अयोध्या :श्रीराम ने तोड़ा शिव का धनुष,गूंजे जयकारे बाल कलाकारों ने किया मनमोहक मंचन

मवई(अयोध्या) ! मवई क्षेत्र के गांव बघेडी के हरदेव बाबा के स्थान पर विगत वर्ष की भांति इस वर्ष भी मेले का आयोजन हुआ।इस अवसर पर आयोजित श्रीरामलीला के मंचन में बाल कलाकारों द्वारा धनुष यज्ञ और परशुराम-लक्ष्मण संवाद की लीला का मनमोहक मंचन दिखाया गया।लीला में जैसे ही भगवान श्रीराम ने विशाल शिवधनुष को तोड़ा वैसे ही श्रीराम के जयकारे गूंज उठे।उसके बाद गाजे बाजे के साथ अयोध्या नगरी से जनकपुर के लिए बारात निकाली गई।मंगलवार की रात मंचन में कलाकारों ने दिखाया कि जनकपुर में मां सीता का स्वयंवर आयोजित किया जाता है। इस स्वयंवर में दूर-दूर के राजा,महाराजा आमंत्रण पर पहुंचते हैं।भगवान श्रीराम अपने अनुज लक्ष्मण और गुरु विश्वामित्र के साथ जनकपुरी में आयोजित स्वयंवर में शमिल होने जाते हैं। स्वयंवर शुरू होता है। सभा में बताया जाता है कि जो भी इस शिव धनुष की प्रत्यंचा चढ़ा देगा उसी के साथ सीता का विवाह होगा। सभी राजा महाराजा बारी बारी से शिव धनुष पर प्रत्यंचा चढ़ाने के लिए जाते है, लेकिन वह प्रत्यंचा चढ़ाना तो दूर, धनुष को हिला भी नहीं पाते है। इसके बाद भगवान राम गुरु विश्वामित्र की आज्ञा पाकर शिव धनुष की प्रत्यंचा चढ़ाने जाते हैं प्रत्यंचा चढ़ाते हुए भगवान राम शिव धनुष का खंडन कर देते हैं। शिव धनुष का खंडन होते ही भगवान राम के जयकारे गूंज उठे। माता सीता भगवान राम का वरमाला पहना देती हैं। इसके बाद परशुराम-लक्ष्मण संवाद होता है। परशुराम-लक्ष्मण संवाद को देखने के लिए दर्शक देर रात तक जमे रहे।कलाकारों में प्रमुख रूप से संदीप यादव राम की भूमिका में अरुण कुमार लक्षमण रामानंद साहू राजा दशरथ,अनुज कुमार विश्वामित्र ,चौकीदार सुरेंद्र कुमार लखपतिया का रोल अदाकर लोगो को हसने पर मजबूर किया।इस मौके पर सरवन यादव,धन्नजय यादव,विक्रमजीत,संजय,बृजेश,बाबारामराजदास,रमेश,प्रजापति,लवकुश,रिंकू,अंकित,सुरेश,ननकऊ,रोहित,मथुरा प्रसाद मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News