मायावती ने CM अशोक गहलोत का मांगा इस्तीफ़ा, कहा- नहीं तो और भी माताओं की कोख उजड़ सकती है

कांग्रेस और बसपा के बीच तल्खी लगातार बढ़ती जा रही है. दरअसल, बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने बच्चों की मौतों के मामले में राजस्थान के मुख्यमंत्री को जिम्मेदार ठहराया है. इतना ही नही बसपा सुप्रीमों ने कांग्रेस मुख्यमंत्री से इस्तीफ़ा माँगा है. मायावती ने शुक्रवार को ट्वीट कर लिखा- 100 माताओं की कोख उजड़ने के मामले में कांग्रेस को केवल अपनी नाराजगी जताना ही काफी नहीं है. कांग्रेस को तुरंत वहां के मुख्यमंत्री को हटाकर नए मुख्यमंत्री की तैनाती की मांग की है.

कांग्रेस पर लगातार निशाना साध रहीं मायावती

बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट करके कहा कि, ‘राजस्थान की कांग्रेसी सरकार के सी.एम. श्री गहलोत का, कोटा में
लगभग 100 मासूम बच्चों की हुई मौत पर, अपनी कमियों को छिपाने के लिए आयदिन चोरी व ऊपर से सीनाजोरी वाले अर्थात् गैर-जिम्मेवाराना व असंवेदनशील तथा अब राजनैतिक बयानबाजी करना, यह अति शर्मनाक व निन्दनीय. ऐसे में कांग्रेस का लगभग 100 माओं की कोख उजड़ जाने पर केवल अपनी नाराजगी जताने से काम नहीं चलेगा बल्कि इनको तुरन्त बर्खास्त करके वहाँ अपने सही व्यक्ति को सत्ता में बैठाना चाहिये. तो यह बेहतर होगा. वरना वहाँ और भी माओं की कोख उजड़ सकती है.’


दरअसल, कांग्रेस पर निशाना साधने में आजकल मायावती काफी आगे रह रहीं हैं. इससे पहले मायावती ने प्रियंका गांधी पर निशाना साधते हुए कहा था, ‘यह अच्छा होता कि वह उत्तर प्रदेश की तरह कांग्रेस महासचिव (प्रियंका गांधी वाड्रा) राजस्थान के कोटा के उन गरीब पीड़ित मांओं से भी जाकर मिलती, जिनकी गोद उनकी पार्टी की सरकार की लापरवाही के कारण उजड़ गई हैं. उन्होंने आगे कहा, यदि कांग्रेस की महिला राष्ट्रीय महासचिव राजस्थान के कोटा में जाकर मृतक बच्चों की ‘‘माओं‘‘ से नहीं मिलती हैं तो यहाँ अभी तक किसी भी मामले में यू.पी. पीड़ितों के परिवार से मिलना केवल इनका यह राजनैतिक स्वार्थ व कोरी नाटकबाजी ही मानी जायेगी, जिससे यू.पी. की जनता को सर्तक रहना है’

राजस्थान के मुख्यमंत्री का ये बयान आया था सामने

गौरतलब है कि राजस्थान के कोटा (Kota) में बच्चों की मौत का सिलसिला नहीं थम रहा है. मौत का आंकड़ा 104 पर पहुंच गया है. साल के पहले दिन 3 बच्चों ने दम तोड़ा, जबकि गुरुवार को एक बच्चे की मौत हुई. वहीं बच्चों की मौत पर सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) का बयान सामने आ रहा है. उन्होने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ पूरे देश में जो माहौल बना हुआ है, उससे ध्यान हटाने के लिए इस मुद्दे को उठाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि मैं पहले ही कह चुका हूं कि इस साल शिशुओं की मौत के आंकड़ों में पिछले कुछ सालों की तुलना में काफी कमी आई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

error: Content is protected !! © KKC News