जांच के दौरान मरीज के पेट में दिखा 6 इंच का रिंच

वाराणसी। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में गैस का इलाज कराने पहुंचे एक मरीज के एक्स रे के दौरान उसके पेट में नट बोल्ट खोलने वाला छह इंच का रिंच पाया गया।

हालांकि मरीज मानसिक बीमारी से ग्रसित है। डॉक्टरों के मुताबिक मरीज का इलाज शुरू कर दिया है। दवा की मदद से रिंच को पास आउट कराने का प्रयास किया जा रहा है।

बुधवार को पेट में दर्द होने के बाद लोहता भट्टी गांव के दिलीप को परिजनों ने बीएचयू के गैस्ट्रोलॉजी डिपार्टमेंट में दिखाया। वहां एक्स रे में उसके पेट में नट बोल्ट खोलने वाला रिंच पाया गया। रिंच बड़ी आंत के आखरी हिस्से में फंसा हुआ है।

मेडिकल सर्जन डा वी एन मिश्रा ने बताया मरीज मानसिक बीमारी मैक्लो फिलिया से ग्रस्त है। करीब 25 दिनों पहले मरीज ने रिंच खाया होगा। पेट दर्द होना बीमारी का लक्षण है। फिलहाल प्रयास किया जा रहा है कि दवा से पास आऊट हो जाए।

इधर एक अन्य डॉक्टर तिवारी ने बताया प्रयास किया जा रहा है कि दवा के जरिये मल के साथ रिंच बाहर आ जाए। अभी तक रिंच टेढ़ा नहीं हुआ है।

स्ट्रेट होने की वजह से तीन स्थानों से पेट में पास हुआ है। आपरेशन बहुत ही क्रिटिकल है। जहा रिंच है ,वहा कुछ ऐसी नसे हैं, जिनका संपर्क सीधे हार्ट से होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News