ऑपरेशन कायाकल्प : विशेष योजना भी नही बदल पा रही परिषदीय स्कूलों की काया

1-पूरी वीडियो देखें और मंदिर निर्माण से पूर्व अयोध्या में क्या क्या हो रहा आयोजन

मवई ब्लॉक के 55 ग्रामपंचायतों में से न्यायपंचायत मखदूमपुर का हाल,इसके अंतर्गत आने वाले आठ ग्राम पंचायतों में स्थित 23 परिषदीय स्कूलों की व्यवस्था आज भी चौपट,कहीं भवन जर्जर तो कही शौचालय खराब कइयों जगह ब्लैकबोर्ड भी नही,मखदूमपुर छोड़ कही नही लग पाई टाइल्स।

मवई(अयोध्या) ! परिषदीय विद्यालयों के कायकल्प के लिए चलाई जा रही कायाकल्प योजना अपने मकसद से भटक कर रह गई है।कहने को तो ये योजना कागजों पर खूब दौड़ रही है।लेकिन इसकी जमीनी हकीकत कुछ और ही है।कहना गलत न होगा कि बदहाल विद्यालयों की मरम्मत सिर्फ दावों में हो रहा है।योजना के प्रति अफसर पूरी तरह से लापरवाही ही बरत रहे हैं।

नोट-यदि गुड़ खाने के आप भी शौखीन है तो देखे ये पूरी वीडियो और चौनल को सब्सक्राइब करना न भूलें दोस्तो।

बता दे कि मवई ब्लाक क्षेत्र में कुल 55 ग्राम पंचायतों के 162 परिषदीय विद्यालय संचालित है।इन स्कूलों की व्यवस्था सुदृढ़ करने के लिए शासन द्वारा ऑपरेशन कायाकल्प योजना शुरू की गई थी।इस योजना का हाल जानने जब प्राथमिक विद्यालय घोसवल गया।जहां बाउंड्रीवाल नही है।इसी तरह सुल्तानपुर विद्यालय में आधा अधूरा कार्य हुआ है।शिक्षा विभाग से मिले आंकड़ो पर गौर करे तो मखदूमपुर न्यायपंचायत अंतर्गत आने वाले आठों ग्राम पंचायतों में स्थित कुल 23 परिषदीय स्कूलों में मखदूमपुर नगरा व पूरेकामगर को छोड़ कहीं भी कायाकल्प योजना जमीन पर दिखाई नही देता।हा कही कही कार्य जरूर शुरू कराया गया।इनमें परिषदीय स्कूल बाबापुरवा नवीपुर कोदनिया जैनाबाद शाहबादचक मैरामऊ पटरंगा गांव की हालत खराब है।आधिकतम स्कूलों में इनमें से गत वित्तीय वर्ष में में आधा अधूरा कार्य कराया गया था।

नोट-आप भी देखिए अपराधियों में किस तरह से शिकंजा कस रही अयोध्या पुलिस।

मवई ब्लॉक के लगभग प्रत्येक ग्राम पंचायत में एक एक विद्यालय को कायाकल्पित करने के लिए कार्य कराया गया।लेकिन अभी कोई भी स्कूल संतृप्त नही हो पाया है।शासन की ओर से कुछ नए निर्देश आए है जिसके अनुरूप इस बार कार्य कराकर संतृप्त कराया जाएगा।

“विकास चंद्र दूबे, एडीओ पंचायत मवई”

मवई ब्लॉक के सभी विद्यालयों में कार्य होना अभी बाकी है।कुछ जगहों पर थोड़ा कार्य हुआ है। बाउंड्रीवाल, शौचालय समेत कई आधार भूत सुविधाएं कायाकल्प के इंतजार में हैं।

“अरुण कुमार वर्मा, बीईओ मवई”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Content is protected !! © KKC News