रूदौली(अयोध्या) :बेसहारा दलित मासूम बच्चों का सहारा बने समाजसेवी विनोद सिंह

बच्चों का भरण पोषण व बेटी की शादी का जिम्मा भी उठाएंगे।

माता की पहले और तीन दिन पूर्व गरीब पिता की भी हो गई मौत

पटरंगा थाना क्षेत्र के रमई इंदारा मजरे रानीमऊ गांव का मामला

मवई(अयोध्या) ! गरीब दलित परिवार में मां बाप की मौत के बाद वेसहारा हुए तीन मासूम बच्चों को संभालने का जिम्मा समाजसेवी विनोद सिंह ने उठा लिया है।उन्होंने प्रति माह बच्चों की पढ़ाई लिखाई के अलावा भरण पोषण के लिए अपने खर्च से 1500 रुपये प्रतिमाह देने के साथ साथ बेटी की शादी की भी जिम्मेदारी ली है।गुरुवार की शाम वे स्वयं मृतक के घर पहुंचकर 10 हजार रुपये की आर्थिक मदद की।इसके अलावा मृतक के तेरहवीं संस्कार की भी पूरी जिम्मेदारी ले ली है।

बताते चले कि रमई का इंदरा गांव निवासी हरिश्चन्द्र रावत पुत्र छोटेलाल उम्र करीब 45 वर्ष तीन दिन पूर्व गांव के समीप स्थित तालाब में मछली पकड़ने गया था।जहां उसे किसी जहरीले सर्प ने डस लिया।परिजन उसे पास के निजी अस्पताल में भर्ती कराने के बाद ट्रामा सेंटर लखनऊ ले गए।वहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।लोगों ने बताया कि उसकी पत्नी की मौत पहले ही हो गई थी।अब हरिश्चन्द्र की मौत के बाद उनके तीन छोटे छोटे बच्चे अनाथ हो गए।इस घटना की सूचना मिलते ही समाजसेवी विनोद सिंह गुरुवार की शाम मौके पर पहुंचे।और मृतक के मासूम बच्चों से मुलाकात की।मृतक के टूटे घर व मासूम बच्चों की स्थिति को देख समाजसेवी ने उनके भरण पोषण से लेकर बेटी की शादी की जिम्मेदारी उठाने का वादा किया।उन्होंने गांव वाले से कहा कि इन बच्चों की देख रेख आप लोग करें बाकी पूरी व्यवस्था मैं देखूंगा।इस अवसर गुड्डू खां जय सिंह वर्मा रमेशचंद्र गुप्ता जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि रमेश रावत तफज्जुल जय सिंह वर्मा प्रभात वर्मा कमलेश वर्मा आदि लोग समाजसेवी के साथ रहे।वहीं प्रधान प्रतिनिधि रानीमऊ सुनील मिश्र ने इन वेसहारा बच्चों को आवास दिलाने का हम पूरा प्रयास करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News