मिर्जापुर :एसटीएफ टीम को बड़ी सफलता,कंटेनर से साढ़े दस क्विंटल गांजा के साथ अंतरराज्यीय पांच तस्कर गिरफ्तार

वाराणसी : कंटेनर में फर्जी नंबर प्लेट लगाकर गांजा तस्करी का एक मामला सामने आया है।नारकोटिक्स विभाग व एसटीएफ की संयुक्त टीम ने वाराणसी में एक ऐसे कंटेनर को पकड़ा है।जिसमें से साढ़े दस क्विंटल गांजा बरामद हुआ।गिरफ्तार तस्करों ने इसमें शामिल कई मास्टरमाइंड के नाम खोले।
वाराणसी के मिर्जामुराद थाना के भिखीपुर गांव स्थित नेशनल हाइवे पर गांजा तस्करी में अंतरराज्यीय पांच तस्कर गिरफ्तार किए गए है।जिन्होंने कई राज भी उगले हैं। कंटेनर में फर्जी नंबर प्लेट लगाकर गांजा आंध्र प्रदेश से कुशीनगर के लिए भेजा जा रहा था।जिसकी भनक एसटीएफ व नारकोटिक्स विभाग को लग गई।लखनऊ के एसटीएफ प्रभारी करुणेश पांडेय ने बताया गिरफ्तार किए गए तस्करों से पूँछताक्ष के बाद उन्हें न्यायालय के समक्ष पेश किया गया है।जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।श्री पांडेय ने बताया पकड़े गए लोगो ने कुछ अन्य लोगों के बारे में बताई है।हमारी एसटीएफ टीम अब उन मास्टरमाइंड तक पहुंचने की योजना पर काम कर रही है।एसटीएफ प्रभारी करुणेश पांडेय के मुताविक कंटेनर में 10 क्विंटल 56 किलो गांजा बरामद किया गया। जिनकी अंतरराष्ट्रीय मार्केट में कीमत ढाई करोड़ रुपये आंकी गई है। गिरफ्तार आरोपियों में मुरादाबाद जिले के बेरठा मैनाखेर निवासी मोमिन, नफीस, मुकीम, वसीम और मुरादाबाद जिले के गाजीपुर (कुंदर) निवासी नसीम का नाम शामिल है।

एक ट्रक स्कार्पियो सहित कई मोबाइल। बरामद

एसटीएफ प्रभारी करुणेश पांडेय ने बताया तस्करों के पास से एक ट्रक, एक स्कार्पियो सहित सात मोबाइल बरामद हुआ है।मुकदमा दर्ज कर आरोपियों को न्यायालय में पेश किया गया।जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।इन्होंने बताया कि एसटीएफ की पूछताछ में तस्करों ने कबूला कि गांजा विशाखापट्टनम के रहने वाले मंगू दादा ने लोड कराया था।

चालक को मिलता ढाई लाख

गांजा की खेप बिहार के मोहितारी निवासी मनोज चौधरी ने मंगाई थी।जो कुशीनगर में रहता है।गांजा को आंध्र प्रदेश से यूपी पहुंचाने का प्रति चक्कर चालक को ढाई लाख रुपये मिलता था। वहीं अन्य लोगों को 50-50 हजार मिलता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News