अयोध्या : गाइडलाइन का अनुपालन न करने वाले क्लिनिको को 15 दिन के लिए सील

अयोध्या ! कोविड-19 वैश्विक महामारी के दृष्टिगत जारी लॉकडाउन के दौरान पुलिस विभाग द्वारा कृत प्रवर्तन कार्यवाही, स्वास्थ्य विभाग द्वारा टेस्ट सेंपलिंग, कांटेक्ट ट्रेसिंग, पॉजिटिव/ क़वारेन्टीन व्यक्तियों की प्रतिदिन ली जाने वाली जानकारी, सरकारी एवं गैर सरकारी नॉन कोविड हॉस्पिटल में उपलब्ध कराई जा रही है। यह बाते जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने कलेक्ट्रेट सभागार में पत्रकारों को दी।कोविड-19 से बचाव हेतु आवश्यक सामग्रियों की उपलब्धता, निगरानी समितियों के द्वारा लक्षण प्रदर्शित करने वाले व्यक्तियों की सूचना, मनरेगा के अंतर्गत संचालित कार्यों में प्रवासी श्रमिकों एवं ग्रामीण मजदूरों को उपलब्ध कराए जा रहे रोजगार की स्थिति, मनरेगा योजना अंतर्गत ग्रामों में कार्य की प्रगति, कंवर्जेंस विभाग की मनरेगा प्रगति, बिसुही नदी को सवारने व जनपद में चयनित 34 बड़ी झीलों/तालाबों में हो रहे कार्य एवं उसमें सृजित मानव दिवस की स्थिति, प्रवासी श्रमिकों की राहत पोर्टल पर फीडिंग की स्थिति, कार्यालयों में कोविड-19 से बचाव हेतु की गई व्यवस्थाओं के साथ-साथ किसान क्रेडिट कार्ड, पीएम किसान योजना, श्रम विभाग में श्रमिक पंजीकरण, स्थाई एवं अस्थाई राशन कार्ड, गौशालाओं में हो रहे कार्यों व उपलब्ध सुविधाओं की गहन समीक्षा के साथ-साथ विद्यालयों के कायाकल्प की स्थिति व बच्चों के यूनिफॉर्म तैयार करने की प्रगति, मिड- डे मील प्रगति (कन्वर्जन फास्ट प्रेषण) आदि की भी गहन समीक्षा की।इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी प्रथमेश कुमार द्वारा उक्त बिंदुओं से संबंधित विस्तृत विवरण प्रस्तुत किया गया। उन्होंने अवगत कराया कि कोविड-19 के दृष्टिगत मास्क न लगाने वालों पर थाना राम जन्मभूमि, हैदरगंज, इनायतनगर, कुमारगंज, महाराजगंज व पूरा कलंदर में बहुत ही कम कार्यवाहियां व जुर्माने हुए हैं। जिस पर जिलाधिकारी ने संबंधित थानों के साथ-साथ पूरे जनपद में मास्क न लगाने को गंभीरता से लेते हुए इसका कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी उप जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी से एक-एक हजार मास प्राप्त कर उसे सभी लेखपालों के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में दस-दस रूपये में दो-दो मास्क का वितरण कराने के निर्देश दिए।उन्होंने पुलिस के साथ-साथ सभी मजिस्ट्रेटों को भी मास्क न लगाने, रोस्टर तोड़ने, सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने वालों, गोले न लगवाने वालों व अन्य दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने वालों पर कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी उप जिलाधिकारी टेस्ट सैंपलिंग की स्थिति को नियमित देखें, एमओआईसी से बात करें तथा प्रॉपर किट पहनकर स्वयं को सुरक्षित रखकर टेस्ट सैंपलिंग का कार्य सुनिश्चित कराएं।