अयोध्या : बेटे को बचाने के लिए पागल सियार से भिड़ गया बाप

पागल सियार व ग्रामीण के बीच हुआ द्वंद युद्ध,लगभग दस मिनट तक चले भीषण मुकाबले में सियार की मौत ग्रामीण घायल।प्रधान प्रतिनिधि रमेश चंद्र ने घायल ग्रामीण को सीएचसी मवई में कराया भर्ती।

मवई(अयोध्या) ! विकास खंड मवई अंतर्गत कई गांवों में इस समय पागल सियारो का आतंक मचा हुआ है।बुधवार की भोर अपने मासूम बेटे को बचाने के चक्कर एक बाप पागल सियार से भिड़ गया।पागल सियार व ग्रामीण के बीच हुए लगभग दस मिनट के भीषण युद्ध मे अंततः सियार की मौत हो गई।लेकिन इस मुकाबले में सियार के हमले से ग्रामीण भी बुरी तरह जख्मी होकर लहूलुहान हो गया।सूचना मिलते ही भारी संख्या में ग्रामीण के अलावा ग्राम प्रधान लल्लन कोरी व उनके प्रतिनिधि रमेश चंद्र गुप्त भी मौके पर पहुंचे।और सियार के हमले में घायल ग्रामीण को लेकर सीएचसी मवई पहुंचे।प्राथमिक उपचार के दौरान वहां मौजूद डॉक्टर यू0के0 सिंह ने बताया कि सियार के हमले से ग्रामीण की नाक बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई है।बेहतर उपचार के लिए इन्हें जिला अस्पताल रेफर किया जाएगा।घटना पटरंगा थाना अंतर्गत रानीमऊ गांव की है।

प्रधानप्रतिनिधि रमेश चंद्र गुप्त ने बताया कि ग्रामीण राम विजय रावत पुत्र भुषई उम्र करीब 38 वर्ष बुधवार की भोर पांच बजे नित्य क्रिया से वापस आकर पुनः अपने प्रधानमंत्री आवास में आकर ठंड के कारण लेट गया।पास में पड़ी चारपाई पर उसका दस वर्षीय पुत्र विवेक भी लेटा हुआ था।इस दौरान अचानक एक पागल सियार बेटे की चारपाई पर चढ़कर उसका विस्तर नोंचने लगा।ये देख पिता राम विजय तत्काल उठकर सियार को पीछे से पकड़कर दूर फेंका।उसके बाद सियार छलांग लगाते हुए रामविजय पर हमला बोल दिया।दोनों के बीच खूब पटका पटकी हुई।और अंततः रामविजय के हाथ लगे एक ईंट से उसने सियार पर हमला बोल उसे मौत के घाट उतार दिया।सियार के हमले में रामविजय के हाथ नाक मुंह सर व पैर भी लहूलुहान हो गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News