अयोध्या:शेरपुर टंकी हादसा : हादसे के बाद सुध बुध खो बैठे बृद्ध मां बाप,छः मासूम हुए अनाथ

शेरपुर टंकी हादसा : हादसे के बाद सुध बुध खो बैठे बृद्ध मां बाप,छः मासूम हुए अनाथ

पति के बाद पत्नी की जली लाश,परिजनों में मचा कोहराम

तेज आवाज के साथ फटी पिपरमेंट की टंकी हादसे असमय काल के गाल में समा गए दलित दंपत्ति

मवई ब्लॉक के रतनपुर गांव का मामला,हर कोई घटना पर व्यक्त कर रहा दुःख

मवई(अयोध्या) ! देने वाले किसी को गरीबी न दे,मौत दे दे मगर बदनसीबी न दे-निर्गुण भजन की ये पंक्ति रतनपुर गांव के छेददन रावत के परिवार पर एकदम सटीक बैठ रही है।पट्टे में मिली भूमि पर पिपरमेंट की फसल उगागर तैयार किया।और उसमें से तेल निकालने के लिए टंकी से पिराई शुरू ही किया।कि अचानक तेज आवाज के साथ टंकी फटी।उसमें घायल छेददन के बड़े पुत्र रमेश व बहू गीता गंभीर रूप से घायल हो गई।दोनों की उपचार के दौरान असमय मौत हो गई।मंगलवार की देर शाम पुत्र रमेश की लाश व बुधवार की देर शाम बहू गीता की लाश गांव पहुंची।दो दो लाशों का अंतिम संस्कार करने वाले पिता छेददन रावत पर मानो दुखों का पहाड़ टूट पड़ा।गरीबी में अपने परिवार का भरण पोषण करते हुए छेददन ने अपने चार पुत्रों में सिर्फ रमेश की ही शादी किए थे।जिनके छः छोटे छोटे मासूम बच्चे भी है।रमेश व उसकी पत्नी की मौत के बाद जहां पिता छेददन बुरी तरह टूट चुके है वही रमेश के छः छः मासूम बच्चों के सर से मां बाप का साया ही उठ गया।इस दर्दनाक हादसे से परिवार में कोहराम मचा हुआ है।मां और पिताजी के जाने से बच्चे समझ नहीं पा रहे कि अब होगा क्या ? मृतक रमेश के छः संतानों में सबसे बड़ा एक लड़का है।बाकी पांच छोटी छोटी बेटियां है।अभी किसी भी बच्चे की शादी तक नहीं हुई है।ऐसे में कच्ची गृहस्थी बिखर कर रह गई।पूरा गांव इस दिल दहला देने वाले हादसे से स्तब्ध है। सदमें से मृतक के वृद्ध मां-बाप भी अपनी सुध बुध खो बैठे है।टंकी हादसे में घायल दलित दंपत्ति की दर्दनाक मौत होने से उनके पुत्र सुभाष (13), पुत्री शिवबाला(11), सुषमा (9), क्रांति (6) व शिवानी (3) राधा (1) अनाथ हो गए है। सिर से मां-बाप का साया हट जाने से सभी बच्चे बेहद दुखी है।जबकि इस सदमें से मृतक के वृद्ध मां-बाप अपनी सुधबुध खो बैठे हैं।

बॉक्स

जनप्रतिनिधियों ने व्यक्त किया शोक

टंकी हादसे की खबर मिलते ही मवई ब्लॉक प्रमुख राजीव तिवारी तत्काल मृतक के घर पहुंच शोक संवेदना व्यक्त की और मृतक के पिता को दस हजार रुपये की राहत राशि प्रदान की।वही अंतिम संस्कार समय पर पहुंचे क्षेत्रीय विधायक रामचंद्र यादव ने भी गहरा दुःख प्रकट करते हुए मृतक के पुत्र के नाम खाता खुलवाकर उसमें 50 हजार रुपये की धनराशि जमा करवाई।प्रधान पुत्र श्याम नरायन यादव ने भी तत्काल मृतक के घर पहुंच राशन किड प्रदान की।इसके अलावा समाजसेवी विनोद सिंह जिला पंचायत सदस्य राजू रावत,मवई प्रधान संघ अध्यक्ष नसीम खां जग प्रसाद रावत भाजपा मंडल अध्यक्ष संतोष मिश्र देव रावत ने भी घटना पर गहरा दुख प्रकट किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News