल होकर लौटे है।अब अपनी पंचायत के 27 परदेशियों के साथ खुद को भी प्राथमिक विद्यालय में ही क्वारन्टीन होना उनकी मजबूरी बन गई है।ग्राम प्रधान ताज मोहम्मद ने बताया कि वो आस पास गांव सहित अन्य लगभग 25 लोगो के साथ बनारस में अपने गुरु के कार्यक्रम में शामिल हुए थे।इन्होंने बताया वहां के डीएम ने बस द्वारा हम सभी की जांच कराकर सरकारी बस द्वारा यहां पांच दिन पूर्व भेजा था।हमें क्वारंटीन होने की जरूरत नही है।मवई के बीडीओ राम विकास राम ने बताया कि ब्लॉक क्षेत्र 55 ग्राम पंचायतों कुल 58 अस्थाई क्वारंटीन सेंटर बनाया गया है।रुदौली के उपजिलाधिकारी विपिन सिंह ने बताया जो भी बाहर से आया है उसे अस्थाई क्वारंटीन सेंटर में ही रहना पड़ेगा वो चाहे प्रधान हो या फिर आमजन।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News