अयोध्या : साहेब ये देखो ! मवई में भ्रष्टाचार का एक और जिन्न आया बाहर

कुचक्र रचकर पंचायत सचिव व प्रधान ने निकाल लिए 165576 रुपये

पूर्व प्रधान द्वारा कराए गए कार्य का सचिव ने बर्तमान प्रधान को किया भुकतान

अयोध्या जनपद के मवई ब्लॉक अंतर्गत बीबीपुर गांव का मामला

पूर्व प्रधान भुकतान के लिए अफसरों की शुरू की परिक्रमा

मवई(अयोध्या) : साहेब ! जरा गौर करे शौचालय घोटाला, कूड़ादान घोटाला,कुर्सी घोटाला,पौधरोपण घोटाले के बाद मवई ब्लॉक में भ्रष्टाचार व घोटाले का एक नया जिन्न बाहर आ गया है।यदि हमेशा की तरह इस बार भी ऐसे लोगों को छोड़ दिया गया तो भय मुक्त होकर सरकारी धन की लूट करने वाले लोग जहां एकदम से वेलगाम हो जाएंगे वही जिम्मेदार अफसरों से आमजनमानस का भी भरोसा टूट जाएगा।पूरा मामला मवई ब्लॉक के बीबीपुर ग्राम पंचायत से जुड़ा है।जहां पूर्व प्रधान द्वारा कराए गए पंचायत भवन निर्माण का बर्तमान प्रधान व सचिव ने मिलकर 1 लाख 65 हजार 576 रुपये निकालकर आपस में बांट लिया है।

बीबीपुर गांव की पूर्व प्रधान खुशनुमा बानो ने बताया उसने एक वर्ष पूर्व अपने कार्यकाल में पंचायत भवन के दो कमरों का निर्माण छत तक कराया था।जिसका जेई आरएस रिजवान अहमद ने 1लाख 65 हजार 5 सौ 76 रुपये की एमबी भी की थी।तात्कालिक पंचायत सचिव रजनीश वर्मा ने बीडीओ को दिए रिपोर्ट में भी कहा कि पूर्व प्रधान ने छत तक कार्य कराया था।जिसका भुकतान बाकी है।पूर्व प्रधान का आरोप है कि उन्होंने कई बार वर्तमान सचिव एडीओ बीडीओ को प्रार्थना पत्र देकर भुकतान करने का अनुरोध किया लेकिन भुकतान नही किया गया।अब बर्तमान सचिव ललिता ने बताया कि उनका भुकतान एक वर्ष पूर्व ही पंचायत सचिव रहे अमित गुप्त ने बर्तमान प्रधान शिव कुमार के खाते में भेज दिया है।

भुकतान के लिए बदली गई पत्रावली

इसे पंचायत सचिव की हिम्मत ही कही जाएगी कि पूर्व प्रधान द्वारा कराए गए कार्य का भुकतान बर्तमान प्रधान को कर दिया गया।इसके लिए सचिव ने पत्रावली में हेरफेर भी किया।पुराने फर्मो के बिल के कागज को बदलकर नए फर्म का बिल भी लगाया गया।और बर्तमान प्रधान द्वारा दिए गए नए फर्म के बिलों पर भुकतान किया।जिसकी पुष्टि स्वयं पंचायत सचिव अमित गुप्त ने की है।

लाभ के चक्कर में हो चुके है सस्पेंड

पंचायत सचिव अमित गुप्त अपनी मनमानी व लाभ के चक्कर में सस्पेंड भी हो चुके है।सूत्र बताते है।कि अभी हाल ही के दिनों में वे बहाल भी हुए है।बहाल होते ही इनके द्वारा किए गए भ्रष्टाचार का एक नया जिन्न बाहर आ गया है।जिसकी जांच अभी तक बीडीओ स्तर पर रुकी रही है।जो अब क्षेत्रीय विधायक रामचंद्र यादव सहित उच्च अफसरों की चौखट तक पहुंच गई है।देखना ये है कार्यवाही को लेकर इस बार अफसरों की कलम कहां तक चलती है।इस बाबत मवई ब्लॉक के एडीओ पंचायत रविन्द्र वर्मा ने बताया बीबीपुर का मामला संज्ञान में आया है।आज जांच के लिए जाना था।लेकिन जिले की एक बैठक में अचानक आना पड़ा है।कल जांच में जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News