आस्था के आगे दर्द व ठंड भी खा रही मात,आठवीं बार वैष्णों माता दंडवत यात्रा पर निकले सोहावल क्षेत्र के बाबा राम अभिलाष

विश्व शान्ति जनकल्याण व राम मंदिर के लिये बीते 17 दिन से कर रहे दंडवत यात्रामवई(अयोध्या) ! विश्वशांति जनकल्याण व राममंदिर निर्माण के लिए अवध क्षेत्र के बाबा राम अभिलाष आठवीं बार माता वैष्णों की दंडवत यात्रा पर निकल चुके हैं।बीते 17 नवम्बर को अवधधाम से चले रामप्रीत मंगलवार की शाम को रुदौली पहुंचे।यहां राहगीरों ने उनका स्वागत किया।इनकी आस्था के आगे दर्द सर्द गर्म भी हार गई।दिन में तेज धूप व रात में ठंड होने पर भी ये एक अचला के सहारे दंडवत यात्रा कर रहे है। अयोध्या जिले के गांव रामनगर धौरहरा थाना रौनाही निवासी 70 वर्षीय बाबा राम अभिलाष ने बताया कि वे अवधधाम के नयाघाट से जल लेकर माता वैष्णो देवी की दंडवत यात्रा पर निकले है।वे बिना किसी के सहयोग से अकेले यात्रा कर रहे है।इन्होंने बताया कि विश्व शांति जनकल्याण व राम मंदिर निर्माण के लिए ये उनकी आठवी संकल्प यात्रा है।इससे पूर्व इन्होंने सबसे पहली बार 27 नवम्बर 2004 में ये यात्रा शुरू की थी।नयाघाट से जल लेकर कटरा नवाबगंज गनेशपुर महादेवा नैमिषारण्य मुरादाबाद हरिद्वार लुधियाना पठान कोठ होते हुए माता के दरबार पहुंचे थे।पहली यात्रा इन्होंने दस माह 13 दिन में पूरी की थी।दूसरी यात्रा 2007 में अयोध्या फैजाबाद लखनऊ होते हुए की थी।इसी तरह अब तक इन्होंने सात यात्राएं की है।ये बताते हैं कि प्रतिदिन दंड देते हुए 7 से 10 किलोमीटर की यात्रा पूरी कर रहे है।और फिर रात्रि विश्राम के बाद भोर होते ही वो पुनः अग्रिम यात्रा की और चल देते है।तहसील रुदौली के पटरंगा थाना अंतर्गत गनौली गांव पहुंचे बाबा राम अभिलाष को देख राहगीर तो अचंभित ही रहे।लेकिन गनौली गांव के लोग इनसे पहले से परिचित थे।जिससे लोगों ने उनका स्वागत करते हुए रात्रि विश्राम हेतु अवध प्रसाद सरस्वती संस्कृत उच्चतर माध्यमिक विद्यालय जरायल कला में स्थान दिया।जहां उन्होंने विश्वशांति व राम मंदिर निर्माण के यज्ञ भी किया।विद्यालय के संरक्षक अशोक तिवारी ने बताया कि हाथ में डंडी नंगा बदन ये बाबा एक बॉक्स को घसीटते हुए हर दूसरे तीसरे वर्ष इसी राष्ट्रीय राजमार्ग की पटरी पर लेट लेट कर परिक्रमा करते हुए देखे जाते है।इनके आगे पीछे कोई सहयोगी नही रहता।जो भी इन्हें देखता वही राम अभिलाष को प्रणाम कर देखता रहता।बाबा राम अभिलाष ने बताया जब माता मुझे बुलाती है तब मैं चल देता हूँ।इन्होंने राम मंदिर निर्माण में हो रही बाधा का जिम्मेदार अयोध्या के संत महात्माओं को ठहराया।इन्होंने कहा कि धर्मसभा आदि से कुछ नही होगा।राम मंदिर का निर्माण होगा और भाजपा ही निर्माण करवाएगी।ये बात तय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News