भूख से महिला की मौत, रेलवे ने कहा, ‘पहले से बीमार थी महिला’

पटना. आप इस वीडियो को शायद ही बर्दाश्त कर पाएं। देख पाना मुश्किल हो रहा होगा। बेहद मुश्किल। यह तस्वीर बिहार के मुजफ्फरपुर रेलवे स्टेशन की है। ढाई साल का बच्चा मां के शव को ढंकने वाली चादर से खेल रहा है। बच्चे को पता ही नहीं कि उसकी मां अब इस दुनिया में नहीं है। चादर, जो अब कफन बन चुकी है, उसे वह जितना भी हटाए, मां नहीं उठेगी। लेकिन बच्चा इस उम्मीद में है कि मां अभी उठेगी, जरूर उठेगी।

यह वीडियो किसने शूट किया, इसका अब तक पता नहीं चल पाया है। लेकिन कई लोगों ने साेशल मीडिया पर इसे साझा किया। इसके बाद यह वायरल होता चला गया।

महिला का नाम अरवीना खातून (35)था। वहकटिहार की रहने वाली थी। महिला अपनीबहन और जीजा के साथ श्रमिक एक्सप्रेस से अहमदाबाद से बिहार आ रही थी। बीते रविवार वह ट्रेन में सवार हुई। खाना और पानी न मिलने के चलते ट्रेन में महिला की स्थिति खराब हो गई।

सोमवार को दोपहर करीब 12 बजे महिला की ट्रेन में मौत हो गई। ट्रेनमुजफ्फरपुर जंक्शन पर दोपहर के करीब तीन बजे पहुंची। तब रेलवे पुलिस ने महिला का शव ट्रेन से उतारा। महिला के शव को जब प्लेटफॉर्म पर रखा गया, तब उसका ढाई साल का बच्चा करीब पहुंच गया। वह मां के पास खेलने लगा। उसे जगाने की कोशिश करने लगा।

रेलवे पुलिस ने कहा- महिला एक साल से बीमार थी

जीआरपी के डिप्टी एसपी रमाकांत उपाध्याय ने कहा, ‘यह घटना 25 मई की है। महिला अहमदाबाद से आ रही थी। महिला की मधुबनी में मौत हो गई। उसकी बहन ने बताया कि अचानक ही महिला की मौत हो गई। खाने और पानी की कोई समस्या नहीं थी।महिला को पिछले एक साल से कोई बीमारी थी। वह दिमागी तौर से अस्थिर भी थी। मौत के कारणों के बारे में डॉक्टर ही बता सकते हैं।’

ट्रेन में मौतों का जिम्मेदार कौन- आरजेडी

बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के सहयोगी संजय यादव ने यह वीडियो ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा- यह मासूम नहीं जानता कि जिस चद्दर से वह खेल रहा है, वह उसकी मां का कफन है, जो अब कभी नहीं लौटेगी। ट्रेन में 4 दिन से चल रही इसकी मां की भूख और प्यास से मौत हो गई। ट्रेन में होने वाली इन मौतों का जिम्मेदार कौन है? क्या विपक्ष यह परेशान करने वाला सवाल नहीं पूछ सकता?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News