अयोध्या : मुंबई से घर वापस लौट रहे दो लोगों की रास्ते मे मौत

अयोध्या ! जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्र में वापस आ रहो दो लोगों की मौत हो गयी। पहली घटना खंडासा थाना क्षेत्र के भखौली गांव निवासी 55 वर्षीय मजदूर की लखनऊ जनपद स्थित गोसाईगंज थाना के पास संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई।
प्राप्त जानकारी के अनुसार भखौली गांव पूरे कुंजल निवासी 55 वर्षीय राम किशोर धूरिया महाराष्ट्रर प्रांत के मुंबई में रहकर परिवार के भरण-पोषण के लिए मजदूरी करता था। वैश्विक महामारी कोरोनावायरस के चलतेेे देश में चल रहे लॉक डाउन के बाद अधेड़़ राम किशोर अपने रिश्तेदारों के साथ मुंबई से ही ट्रक पर सवार होकर अपने घर के लिए निकला था। वह बीते गुरुवार की देेेेर शाम लखनऊ स्थित गोसाईगंज थाना क्षेत्र में पहुंचा था कि अचानक उसकी मौत हो गई घटना के बाद उसके रिश्तेदार उसका शव लेकर जगदीशपुर थाना क्षेत्र स्थित गोमती नदी के सत्थिन घाट से होकर घर आ रहेेेे थे। जानकारी पाकर खंडाासा थानाध्यक्ष सुनील कुमार सिंह के साथ मौके पर पहुंच गए और उन्होंने अधेड़ का शव कब्जे में ले लिया। पुलिस अभिरक्षा में अधेड़ का शव जिला अस्पताल ले जाया गया जहां अस्पताल के डॉक्टरों की टीम ने अधेड़़ के शव से कोरोना वायरस परीक्षण नमूने लिए। पुलिस ने अधेड़ के शव को अंतिम संस्कार किए जाने हैं उसके पुत्र को सौंप दिया तथा अपनी निगरानी में कैंट थाना क्षेत्र स्थित जमथरा घाट पर अंतिम संस्कार करा दिया।वही दूसरी ओर जिले के तारुन थाना क्षेत्र अंतर्गत आगागंज निवासी मोहम्मद शकील पुत्र नेब्बू उम्र करीब 40 वर्ष बेटे के पास रोजी रोटी के सिलसिले में मुम्बई कमाने गया हुआ था । जहां से लॉक डाउन के दौरान स्विफ्ट डिजायर कार से अपने घर आ रहा था । रास्ते में उसकी मौत हो गई शुक्रवार को प्रातः मृतक का बेटा सुलेमान पिता की लाश लेकर घर पहुँचा तो परिजनों में हड़कम्प मच गया । रास्ते में मौत की भनक प्रशासन को लगी तो गुरुवार की रात पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारी आगागंज बाजार पहुँच गये । बताया गया मृतक का बेटा सुलेमान मुम्बई में ओला सवारी टैक्सी का ड्राइवर है । बेटे सुलेमान का हाथ बंटाने को पिता शकील भी मुम्बई रोजी रोटी के सिलसिले में गया हुआ था । पिता को लेकर बेटा सुलेमान कुछ करीबियों के सहयोग से सवारी वाहन से घर आ रहा था कि रास्ते मे पिता शकील की मौत हो गई । प्रशासन के आला अधिकारी मौके पर जुटे हैं । प्रशासन की देखरेख में शव को दफना दिया गया वही सुरक्षा की दृष्टि से ग्रामीणों को मौके पर जाने से रोक दिया गया । शव दफन करने के बाद साथ आए लोगो सहित एक घर के सदस्य को पुलिस ने एंबुलेंस से जांच के लिए भेज दिया ।
इस दौरान उप जिलाधिकारी बीकापुर दिग्विजय सिंह, तहसीलदार बीकापुर दिग्विजय सिंह, खंड विकास अधिकारी तारुन अमित कुमार त्रिपाठी, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तारुन अधीक्षक वेद प्रकाश त्रिपाठी अपनी टीम के साथ मौजूद रहे । वहीं सुरक्षा व्यवस्था के तहत क्षेत्राधिकारी बीकापुर कोमल प्रसाद मिश्रा, थानाध्यक्ष तारुन अश्विनी मिश्रा, थानाध्यक्ष हैदरगंज अवनीश कुमार चौहान अपनी पुलिस फोर्स के साथ सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद करते नजर आए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Content is protected !! © KKC News