500 रूपए रिश्वत न देने पर जन्म प्रमाण पत्र में दो सगे भाईयों की उम्र 100 साल बढ़ाकर दर्ज कर दी

बरेली. उत्तर प्रदेश के बरेली जिले में रिश्वत नहीं देने पर दो सगे भाईयों की उम्र 100 साल बढ़ा दी गई। आरोप है कि, ग्रामीण विकास अधिकारी सुशील चंद्र अग्निहोत्री व ग्राम प्रधान प्रवीण मिश्र ने आवेदक से 500 रुपए की रिश्वत मांगी थी। नहीं देने पर आवेदक के बड़े भतीजे की उम्र चार को 104 और छोटे भतीजे की उम्र दो साल के बजाय 102 साल दर्ज कर दी गई। अभिभावक ने इसके खिलाफ अदालत का दरवाजा खटखटाया है। बरेली की विशेष न्यायाधीश भ्रष्टाचार निवारण कोर्ट ने आरोपित वीडीओ व ग्राम प्रधान पर केस दर्ज करने व विस्तृत तफ्तीश का आदेश खुटार पुलिस को दिया है।

चार साल की जगह 104 और दो साल के बजाय 102 साल दर्ज किया

बरेली जिले के बेला गांव के पवन कुमार ने अपने भतीजे शुभ चार वर्ष व संकेत दो वर्ष का जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन किया था। आरोप है कि ग्राम विकास अधिकारी सुशील चंद्र अग्निहोत्री व ग्राम प्रधान प्रवीण मिश्र ने आवेदक से प्रति जन्म प्रमाण पत्र 500 रुपये की रिश्वत मांगी। पवन ने इन्कार कर दिया तब दोनों ने मिलकर अजब खेल खेला। जन्म प्रमाण पत्र तो बना मगर शुभ की जन्मतिथि 13 जून 2016 के स्थान पर 13 जून 1916 लिख दी। जबकि संकेत की जन्म तिथि 6 जनवरी 2018 की जगह 6 जनवरी 1918 दर्ज करके प्रमाण-पत्र जारी कर दिए।

पुलिस बोली- मिला कोर्ट का आदेश, कानूनी कार्रवाई जारी

यह वाकया दो महीने पहले हुआ। इसके खिलाफ पवन कुमार ने अधिकारियों से शिकायत की। लेकिन कोई सुनवाई न होने पर अधिवक्ता राजीव सक्सेना के माध्यम से बरेली की विशेष न्यायाधीश द्वितीय भ्रष्टाचार निवारण कोर्ट में अर्जी दी थी। विशेष न्यायाधीश मुहम्मद अहमद खां ने थाना खुटार की पुलिस को मुकदमा दर्ज करके मामले की तफ्तीश किए जाने के आदेश दिए हैं। पुलिस ने कहा कि अदालत के मुकदमा दर्ज करने का आदेश मिल गया है। कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News