सीएए और विकास पर हम बहस को तैयार: अखिलेश

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को कहा कि वह नागरिकता कानून और विकास को लेकर भाजपा के लोगों से बहस के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल हो रहा है वो राजनीति करने वालों की भाषा नहीं है। यहां “ठोक देंगे” और “ज़ुबान खींच” लेंगे जैसी भाषा का इस्तेमाल भाजपा कर रही है। बहुमत से भाजपा आम लोगों की आवाज नहीं दबा सकती है।

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता रहे जनेश्वर मिश्र की 10वीं पुण्यतिथि के मौके पर अखिलेश उन्हें श्रद्धांजलि देने जनेश्वर मिश्र पार्क पहुंचे थे। यहां उन्होंने पत्रकारों से बातचीत के दौरान भाजपा पर जमकर हमला बोला। अखिलेश ने कहा- भाजपा जब चाहे तब वह विकास के मुद्दे पर उनसे बहस करने को तैयार हैं। भाजपा हमको जगह और मंच के बारे में बता दे। सपा ही सिर्फ सीएए का विरोध नहीं कर रही है, बल्कि महिलाओं ने भी इसका विरोध किया है। धर्म के नाम पर नागरिकों के साथ भेदभाव कब तक भाजपा वाले करेंगे। वोट के लिए भारत की आत्मा को क्यों खत्म कर रही है भाजपा?

जनता को मुद्दों से भटकाने की कोशिश कर रही भाजपा
अखिलेश यादव ने कहा कि बहस का मुद्दा विकास होगा, नौकरियां होंगी, किसानों के मुद्दे होंगे, नौजवानों के मुद्दे होंगे। भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगाया और कहा कि भाजपा लगातार मुद्दों से भटकाने की राजनीति कर रही। खासतौर से पूरे देश को जाति और धर्म के नाम पर बांटकर नफरत फैला रही है।

समानता के लिए छोटे लोहिया ने संघर्ष किया
उन्होंने कहा कि “समाज में समानता के लिए छोटे लोहिया के नाम से मशहूर जनेश्वर मिश्र ने संघर्ष किया। समाज में खाई को पाटने का काम किसी ने किया तो वे छोटे लोहिया ही थे। जो रास्ता छोटे लोहिया ने दिखाया उसी रास्ते पर हम चलेंगे।” उन्होंने जातीय जनगणना की मांग को लेकर कहा कि जातीय जनगणना से भाजपा क्यों डर रही है। अगर जातीय जनगणना हो जाए तो हिन्दू-मुस्लिम का झगड़ा खत्म हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News