मवई(अयोध्या) : तो शेरपुर गांव में जायदाद के कारण कलयुगी पुत्र ने ही कर दी थी अपने पिता की हत्या

[माताफेर हत्या काण्ड का खुलासा]

पिता द्वारा खेत और घर पुत्री के नाम लिख देने से नाराज था पुत्र

नाराज बेटे ने डंडे से हमला कर पिता को उतारा था मौत के घाट

17 अगस्त की सुबह खेत की मचान पर मिला खून से लथपथ माताफेर का शव

मवई(अयोध्या) ! कलयुग के कुप्रभाव से ग्रसित एक बेटे ने जायदाद के कारण अपने ही पिता की हत्या कर दी।मामला मवई थाना क्षेत्र के शेरपुर गांव का है।पुलिस ने आला कत्ल बरामद करते हुए बेटे को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।माताफेर हत्याकाण्ड का खुलासा करते हुए राम किशन राणा ने दावा किया है कि ये हत्या उसके ही इकलौते पुत्र नकछेद ने की।इनका दावा है कि ने मृतक माताफेर द्वारा खेत और घर पुत्री संगीता को लिख देने से नाराज होकर उसके बेटे ने हत्या कर दी।

घटनास्थल की फोटो

बता दे मवई थाना क्षेत्र के शेरपुर गांव निवासी माताफेर रावत की 17 अगस्त की सुबह हत्या हो गई थी।वे गांव से एक किलोमीटर दूर दक्षिण दिशा में स्थित अपने खेत मे लगे धान की फसल को छुट्टा जानवरों से बचाने के लिये मचान बनाकर रात में रखवाली करते थे।सोमवार की प्रातः माताफेर की लड़की संगीता जब धान की निराई के लिये खेत गयी तो देखा उसके पिता मचान पर खून से लथपथ पड़े थे।हल्की हल्की सांसे चल रही थी कुछ ही देर बाद माताफेर ने दम तोड़ दिया।घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण शैलेन्द्र कुमार सिंह,सहायक पुलिस अधीक्षक निपुण अग्रवाल तथा प्रभारी निरीक्षक मवई राम किशन राना तत्काल मौके पर पहुंच कर घटना के बारे में जानकारी हासिल की।पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ने घटना का शीघ्र खुलासा करने के निर्देश प्रभारी निरीक्षक को दिये।प्रभारी निरीक्षक ने घटना का खुलासा करने के लिये छानबीन शुरू कर दी।जांच में पुलिस को उसके लड़के के ऊपर सन्देह हुआ और उसकी तलाश शुरू कर दी।गुरुवार को प्रभारी निरीक्षक को सूचना मिली कि नकछेद मवई चौराहा पर स्थित बैंक ऑफ इंडिया के सामने खड़ा है और कहीं जाने के लिये किसी वाहन की तलाश में है।इस पर प्रभारी निरीक्षक मवई ने सिपाही नरेंद्र प्रताप यादव, सतीश कुमार,अभिषेक कुमार गौतम तथा महिला सिपाही कामिनी गुप्ता के साथ मौके पर पहुंच कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया।प्रभारी निरीक्षक राम किशन राना ने बताया कि पूछताक्ष में नकछेद ने अपने पिता माताफेर की हत्या की बात स्वीकार की।प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि पूँछताक्ष में माताफेर ने हत्या की वजह बताते हुए कहा कि पिता जी ने पुश्तैनी खेत और मकान बहन संगीता के नाम लिख दिया था।जब नकछेद को इस बात की जानकारी हुई तो वह अपने पिता से नाराज हो गया।सोमवार को प्रातः नकछेद मचान पर लेटे अपने पिता पर डण्डा से हमला कर दिया जिनकी कुछ देर बात मौके पर ही मृत्यु हो गयी। हत्या में प्रयुक्त आला कत्ल डंडा भी बरामद हुआ है।प्रभारी निरीक्षक राम किशन राना ने बताया कि नकछेद को धारा 302 के तहत जेल भेज दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News