अयोध्या : घूँघट व नकाब की आंड से महिला प्रधानों ने ली पद व गोपनीयता की शपथ

कोरोना काल की वजह से पहली बार वर्चुअल तरीके से प्रधानों व सदस्यों ने ली शपथ

कुल 55 प्रधानों में से 46 प्रधानों को बीडीओ ने क्रमवार दिलाई शपथ

शपथ कार्यक्रम के बाद बीडीओ ने सभी नवनिर्वाचित प्रधानो व सदस्यों को दी बधाई

मवई(अयोध्या) ! ब्लाक मवई में नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों व सदस्यों को बीडीओ द्वारा वर्चुअल विधि से उनके पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई गयी।कुछ महिला प्रधानों ने घूँघट व नकाब की आंड से ही शपथ ली।कोविड -19 के प्रभाव के चलते इस बार शपथ समारोह का कार्यक्रम ब्लॉक मुख्यालयों पर नही आयोजित किया गया।सभी प्रधान अपने अपने ग्राम पंचायत के ग्राम सचिवालयों में शोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए वर्चुअल विधि से क्रमवार शपथ ली।अपने निर्धारित समय से ऑनलाइन शुरू हुआ शपथ में बीडीओ मोनिका पाठक ने सभी ग्राम प्रधानों को लिंक जारी करते हुए क्रमवार एक एक ग्राम प्रधान को शपथ दिलाई।बीडीओ ने सर्वप्रथम ग्राम पंचायत रानीमऊ की प्रधान पुष्पा मिश्रा मवई की ख़िताबुलनिशा डिलवल की जहरुल सिपहिया कोटवा की हेमा यादव उमापुर की तारा देवी बसौड़ी रहमतुलनिशा को लिंक जारी करते हुए उनके पद व गोपनीयता को शपथ दिलाई।तत्पश्चात उन्हें नवनिर्वाचित प्रधान बनने की बधाई दी।उसके बाद एडीओ पंचायत राजीव श्रीवास्तव ग्राम पंचायतवार सभी ग्राम पंचायत सदस्यों को लिंक जारी करते हुए उन्हें शपथ दिलाई।इस प्रकार क्रमवार वर्चुअल शपथ का कार्यक्रम पूरे दिन चलता रहा।कुछ ग्राम पंचायतों में लिंक ओपन न होने के चलते ग्राम पंचायत सदस्य शपथ से वंचित रह गए।एडीओ पंचायत ने बताया जो लोग शपथ से छूट गए है वहा ग्राम पंचायत सचिवों को भेजकर शपथ दिलाई जा रही है।इन्होंने कहा आज हर हाल सभी ग्राम पंचायतों के प्रधान व सदस्य को शपथ दिला दी जाएगी।बीडीओ मोनिका पाठक ने बताया कि ब्लाक की कुल 55 ग्राम पंचायतों से नवनिर्वाचित प्रधानों में से 46 प्रधान ही शपथ ले सकें।

तो अभी नाम के ही रहेंगे मवई के नौ प्रधान

मवई ! कोरोना काल में सम्पन्न हुए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में काफी मशक्कत के बाद अपनों से भी जंग जीतकर बाद भले ही मवई के 55 लोग प्रधानी का ताज पहन चुके है।लेकिन बन गए लेकिन बुधवार को इनमें से 9 प्रधान शपथ नही ले सके।इसे उनकी किस्मत कहे या फिर चुनावी रणनीति की गलती कि उनको प्रधान बनने के बाद भी गवई सत्ता संभालने के लिए अभी और इंतजार करना पड़ेगा।

इंतजार की घड़ी खत्म लेकिन कुछ को अभी भी करना होगा इंतजार

कोरोना काल में मवई ब्लाक के 55 ग्राम पंचायतों के लिए प्रधानी के साथ सदस्य पद का भी चुनाव सम्पन्न हुआ।त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव सम्पन होने के बाद दो मई को मतगणना शुरू हुई और तीन मई की शाम तक परिणाम भी सभी के सामने आ गए।जीते हुए प्रत्याशी और उनका परिवार खुशियां मना रहे थे।जो विरोध में थे अब वे भी पाला बदल चुके हैं।निर्वाचित होने के बाद से ही सभी प्रधान शपथ ग्रहण का इंतजार कर रहे थे।लेकिन कोरोना की वजह से शपथ कार्यक्रम बढ़ता चला गया। रविवार को वह दिन भी आ गया।लेकिन इसमें सिर्फ 46 प्रधान ही शपथ ले पाए जबकि 9 प्रधान शपथ से वंचित रह गए।

शपथ लेने में ये नियम बन गया बाधा

मवई के 55 में से 9 प्रधान शपथ नही ले सके।ऐसा उन नियम कानून की वजह से हुआ जिसके अनुसार शपथ ग्रहण के समय प्रधान के साथ ग्राम पंचायत के दो तिहाई सदस्य भी मौजूद होने चाहिए। प्रधानी चुनाव में कुछ प्रत्याशी इस नियम की अनदेखी कर मैदान में उतर गए। उन्होंने ग्राम पंचायत सदस्य पद के नामांकन पर ध्यान ही नहीं दिया था। अब स्थिति यह है कि आधा दर्जन गांवों से अधिक गांवों में प्रधान तो चुन गए हैं, लेकिन ग्राम पंचायत सदस्य एक भी नहीं है अथवा बहुत कम संख्या में हैं। जो दो तिहाई का मानक पूरा नहीं कर रहे।कई प्रधान तो शपथ न दिलाये जाने के बाद जब “क्यों” का सवाल दागा तो उनको अपने ग्राम पंचायत में सदस्य का कोरम न पूरा होने की जानकारी हुई और कारण भी पता चल गया। शपथ ग्रहण से वँचित रह गए अब प्रधानों को कम से कम दो महीने तक प्रधान के अधिकार के लिए इन्तजार करना होगा।क्योकिं सदस्य पूरे होने पर ही प्रधानों को शपथ दिला कर गाँव की जिम्मेदारी दी जायेगी। और उस प्रक्रिया में दो माह तो जरूर लग ही जायेंगे।

यहां के प्रधान नही ले सके शपथ

मवई ब्लाक के अंतर्गत आने वाली 55 ग्राम पंचायतों में से 9 प्रधान शपथ सदस्यों के कोरम न पूरा होने के कारण नही ले सके। शपथ न ले पाने वालों में अशरफनगर,सहजना रजनपुर उमापुर रतनपुर कुशहरी कुंडिरा सहबादचक सेवढारा ग्राम पंचायत के प्रधान शामिल हैं।इन प्रधानों के पांच का बहुमत दो तिहाई से कम है।जो शपथ लेने में पूर्ण नही है।

पद व गोपनीयता की ये बोलकर ली शपथ

मवई ! बुधवार को मवई ब्लाक की 55 ग्राम पंचायतों के 46 प्रधानों को क्रमवार बीडीओ मोनिका पाठक ने वर्चुअल शपथ दिलाई। शपथ ग्रहण के दौरान प्रधानों और सदस्यों के मुख से “मैं ईश्वर की शपथ लेता हूं।सत्यनिष्ठा के प्रतिज्ञा करता हूं कि विधि द्वारा स्थापित भारत के संविधान के प्रति मैं सच्ची श्रद्धा और निष्ठा रखूंगा।मैं भारत की प्रभुता एवं अखंडता अक्षुण्य रखूंगा। मैं ग्राम पंचायत के प्रधान/ सदस्य के रुप में कर्तव्यों का बिना भय पक्ष अनुराग या द्वेष के श्रद्धा पूर्वक निर्वहन करुंगा !मुझे समर्थन दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News