अयोध्या:भ्रष्टाचार व अनुशासनहीनता पर बीडीओ ने लगाया लगाम तो सचिव ने बीडीओ के खिलाफ ही रचा षड्यंत्र

*भ्रष्टाचार व अनुशासनहीनता पर बीडीओ ने लगाया लगाम तो सचिव ने बीडीओ के खिलाफ ही रचा षड्यंत्र*

*ग्राम सचिव मुकेश मौर्या अपने आपको डिप्टी सीएम के बताते है रिस्तेदार*

रूदौली
भ्रष्टाचार व अनुशासनहीनता पर मवई बीडीओ मोनिका पाठक ने लगाम लगाई ही नही की ग्राम पंचायत सचिव तिलमिला उठे।और ब्लॉक के कुछ ग्राम सचिव ने मिलकर बीडीओ के खिलाफ ही षड्यंत्र रच डाला।ग्राम सचिव ने यहाँ तक कि कुछ ग्राम प्रधानो के पास जा जाकर बीडीओ के खिलाफ शिकायत पत्र बनाकर ग्राम प्रधानों के हस्ताक्षर ये कहकर करवा लिए की जो पेमेंट रुकी है उसका भुगतान हो जाये।और इसी वजह से ग्राम प्रधानों ने ग्राम सचिव के ऊपर विश्वास जताते हुये हस्ताक्षर कर दिए।ग्राम सचिव ने शिकायत पत्र को मीडिया में दिया।खबर प्रकाशित होने के बाद दर्जनों ग्राम प्रधानो ने ग्राम पंचायत सचिव के खिलाफ शिकायत पत्र बनाकर विकास खण्ड अधिकारी मोनिका पाठक को ज्ञापन दिया।और बताया कि ग्राम सचिव मुकेश मौर्य की अगवाई में हम प्रधानो से पेमेंट कराने के नाम पर हस्ताक्षर करा लिया गया था।

दरसल मामला यह है कि विकास खण्ड अधिकारी मोनिका पाठक के कार्यभार संभालने से ही भ्रष्टाचार में संलिप्त ग्राम सचिव में हड़कंप मच गया था।बीडीओ मोनिका पाठक की पहली प्राथमिकता भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाना।और यही बात ग्राम सचिव मुकेश मौर्य को नागवार गुजरी जिसके बाद अपने आपको डिप्टी सीएम के करीबी बताते हुए विकास खण्ड अधिकारी मोनिका पाठक का तबादला करवाने की ठान ली।ग्राम प्रधानों ने ग्राम पंचायत सचिव पर आरोप लगाते हुए कहा कि सभी विकास कार्यो में पंचायत सचिव को कमीशन चाहिए हम लोग कहा से कमीशन दे।यही नही इन ग्राम पंचायत सचिवों के ऊपर विभागीय जांच भी चल रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News