गलतफहमी के चलते वैवाहिक बंधन में बंधने से पहले टूटा रिश्ता।

वर व कन्या पक्ष दोनों ने एक दूसरे पर दर्ज कराया मुकदमा।मवई थाना क्षेत्र के परागदत्त पुरवा गांव के रहने वाले किशोर की कुमारगंज थाना क्षेत्र से तय हुई थी शादी।

बरीक्षा व गोद भराई की रस्म पूरी होने के बाद गलत फहमी में उपजा विवाद ही रिश्ता टूटने की बनी वजह।

मवई(अयोध्या) । मवई थाना क्षेत्र के भटमऊ नरायनपुर गांव में शनिवार को पहले से तय एक शादी का रिश्ता पंचायत में बात न बनने पर टूट गया।पंचायत का आयोजन एक हिस्ट्रीशीटर के दरवाजे पर किया गया था।जहाँ बात बढ़ने पर लड़के पक्ष और लड़की पक्ष के लोगो मे मारपीट हो गई।जिसके बाद दोनों पक्षो के लोग मवई थाने में तहरीर लेकर पहुच गए जहाँ शनिवार की देर रात काफी जद्दोजहद के बाद दोनों पक्षो का मुकदमा पुलिस ने दर्ज किया है।मामले हिस्ट्रीशीटर की भूमिका संदेह के घेरे में बताई जा रही हैं।जिस पर पुलिस भी मेहरबान रही और देर रात तक मामले को निपटाने में लगी रही।
जानकारी के मुताविक मवई थाना क्षेत्र के परागदत्त पुरवा मजरे रतनपुर के रहने वाले विश्राम का विवाह उनके एक रिश्तेदार ने कुमारगंज थाना क्षेत्र लिल्हा रसूलपुर से तय कराई।इसमें दोनों पक्षों की ओर से गोद भराई व बरीक्षा की रस्म भी पूरे हर्षोल्लास के साथ पूरी की गई।1 मई को बारात जानी थी।विवाह का वक्त आता उससे पहले ही कन्या पक्ष की ओर से लड़के से आधार कार्ड व मार्कसीट मांगे गए।जिसको लेकर लड़के के मन मे तरह तरह के गलत विचार आ गए।दूसरी ओर वर पक्ष के लोगों का कहना है कि मोबाइल देने के बावजूद लड़की बात नही करना चाहती।बस इन्ही मामूली बातों को लेकर दोनों पक्षों में हुई तूं तूं-मैं मैं के बाद रिश्ता टूटने का नंबर आ गया।तब विवाह तय कराने में मध्यस्तता की भूमिका निभा रहे मवई थाना क्षेत्र के भटमऊ नरायनपुर गांव के निवासी बाबू रावत ने वर व कन्या पक्ष के लोगों को अपने यहां बुलाया।और कहा कि दोनों पक्ष बरीक्षा व गोद भराई में मिले सामान को एक दूसरे को देकर सम्बन्ध खत्म करो।दोनों पक्ष निर्धारित दिन शुक्रवार को बाबू रावत के घर पहुंचना था।वर पक्ष की शान्ती देवी का आरोप है कि वो अपने बेटे व दामाद के साथ जब बाबू रावत के घर पर पहुंचीं।तो वहां पहले से मौजूद कन्या पक्ष के लोगों सहित बाबू रावत ने उनको व उनके बेटे दामाद को लात घूंसो से जमकर पीटा और और छः हजार रुपये व अगूंठी लेकर उन्हें भगा दिया।पीड़िता ने बताया कि उन लोगो ने मारपीट के बाद अपना सामान व पैसा छीन लिया लेकिन गोद भराई में उसके द्वारा दिये गए जेवर व पैसे को नही वापस किया।जब वो अपनी फरियाद लेकर थाने पहुंचे तो पुलिस उल्टे उसके दामाद को भी बहुत मारा।वही कन्या पक्ष के लोगों का कहना है कि वहां मारपीट जैसी कोई घटना नही हुई।कन्या पक्ष के परशुराम का आरोप है कि दहेज की रकम बढ़ाने को लेकर बात नही बनी जिस पर भटमऊ नरायनपुर के एक व्यक्ति ने अपने घर बुलाया और पंचायत कर मामला निपटाने में शनिवार देर शाम तक जुटे रहे।इस बाबत मवई थाने के प्रभारी निरीक्षक विनोद यादव ने बताया वे इस समय चुनाव ड्यूटी पर बाहर आये है।यहां कार्यभार देख रहे उपनीरीक्षक के0पी0 यादव ने बताया दोनों पक्ष से तहरीर आई थी।परशुराम की तहरीर पर वर विश्राम और उसके बहन व बहनोई पर 506 व डीपी एक्ट की धाराओं में केस दर्ज किया है।वही दूसरी ओर शांति देवी की तहरीर पर परशुराम बाबूराम रावत सहित तीन लोगों पर मारपीट,जान से मारने की धमकी व गाली गलौज का केस दर्ज किया है।

पंचायत में गुंडई तो नही बनी मारपीट व रिस्ते टूटने की वजह

मवई थाने में एक ऐसा मामला पहुंचा।जिसमें रिश्ता टूटने के बाद कन्या व वर पक्ष दोनों एक दूसरे पर मुकदमा दर्ज करा दिए।पुलिस रिश्ता टूटने की वजह दोनों पक्षों के बीच उत्पन्न हुई गलत फहमी बता रही है।लेकिन जिस लड़के की शादी तय थी उसकी मां ने गंभीर आरोप लगाते हुए बताया कि बाबू रावत नामक व्यक्ति ने दोनों पक्षो को अपने घर बुलाया और लड़के विश्राम की लात घूंसों से पिटाई कर दी उसके बाद पुलिस को बुलाकर भी मरवाया है। ग्रामीणों की भी माने तो बिचौलिए की दबंगई रिश्ता टूटने की खास वजह बनी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! © KKC News