अयोध्या जिला

अयोध्या: उप शिक्षा निदेशक कार्यालय की सैकड़ों फाइलें आग में जलकर राख

अयोध्या : अयोध्या जिले में सिविल लाइन स्थित शिक्षा भवन के कमरे में सोमवार की सुबह आग लग गई। आग लगने से उप शिक्षा निदेशक कार्यालय में रखी सैकड़ों महत्वपूर्ण अभिलेख व फाइल जलकर राख हो गई। आग लगने का कारण केबिल में शार्ट सर्किट बताया जा रहा है।

उप शिक्षा निदेशक अयोध्या एवं देवीपाटन मंडल कार्यालय के एक कमरे में सोमवार को सुबह लगभग 8.30 बजे जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय को जाने वाली विद्युत लाइन की केबल में शार्ट सर्किट हो गया। जिस कमरे में आग लगी वह उप शिक्षा निदेशक कार्यालय के प्रधान सहायक का कमरा था।
प्रधान सहायक रामदुलार ने बताया कि डीआईओएस कार्यालय को जाने वाली केबल में शॉर्ट सर्किट के कारण कमरे में रखी सैकड़ों फाइलें जलने लगी। शिक्षा भवन में चौकीदार की ड्यूटी कर रहे ओमप्रकाश ने कमरे से धुआं उठता देख अधिकारियों व कर्मचारियों को सूचना दी। सूचना पाते ही उप शिक्षा निदेशक कार्यालय के सभी कर्मचारी शिक्षा भवन पहुंच गए।

प्रधान सहायक ने बताया कि कर्मचारियों ने शिक्षा भवन स्थित नल से बाल्टी में पानी भर के किसी तरह आग पर नियंत्रण कर लिया। हालांकि इस दौरान कर्मचारियों ने कमरे में रखे कंप्यूटर व अलमारियों को सुरक्षित बचा लिया लेकिन इस दौरान आग के कारण इस कमरे में रखी माध्यमिक शिक्षा विभाग से जुड़ी फाइलें, प्रबंध समिति के अभिलेख, प्रशासनिक योजना राजकीय प्रबंध की फाइलें एवं शिक्षकों व कर्मचारियों की पेंशन के अभिलेख पूरी तरह से जलकर राख हो गए। यह सभी फाइलें देवीपाटन मंडल के जनपदों से संबंधित थी।हालांकि कर्मचारियों ने अग्निशमन दस्ते को कोई सूचना आग लगने की नहीं दी लेकिन उप शिक्षा निदेशक कार्यालय के प्रधान सहायक की ओर से आग लगने की प्रथम सूचना रिपोर्ट नगर कोतवाली में दी गई है। आग लगने की बड़ी घटना होने के बावजूद मौके पर न तो उप शिक्षा निदेशक दिखाई दिए और न ही जिला विद्यालय निरीक्षक आए। कर्मचारियों ने घटना की सूचना अपने उच्चाधिकारियों को दी है।

शिक्षा भवन में आज तक नहीं लगा अग्निशमन यंत्र

शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारियों की लापरवाही का आलम यह है कि जिस शिक्षा भवन में अयोध्या एवं देवापाटन मंडल के नौ जनपदों के हजारों कर्मचारियों, शिक्षकों एवं माध्यमिक विद्यालयों के महत्वपूर्ण रिकॉर्ड रहते हैं। उस शिक्षा भवन में एक भी अग्निशमन यंत्र नहीं स्थापित है।
सोमवार को जब शिक्षा भवन के उच्च शिक्षा निदेशक कार्यालय के एक कमरे में आग लगी उस समय भी बाल्टियों से पानी भरकर आग बुझाई गई। लापरवाही की सीमा यह है कि शिक्षा भवन के अधिकारी अग्निशमन यंत्र की स्थापना आज तक नहीं करा पाए और न ही जिला प्रशासन ने शिक्षा भवन में अग्निशमन यंत्र स्थापित किए जाने संबंधी कोई दिशानिर्देश जारी किया ।

यह संयोग ही था कि कर्मचारियों ने आनन-फानन में विद्युत उपकेंद्र सिविल लाइन के कर्मचारियों को बुलवाकर बिजली की लाइन कटवाई। अन्यथा शिक्षा भवन में बड़ी घटना हो सकती थी।इस संबंध में उप शिक्षा निदेशक अयोध्या एवं देवीपाटन मंडल सूरज नारायण मिश्र ने बताया कि आग लगने की एफआईआर के लिए तहरीर पुलिस को दी गई है। क्योंकि तुरंत आग पर काबू पा लिया गया था इसलिए फायर ब्रिगेड को नहीं बुलाया गया। उन्होंने बताया कि भविष्य में ऐसी कोई घटना ना हो इसके लिए शीघ्र ही शिक्षा भवन में अग्निशमन यंत्र लगाए जाने की व्यवस्था कराई जाएगी। उप शिक्षा निदेशक ने बताया कि वह अपने किसी संबंधी की मृत्यु में शामिल होने गए थे, इसलिए कार्यालय नहीं पहुंच पाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *