प्रयागराज: रचना शुक्ला केस: 4 साल बाद मर्डर का खुलासा, सलमान ही निकला हत्यारा


आशिक ने दोस्तों के साथ मिलकर घर में रेता था गला, फिर मामा की मदद से डेड बॉडी को लगा दिया था ठिकाने

-मां की दायर रिट को हाईकोर्ट ने केस को लिया संज्ञान तो एसटीएफ ने किया ब्लाइंड मर्डर केस का खुलासा

PRAYAGRAJ: चार साल पहले घर से गायब हुई रजना की हत्या कर उसके आशिक ने ही पेट्रोल से शव को जला कर शिनाख्त तक मिटा दी थी। मां की रिट पर हाईकोर्ट ने फटकार लगाई तो रचना के साथ दफन केस की फाइल ओपेन हो गई। इस ब्लाइंड मर्डर केस के खुलासे में एसटीएफ तक को लगा दिया गया। हत्या की जिस फाइल को दारागंज पुलिस रद्दी की टोकरी में डाल दी थी, वह खुली तो कत्ल का राज एक-एक कर खुलता चला गया। एसटीएफ टीम ने कत्ल के आरोपित आशिक व उसके दोस्त को अरेस्ट कर लिया।

16 अप्रैल 2016 को हुई थी लापता

पुलिस उपाधीक्षक नावेंदु कुमार ने बताया कि आज से चार साल पूर्व 16 अप्रैल 2016 को दारागंज के बेणी माधव मंदिर गली निवासी रचना शुक्ला गायब हो गई थी। उसकी मां उमा शुक्ला की तहरीर पर दारागंज थाने में मुकदमा दर्ज हुआ। मुकदमा अपराध संख्या 196/2016 व धारा 363/366 है। उसकी मां ने सलमान पुत्र साजिद अली उर्फ लल्लन निवासी बक्सीखुर्द दारागंज को नामजद किया था। कुछ अज्ञात के खिलाफ भी रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। दारागंज पुलिस रिपोर्ट दर्ज कर फाइल को रद्दी की टोकरी में डाल दी। उधर बेटी की तलाश में परेशान उमा शुक्ला ने हाईकोर्ट में रिट दायर कर दी। केस को हाईकोर्ट ने संज्ञान में लिया तो पुलिस अफसरों की बोलती बंद हो गई। आनन-फानन में केस रि-ओपेन हो गया और जांच शुरू हो गई। प्रकरण में आरोपित सलमान व उसके दोस्त लकी पंडा उर्फ लकी निवासी मीरागली दारागंज को नागवासुकी मंदिर के पास गिरफ्तार कर लिया।

स्कूटी को लेकर हुआ था विवाद

एसटीएफ के मुताबिक पूछताछ में सलमान ने बताया कि रचना से उसके संबंध 2015 से थे। 2016 में उसने रचना को एक स्कूटी खरीदकर दी थी। रचना चाहती थी कि स्कूटी का रजिस्ट्रेशन उसके नाम से करवा दिया जाय। जबकि सलमान ने रजिस्ट्रेशन अपने नाम करवा रखा था। विवाद हुआ तो सलमान से रचना दूर हो गई। जुदाई के बाद सलमान ने रचना की हत्या का मन बना लिया। दोस्त लकी से अपनी मंशा बताते हुए रचना को बुला लिया। सलमान रचना को लेकर अपने घर के बेसमेंट में बने कमरे में जा पहुंचा। बेसमेंट में लकी और दोस्त अंजफ पहले से थे। दोनों को देख रचना समझ गई और भागने लगी। यह देख तीनों ने मिलकर गला रेतकर उसकी हत्या कर दी। इसके बाद सलमान ने यह जानकारी मामा शरीफ को दी। शरीफ अपनी फॉर्चूनर गाड़ी लेकर पहुंचा और सभी बॉडी को लेकर नवाबगंज एरिया जा पहुंचे। वहां बोरे में भरकर बॉडी फेंक दी। बाद में लकी और सलमान पेट्रोल लेकर बाइक से फिर बॉडी के पास गए और शिनाख्त मिटाने के लिए जला दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Content is protected !! © KKC News