रुदौली : एसडीएम से नाराज अधिवक्ताओं ने की नारेबाजी[संतीश यादव-ब्यूरो रिपोर्ट]

कार्यकारिणी के सदस्यों व पदाधिकारियों की अनुपस्थिति में बार रूम में अधिवक्ताओं ने मीटिंग कर कार्यकारिणी को किया भंग,एल्डर्स कमेटी घोषित

अयोध्या ! तहसील रूदौली बार एसोसिएशन के प्रस्ताव को न मानने पर अधिवक्ताओं ने नारे बाज़ी शुरू की जिससे उपजिलाधिकारी कोर्ट छोड़ कर चली गयी।अधिवक्ताओं की मांग पर बार एसोसिएशन द्वारा मीटिंग न बुलाने पर अधिवक्ताओं ने मीटिंग कर कार्यकारिणी को भंग करने की घोषणा कर एल्डर्स कमेटी का भी गठन कर दिया।
जानकारी के अनुसार बार एसोसिएशन की ओर से न्यायालयों पर प्रस्ताव भेजा गया था कि आज 12 बजे से मीटिंग है इस कारण आज कार्य बहिष्कार रहेगा।उपजिलाधिकारी ज्योति सिंह ने प्रस्ताव को न मान कर कोर्ट पर बैठ कर मुकदमो में पुकार लगवाना शुरू कर दिया।उपजिलाधिकारी के रवैये से अधिवक्ता आक्रोशित हो गए और नारे बाज़ी शुरू कर दी।मामला बिगड़ते देख उपजिलाधिकारी कोर्ट से उठ कर चली गयी।अधिवक्ताओं का गुस्सा अभी कम नहीं हुआ।अधिवक्ताओं ने बार के अध्यक्ष व् महामंत्री से मीटिंग बुलाने की मांग की।बार की ओर से मीटिंग न बुलाने पर अधिवक्ताओं ने अपना अपमान मानकर पूर्व अध्यक्ष अफसर रज़ा रिज़वी की अध्यक्षता में मीटिंग कर सर्वसम्मति से अध्यक्ष इंद्रसेन मिश्रा व् महामंत्री रमेश चंद्र शुक्ला के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव पारित कर एल्डर्स कमेटी का गठन कर समस्त कार्यभार एल्डर्स कमिटी को सौंप दिया।पूर्व अध्यक्ष अफसर रज़ा रिज़वी ने बताया कि सर्वसम्मत्ति से राम नरेश यादव को एल्डर्स कमेटी का चेयरमैन व् सर्वदमन पाण्डेय,अब्दुल हई खान,सत्यनाम सिंह,इम्तियाज़ अहमद व् कमलेश मिश्रा को सदस्य बनाया गया है।उन्होंने बताया कि मीटिंग में गया शंकर कश्यप,अब्दुल हई खान,राम भोला तिवारी,मो0 फहीम खान,शकील अहमद,गोरखनाथ तिवारी,रमेश सिंह,संतोष कुमार श्रीवास्तव,अली हैदर,बालेन्द्र सिंह,चौ0 अजीमुद्दीन,संतोष पाण्डेय,कुलभूषण यादव,साहेब सरन वर्मा,अमर सिंह,ओम प्रकाश,अजय यादव,हरिश्चन्द्र,प्रमोद द्विवेदी,अरविन्द शुक्ला,वेद तिवारी,गोविन्द प्रताप सिंह सहित 100 से अधिक अधिवक्त मौजूद थे।बार के अध्यक्ष इंद्रसेन मिश्रा ने बताया कि उपजिलाधिकारी से प्रस्ताव के विरुद्ध कार्य करने के बारे में बात करने पर उन्होंने बताया कि आप अपना काम करिये हम अपना काम करेंगे हम पुकार लगवाएंगे जो आयेगा उसकी सुनवाई करेंगे।बार के प्रस्ताव के विरुद्ध उपजिलाधिकारी ने कोर्ट पर मुकदमो की पुकार क्यों कराया और इससे उपजे विवाद को लेकर कार्यकारिणी की बैठक की गयी है।इस सम्बन्ध में एक कमेटी कल उपजिलाधिकारी से वार्ता कर रिपोर्ट देगी उसके बाद अग्रिम निर्णय लिया जायेगा।उन्होंने कहा कि बिना बार की अनुमति के मीटिंग अवैध है।बाइलॉज का अवलोकन कर जो नियमानुसार सही होगा वो किया जायेगा।उपजिलाधिकारी ज्योति सिंह ने बताया कि अधिवक्ता गण की मीटिंग 12 बजे से होनी थी इसलिए 12 बजे तक महत्वपूर्ण फाइलें जैसे हाइ कोर्ट के निर्देश व धारा 24 की कुछ फाइल की सुनवाई हो जाये।वैसे महामंत्री ने कहा था कि अब एक सप्ताह कोई बहिष्कार नहीं होगा।अधिवक्ता गण की नारेबाजी की वजह से कोर्ट नहीं चल सकी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News