अयोध्या : पटरंगा थाना क्षेत्र के बहुचर्चित महबूब उर्फ महबर हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा

आठ माह पूर्व लापता युवक की 12 अगस्त को शारदा सहायक नहर से बरामद हुआ था गला रेती लाश

प्रेम प्रसंग के चक्कर में लड़की के दूसरे आशिक ने गला रेत कर की थी महबूब की हत्या-एसएचओ पटरंगा

इस हत्या कांड का खुलासा करने वाली टीम को 15000 हजार रुपए का मिला इनाम।

पटरंगा(अयोध्या) ! पटरंगा थाना क्षेत्र के बहुचर्चित महबूब अली उर्फ महबर हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया।पुलिस का दावा है कि महबूब की हत्या पड़ोसी गांव के एक युवक ने ही की है।प्रेम प्रसंग ही इस हत्याकांड का वजह बनी।पुलिस का ये भी दावा है कि आरोपी युवक ने अपना जुर्म भी कुबूल किया है।जिसके बाद इस नृशंस हत्याकांड का खुलासा हुआ।एसएचओ ने बताया कि आरोपी युवक व महबूब दोनों एक ही युवती से प्रेम करते थे।ये बात आरोपी युवक को जानकारी हुई तो आरोपी युवक ने अपनी प्रेमिका से मिलाने के बहाने महबूब को एक सूनसान जगह पर बुलाया और उसकी बेरहमी से गला रेतकर हत्या कर दिया।
बताते चले कि पटरंगा थाना क्षेत्र के पचलों गांव निवासी महबूब अली उर्फ महबर के घर वालों के मोबाइल पर 8 अगस्त 2020 एक मैसेज आया कि मुझे बचा लो मेरी जान को खतरा है।महबूब के मोबाइल से आए मैसेज को देख परिजन घबरा गए और आनन फानन में मामले की जानकारी पुलिस को दी।पुलिस ने छानबीन शुरू किया तो महबूब की मोबाइल का लोकेशन रूदौली कोतवाली क्षेत्र के कूढा सादात में मिला।जिसके बाद तत्कालीन एसओ संतोष सिंह ने अपनी टीम के साथ युवक की तलाश में जुटे।इसी दौरान 12 अगस्त को एक युवक का शव शारदा सहायक नहर में उतराता मिला।जिसकी सूचना ग्रामीणों ने पटरंगा पुलिस को दी।देखते ही देखते आस पास के लोग भी आ गए थे।पुलिस ने शव को बाहर निकलवाया तो ग्रामीणों सहित मौके पर पहुंचे परिजनों ने शव की शिनाख्त लापता युवक महबूब अली उर्फ महबर के रूप में की।

आशनाई के चक्कर मे हुई हत्या-एसएचओ

शुक्रवार को पटरंगा एसएचओ राम किशन राना ने इस नृशंस्य हत्याकांड का खुलासा करते हुए बताया कि आशनाई के चक्कर मे महबूब की हत्या हुई।इस हत्याकांड का खुलासा करते हुए एसएचओ ने बताया कि मृतक महबूब जिस युवती से मोहब्बत करता था उसी से नबीपुर गांव निवासी फुरकान पुत्र इस्तेखार भी मोहब्बत करता था।अपनी प्रेमिका का महबूब से भी सम्बन्ध है इस बात की जानकारी होते ही आरोपी युवक ने फुरकान ने महबूब को रास्ते से हटाने की योजना बनाई।एसएचओ द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में आरोपी युवक फुरकान द्वारा बताया गया है कि महबूब के गायब होने से एक दिन पूर्व वो महबूब अली से मिला।और दूसरे दिन उसने रात में महबूब को उसकी प्रेमिका से मिलाने के बहाने उसे नबीपुर के समीप नहर की पुलिया पर बुलाया और उसे बीच की पटरी पर लगभग 150 मीटर दूर ले जाकर गया कहा बैठो अभी साबरीन आ रही हैं।बाद में उसने रुमाल निकाल कर उस पर नसीला पदार्थ डालने लगा।इस पर महबूब ने पूछा यह क्या है तो मैंने बताया कि यह इत्र है।आरोपी फुरकान ने बताया कि नसीले पदार्थ से युक्त रुमाल से महबूब की नाक को दबाया और थोड़ी देर में वह बेहोश हो गया।फिर फुरकान ने चाकू से महबूब के गले को काटकर हत्या कर दिया।उसके बाद शव को नहर में फेंक दिया और चाकू को अलग फेंक दिया।उसी रात को तेज बारिश हुई और खून आदि धुल गया।बाद में उसके मोबाइल फोन को थोड़ी देर प्रयोग करने के बाद में सिम व मोबाइल को अलग अलग फेंक दिया।एसएचओ ने बताया कि हत्या के आरोपी फुरकान ने स्वयं पूरे घटनाक्रम को बताते हुए कहा कि अपने प्लान में वो कामयाब हुआ और अपने प्यार के रास्ते मे आ रहे कांटे को हमेशा के लिए निकाल कर फेंक दिया।थाना प्रभारी रामकिशन राणा ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर मैं और कांस्टेबल आशीष कुमार यादव व मुनेन्द्र सागर ने महबूब अली हत्या कांड के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार किया।

एसओ से लेकर क्राइम ब्रांच की टीम भी कर चुकी है जांच

महबूब हत्याकांड में खुलासे को लेकर तत्कालीन एसओ संतोष सिंह के अलावा रतन शर्मा अशोक सिंह सहित क्राइम ब्रांच की टीम ने खूब जांच पड़ताल की।इस हत्याकांड में मुख्य हत्यारोपी बनाए गए फुरकान को भी सभी ने कई बार उठाकर कड़ाई से पूँछताक्ष की।लेकिन साक्ष्य के अभाव में पुलिस इसे हर बार लाकर छोड़ देती थी।लेकिन इस बार एसएचओ राम किशन राना ने नबीपुर के फुरकान नामक युवक को बुलाकर इसी को महबूब हत्याकांड का मुख्य आरोपी बनाकर जेल भेज दिया।

15 हजार रुपये का था इनाम

अयोध्या पुलिस के लिए सिरदर्द बन चुके पटरंगा थाने के चर्चित महबूब हत्याकांड के खुलासे के लिए एसएसपी द्वारा 15 हजार का इनाम भी रखा गया था।इस इनाम को पाने में एक एसओ दो इंपेक्टर सहित क्राइम ब्रांच की टीम असफल रही।लेकिन पटरंगा थाने के मौजूद थानेदार राम किशन राना ने इसका खुलासा कर इनाम के हकदार हो गए।

न मृतक का मोबाइल न आला कत्ल हुआ बरामद

महबूब हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा करने मुख्य हत्यारोपी को पकड़ने का दावा किया है।लेकिन पुलिस द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में न तो मृतक के मोबाइल व सिम के बरामद होने का जिक्र है।न ही पुलिस ने आलाकत्ल बरामद होने का उल्लेख किया है।पुलिस का कहना है आरोपी युवक ने आलाकत्ल व मोबाइल सिम को अलग अलग जगहों पर फेंक दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News