अयोध्या ! 551 सुहागिन महिलाओं ने अवसान मैया की पूजा कर मांगी देश की सलामती

दुबारा सांसद व प्रधानमंत्री बनने पर सामूहिक दुरदुरिया का आयोजन,मवई ब्लॉक के रानीमऊ गांव के प्रधान प्रतिनिधि रमेश चंद्र गुप्त के संयोजन में आयोजित हुआ कार्यक्रम।

मवई(अयोध्या) ! विकासखंड मवई अंतर्गत रानीमऊ गांव में स्थित श्री श्री सर्वेश्वर महादेव मंदिर के परिसर में भव्य दुरदुरिया कथा का आयोजन किया गया।जिसमें 551 सुहागिन महिलाओं ने अवसान मैया की विधिवत पूजन अर्चन कर देश मे अमन चैन कायम रहने की प्रार्थना की।
दरअसल रानीमऊ गांव के प्रधान प्रतिनिधि रमेश चंद्र गुप्त की पत्नी सुमित्रा देवी ने सांसद लल्लू सिंह के जीतने व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दुबारा प्रधानमंत्री बनने के लिये अवसान मैया से मनौती मांगी।मनौती पूर्ण होने पर गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पद व गोपनीयता की शपथ लेने के दौरान ही रानीमऊ गांव में भव्य अवसान मैया की कथा व सामूहिक दुरदुरिया समारोह का आयोजन किया गया।इस यादगार धार्मिक आयोजन के सूत्रधार प्रधान प्रतिनिधि रमेश चंद्र गुप्त आयोजन की सफलता के लिए पिछले सप्ताह भर से नौ गांव रानीमऊ,रानीमऊ चौराहा, बकौली,कायमपुर,लालपुर,इम्तियाज नगर, बाकरपुर,रमई का इंदारा आदि गांव की सुहागिनों महिलाओ से संपर्क कर इस कार्यक्रम में आने की अपील कर रहे थे।और सुबह से ही सुहागिन महिलाओं का जमावड़ा शुरू हो गया था। प्रातः 10 बजे सैकडों की संख्या में सुहागिन महिलाओं ने 14-14 महिलाओं का अलग अलग समूह बनाकर दुरदुरिया (पेड़ा लैया चना आदि) चबाते हुए माता दुर्गा की स्वरुप अवसान मैया की सामूहिक रूप से पूजा अर्चना कर देश की सलामती की कामना की।सुहागिन महिलाओं के समूह का नेतृत्व कर रही रानीमऊ कि पूर्व प्रधान सुमित्रा देवी के कुशल देखरेख में दूर दराज से आई महिलाओं ने पूरे विधि-विधान से गोलाकार चौक पूरी कर मां दुर्गा की स्वरूप अवसान मैया की पूजन कलश की स्थापना के साथ किया।बाद में सुमित्रा गुप्ता व पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष मीना गुप्ता ने सैकडों की संख्या में दुरदुरिया माता की पूजन अर्चन में साक्षी बनी सुहागिन महिलाओं को प्रसाद आदि ग्रहण कराकर सम्मान के साथ वस्त्र के रूप में अंगौछा देकर विदाई किया।ममतामयी अवसान मईया के इस भव्य आयोजन में प्रेमलता,सुषमा गुप्ता,सुषमा सैनी, रेनू मिश्रा,सुमित्रा मिश्रा,यशोदरा मिश्रा,पुष्पा मिश्रा,केवला देवी जायसवाल,सीमा गुप्ता सविता गुप्ता,राधा गुप्ता,सरोजनी सैनी,रघुनंदन चौरसिया,पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष राम नरेश गुप्ता,लाल जी मिश्र,रमेश चंद्र गुप्त,लल्लन प्रसाद,मोल्हे,मातादीन,राम उजागिर रावत, संतोष जायसवाल,शनि गुप्ता,अशर्फी लाल रावत,राम नेवाज,राम बरन चौहान,हाफिज जफरुल खां,शाहिद खा,फुरखान,गौस खा, एनुल हसन,नुरुल हसन,सहित सैकडों की संख्या में लोग उपस्थित रहे।

अवसान मैया (दुरदुरिया की पौराणिक कथा)

पूर्व प्रधान सुमित्रा देवी कथा सुनाते हुए बताया कि त्रेतायुग अर्थात रामायण काल में सूर्यवंश शिरोमणि राजा चक्रवर्ती सम्राट दशरथ जी जब राम सहित चारों पुत्रों को ब्याह कर बहू के साथ अयोध्या राजमहल पहुंचे तो सुहाग की रक्षा के लिए व सौभाग्यवती महिलाओं के सम्मान के लिए दुरदुरिया चबाकर अवसान मैया का विशेष पूजन अर्चन कर सुहाग की सलामती की कामना की थी। और सभी अयोध्या वासियों को प्रसाद ग्रहण करवाया था। तभी से यह परंपरा कायम है।इनका मानना है कि राजा दशरथ ने अवसान मैया का पूजन समाज में आपसी प्रेम सौहार्द सुहाग की रक्षा और विश्व रूपी परिवार के सुख समृद्धि के लिए की थी।इसी उद्देश्य से इन्होंने भी इस धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News