मुख्य विकास अधिकारी ने अवगत कराया कि अब तक जनपद में कुल 17302 को-मॉर्बिड व्यक्तियों को चिन्हित किया गया है। जिन्हें जागरूक करने का कार्य किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने कहा कि को- मॉर्बिड लोगों के संक्रमित होने पर उन्हें बचाना कठिन होगा अतः इनको लेकर विशेष सतर्कता बरती जाए, इन्हें गिलोय, आर्सेनिक -30 व च्यवनप्राश खाने के लिए प्रेरित करें तथा जो इसे खरीदना सके उन्हें उपलब्ध कराएं उन्होंने सभी खंड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह ग्राम प्रधानों से गिलोय देने के लिए अपील करें तथा प्राप्त गिलोय को सफाई कर्मियों के माध्यम से रबड़ या सुतली से गट्ठर बनाकर जरूरतमंदों को उपलब्ध करायें। उन्होंने कहा कि जनपद के सभी बड़े कलस्टरों के को-मॉर्बिडों को गिलोय, आर्सेनिक -30 दवा उपलब्ध कराने के साथ-साथ च्यवनप्राश खरीदने में असमर्थ को- मॉर्बिडों को च्यवनप्राश भी उपलब्ध कराया जा रहा है।बैठक में जिलाधिकारी ने आईपीसी समिति को सभी अस्पतालों में ट्रायज की व्यवस्था सुनिश्चित करने तथा आईपीसी के नियमों का अक्षरश: पालन करते हुए ही अस्पतालों को संचालित करने देने के निर्देश दिए। उन्होंने आईपीसी की गाइडलाइन का अनुपालन न करने वाले क्लिनिको को 15 दिनों तक के लिए सील कर देने के भी निर्देश दिए।जिलाधिकारी ने स्कूलों में कायाकल्प योजना के तहत किए जा रहे सभी कार्यों को पुनः प्रारंभ कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिन-जिन विद्यालयों में कायाकल्प के कार्य चल रहे हैं की सूची डीपीआरओ उपलब्ध कराएं जिसकी अन्य अधिकारियों से जांच कराई जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में पर्याप्त मात्रा में श्रमिक उपलब्ध है अतः सभी विद्यालयों में कायाकल्प के अंतर्गत शौचालय, रनिंग वाटर, खिड़की दरवाजे की मरम्मत, टाइल्स आदि कार्यों को बीएसए, डीपीआरओ, एडीओ पंचायत, खंड शिक्षा अधिकारी 6 सप्ताह के अंदर पूर्ण कराना सुनिश्चित करें। संबंधित विभाग फार्म को पूर्ण करा के बैंकों में प्रेषित कर सके। उन्होंने लीड बैंक मैनेजर को रोजाना बैंकों से संपर्क कर प्रगति की जानकारी लेने के निर्देश दिए उन्होंने कहा कि सभी संबंधित विभाग इस में तेजी लाएं तथा किसी भी प्रकार की समस्या होने पर मुख्य विकास अधिकारी व अन्य उच्च अधिकारी से संपर्क करें। बैठक में अवगत कराया कि अभिभावकों के खाते में ट्रांसफर की जाने वाली मिड डे मील की कुल धनराशि 112085743 के सापेक्ष अब तक 944339 प्रेषित की जा चुकी है जिलाधिकारी ने 1 सप्ताह के अंदर संपूर्ण धन राशि को अभिभावकों के खाते में प्रेषित करने के निर्देश दिए उन्होंने कहा कि इस पर विशेष ध्यान दिया जाए कहीं पर किसी भी प्रकार की अनियमितता नहीं होनी चाहिए उन्होंने सभी उप जिलाधिकारियों खंड विकास अधिकारियों खंड शिक्षा अधिकारी आदि को निर्देश दिए कि जब भी फील्ड में निकले तो रास्ते में पड़ने वाले विद्यालयों को अवश्य चेक करें और वहां पर टोटल नामांकन के अनुसार कितने बच्चों के अभिभावकों के खाते में कन्वर्जन का पैसा गया की जांच करें तथा अभिभावकों से भी पूछताछ करें।बैठक में मुख्य विकास अधिकारी प्रथमेश कुमार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी घनश्याम सिंह,अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व जीएल शुक्ला, मुख्य राजस्व अधिकारी पीडी गुप्ता, प्रशिक्षु आईएएस प्रशांत नागर, एसपी सिटी, जिला विकास अधिकारी, पांचों तहसीलों के उप जिलाधिकारी, बेसिक शिक्षा अधिकारी, डीआईओएस, जिला कृषि अधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी सहित अन्य सभी संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News